×

UP Election 2022: क्या UP चाहती है बदलाव? कौन बने मुख्यमंत्री, देखें Newstrack की ग्राउंड रिपोर्ट

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर लोगों के मन में क्या चल रहा है? जनता के इसी मूड को भांपने निकल पड़ी newstrack.com की टीम। इसी विषय पर लखनऊ के कुछ लोगों से बात चीत का कुछ अंश।

X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) को लेकर विभिन्न राजनीतिक पार्टियों में एक-दूसरे के खिलाफ तलवारें खिंच गई हैं। सभी दल खुद को दूसरे से बेहतर दिखाने की कोशिशों में जुटे हैं। प्रदेश का चुनावी तापमान चरम पर है। वहीं, जनता भी मूड बनाने में जुटी है।

हालांकि, जनता के दिल में भी कई ख्वाहिशें होती हैं। जिसे वो पॉलिटिकल पार्टी (political party) से पूरी करने की हसरत रखते हैं। तो, जनता के इसी मूड को भांपने निकल पड़ी newstrack.com की टीम। हमने बात करने की कोशिश की लखनऊ के कुछ लोगों से, जानना चाहा कि हालिया चुनाव और उससे जुड़े नेताओं को लेकर उनकी क्या राय है।

रिपोर्टर- क्या प्रदेश की सत्ता में इस बार बदलाव होगा?

राम खेलावन- बिल्कुल, होना तो चाहिए। सबसे पहले प्रदेश से बेरोजगारी (Unemployment) दूर होनी चाहिए। बेरोजगारों को काम मिले इसका प्रबंध होना चाहिए। दूसरी, महंगाई कम करने में सरकार नाकाम रही है। उस पर नियंत्रण लगनी चाहिए। तभी सब ठीक होगा।

लेकिन, इनसे जब ये पूछा गया, कि किसे मुख्यमंत्री बनना चाहिए तो ये गोलमोल जवाब देने लगे। सत्ताधारी बीजेपी (BJP) का विकल्प कौन होगा, इस पर कहते हैं कि ये अभी जल्दबाजी होगी, कुछ कहा नहीं जा सकता है।

रिपोर्टर- किस पार्टी या किस दल की सरकार का कामकाज बेहतर रहा है, कौन सबसे बेहतर मुख्यमंत्री (who is the best chief minister) रहा है?

ताराचंद यादव (समाजसेवी) - इस सवाल के जवाब में ताराचंद बताते हैं, कि महंगाई आसमान छू रही है। बेरोजगारी बढ़ती ही जा रही है। वो खुद के बारे में बताते हैं कि इतना पढ़ने के बाद भी मुझे काम नहीं मिला। चाय की दुकान खोलकर जीवन यापन कर रहे हैं।



ताराचंद से ये पूछने पर की, वो किसकी सरकार देखना चाहते हैं तो उनका कहना है कि अखिलेश यादव की सरकार में बाकी सब ठीक था। प्रदेश में उन्हीं की सरकार बननी चाहिए। पढ़ने-लिखने वाले बच्चों को उन्होंने लैपटॉप दिया था। उन्होंने ही एक्सप्रेसवे बनवाया, मेट्रो चलवाया। ये पूछने पर कि क्या योगी जी की सरकार में कुछ अच्छा नहीं तो ताराचंद कहते हैं, कि हां राम मंदिर बनना अच्छा रहा। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हुआ लेकिन योगी जी के शासन काल में हुआ तो सब ठीक है।

रिपोर्टर- आपका क्या नाम है और क्या करते हैं?

हरीश चंद्र- मैं चाय की दुकान चलाता हूं। बी.ए. पास हूं। लेकिन बेरोजगारी की वजह से चाय बेचने को मजबूर हूं। वर्तमान सरकार नौकरियां भी नहीं ला रही है। जो आ भी रही है, उसके पेपर रद्द करा रहे हैं। इससे युवाओं में निराशा है। हरीश बताते हैं वो खुद भी प्रतियोगी परीक्षा (competitive exam) में शामिल होते हैं।

रिपोर्टर: इस बार किसकी सरकार बननी चाहिए, किसकी बनेगी?

अनुज कुमार (सिलाई का काम) - सरकार उसी की बननी चाहिए जो अच्छा काम करे। हालांकि, योगी जी (CM Yogi Adityanath) ने भी ठीक-ठाक काम किया है। लेकिन, फुटपाथ पर बैठकर काम करने वालों की तरफ ध्यान नहीं दिया। किसान भी खाद की महंगाई से जूझ रही है। उनकी भी समस्याएं हैं। यह पूछने पर कि क्या प्रदेश को बदलाव चाहिए? तो अनुज कहते हैं हां। किसकी सरकार बने? इस पर खुलकर किसी एक नाम न लेते हुए वो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की ओर इशारा करते हुए कहते हैं कि उन्होंने भी अच्छा काम किया था।

तो ये थी newstrack.com की चुनावी चर्चा आम आदमी से। उनकी समस्याओं और उनकी पसंद को लेकर।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2021, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2021

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story