×

UP Election 2022 : स्वामी प्रसाद के बाद BJP पर अखिलेश यादव का तंज, ....अब बाबा से कैच छूट गया

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो रही हैं। पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य आज समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।

Rahul Singh Rajpoot

Report Rahul Singh RajpootWritten By aman

Published on 14 Jan 2022 7:45 AM GMT

akhilesh yadav
X

akhilesh yadav 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो रही हैं। पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़ने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य (swami prasad maurya) आज समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में शामिल हो गए। योगी सरकार से इस्तीफा देकर स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी को बड़ा झटका दिया है। उनके साथ धर्म सिंह सैनी और 6 विधायकों ने भी सपा का दामन थामा।

सपा में शामिल होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा, कि 'मकर संक्रांति बीजेपी के अंत का इतिहास रचने जा रहा है। जो बीजेपी के लोग कुंभकर्णी नींद सो रहे थे उनको अब नींद ही नहीं आ रही। पहले वे लोग हमारी बात नहीं सुनते थे।'

'पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया..'

उन्होंने कहा, 'बीजेपी के कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया। कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी है। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि बीजेपी ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में सिर्फ धूल झोंका है। वैसे ही सत्ता हथियाई थी। सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं अगड़े। पांच फीसदी लोग। स्वामी प्रसाद बोले कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है।'

'सीएम होंगे केशव या स्वामी'

स्वामी प्रसाद ने कहा, कि 'बीजेपी ने केशव मौर्य और स्वामी मौर्य का नाम उछाल कर सरकार बनाई थी। चर्चा थी, कि सीएम होंगे केशव या स्वामी, पर हुआ क्या। पहले गाजीपुर से स्काईलैंप उतारने की कोशिश की गई। फिर स्काईलैंप आते-आते बीच में ही ब्लास्ट हो गया। दूसरा स्काईलैंप गोरखपुर से लाकर पिछड़े की आंखों में धूल झोंकी गई।'

बीजेपी के बहाने बसपा पर भी तंज

स्वामी प्रसाद ने कहा, कि 'मैं जिसका साथ छोड़ता हूं उसका कहीं अता पता नहीं रहता। बहन जी इसका जीता-जागता उदाहरण हैं। वह बाबा साहब और कांशीराम के सिद्धांतों से हट गई थीं। उन्हें घमंड हो गया था। बहन मायावती ने दूसरा नारा दिया जिसकी जितनी तैयारी उसकी उतनी भागीदारी वह थैली वालों के साथ खड़ी हो गईं।'

इस्तीफे का सिलसिला चलता रहेगा

स्वामी बोले, बसपा तब नंबर- 1 पर थी, बीजेपी 3 पर थी। जैसे ही मैंने बीएसपी छोड़ी बीजेपी आकाश चढ़ गई। पर, अब मैं उन्हें कहना चाहता हूं आपके बुरे दिन आ गए हैं। मेरे साथ कई लोग आ रहे हैं, इस्तीफा देने का सिलसिला चलता रहेगा।

बीजेपी में लगातार विकेट गिर रहे

इसके बाद मंच पर सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव आए। उन्होंने कहा, कि 'योगी की 11 मार्च की गोरखपुर टिकट है, लेकिन आप (जो बीजेपी से आए विधायक हैं) के आने से वह आज ही लखनऊ से गोरखपुर चले गए।' यूपी के पूर्व सीएम ने कहा, 'बीजेपी में लगातार विकेट गिर रहे हैं। बाबा क्रिकेट खेलना नहीं जानते। अगर जानते भी होते तो भी अब उनसे कैच छूट गया।'

लोगों को लूट रहे, तेल कंपनियां धन कूट रही

अखिलेश यादव ने कहा, कि बीजेपी सरकार ने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया। उनके पास कोई ठोस उपलब्धि नहीं है। पेट्रोल-डीजल तक इतना महंगा हो गया कि पूछो मत। तेल कंपनियां 600 फीसदी मुनाफा कमा रही हैं, जबकि लोगों को लूटा जा रहा है।

अब साइकिल का हैंडिल, पहिया, पैडल सब ठीक

अखिलेश यादव ने कहा, कि 'अब सपा को कोई नहीं रोक सकता। क्योंकि, अब साइकिल का हैंडल भी ठीक, दोनों पहिए भी ठीक हैं और पैंडल चलाने वाले भी आ गए हैं। अगर सबका साथ रहा तो सपा गठबंधन 400 सीटें भी जीत सकती है। मौर्य सपा में आए तो उनके खिलाफ पता नहीं कौन से जमाने के केस का वारंट जारी कर दिया गया।'

newstrack.com से बोले अमर सिंह क्यों छोड़ी पार्टी

इस मौके पर अपना दल से आज सपा में शामिल हुए चौधरी अमर सिंह ने newstrack.com से बात करते हुए कहा, कि 'अपना दल का बीजेपी के साथ गठबंधन है। लेकिन सौ प्रतिशत संचालन बीजेपी के द्वारा मंजूर नहीं था। उन्होंने कहा, मैं ग्राणीण परिवेश से आया किसान का बेटे हूं। सपा की सरकार में बड़े हौसले से आया हूं। हम सपा के साथ आगे बढ़ेंगे। गांव के अंतिम छोर पर बैठे गरीब के चेहरे पर मुस्कान लाएंगे। अमर सिंह का कहना था कि बीजेपी सरकार जिस वादे के साथ सत्ता में आई कि पिछड़ों के साथ, दलितों के साथ, शिक्षामित्रों के साथ न्याय करेगी। उनकी जरूरतें पूरी करेगी। लेकिन, क्या एक भी वादा पूरा किया।' हालांकि, अमर सिंह कहते हैं कि अपना दल छोड़ने की घोषणा के बाद उनके पास कई फोन आये थे लेकिन उनका फैसला अटल है। पार्टी के भीतर भी वो इस मुद्दे पर समय-समय पर अपनी बात रखते रहे थे। लेकिन जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो उनके पास अलग रास्ता चुनने का ही विकल्प था।

ये रहे मंच पर मौजूद

सपा के मंच पर बीजेपी के बागी विधायक पहुंचे, विधायक भगवती सागर, विनय शाक्य, विधायक बृजेश प्रजापति, आरके वर्मा, अपना दल एस, विधायक मुकेश वर्मा, रोशन लाल वर्मा, चौधरी अमर सिंह समेत तमाम नेता मौजूद हैं। इनके साथ, अखिलेश यादव, स्वामी प्रसाद, धर्म सिंह सैनी, भगवती प्रसाद, रोशन लाल, मुकेश वर्मा, ब्रजेश प्रजापति, चौधरी अमर सिंह, अनिल युशुफ, राम हेत भरती, नीरज मौर्य, बलराम सैनी,राजेंद्र प्रसाद पटेल, विद्रोही भणपत, पदम सिंह, वंशी सिंह पहाड़िया, अमर नाथ सिंह मौर्य, रामवतार शामरा, आर के मौर्य, बलराम मौर्य, देवेश शाक्य, महेंद्र मौर्य, रजनीकांत मौर्य, चंदपाल सैनी, सतेंद्र कुशवाहा, गुलाब मौर्य, जीतेन्द्र पाल, भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष, हरिओम आदि मौजूद हैं।

जब सपा का मंच सजा तब बीजेपी के बागी विधायक भी वहां पहुंचे। इस दौरान विधायक भगवती सागर, विनय शाक्य, विधायक बृजेश प्रजापति, आरके वर्मा, अपना दल विधायक मुकेश वर्मा, रौशन लाल वर्मा, चौधरी अमर सिंह समेत तमाम नेता मौजूद हैं।

मौर्य के इस्तीफे के ठीक बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के ट्विटर हैंडल से एक तस्वीर पोस्ट की गई थी। जिसमें स्वामी प्रसाद, अखिलेश यादव के साथ दिखाई दे रहे थे। अखिलेश यादव ने इस तस्वीर के जरिए स्वामी प्रसाद मौर्य और उनके साथियों का सपा में स्वागत किया था।

इन्होंने छोड़ा बीजेपी का साथ

स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद दारा सिंह चौहान और धर्म सिंह सैनी भी बीजेपी से इस्तीफा दिया। इसके अलावा 6 अन्य विधायक भी बीजेपी का साथ छोड़ चुके हैं। इस्तीफा देने वाले विधायकों में ब्रजेश प्रजापति, रोशन लाल वर्मा, भगवती सिंह सागर, मुकेश वर्मा, विनय शाक्य और बाला अवस्थी के नाम शामिल हैं। बीजेपी से अब तक 14 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इनमें राकेश राठौर, जय चौबे, माधुरी वर्मा तथा आरके शर्मा पहले ही सपा में शामिल हो चुके हैं। वहीं अवतार सिंह भड़ाना जयंत चौधरी की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हुए हैं।

रोज एक-एक इंजेक्शन लगा रहे

इससे पहले, बीजेपी छोड़ने वाले विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य के घर पहुंचे। इस दौरान विधायक मुकेश वर्मा ने कहा, कि 'हमलोग धीरे-धीरे इंजेक्शन लगा रहे हैं। रोज एक-एक इंजेक्शन लगा रहे हैं। जब बड़ी बीमारी हो जाती है तो इंजेक्शन से ही जाती है। उस पर ओरल मेडिसिन काम नहीं करती। इसलिए अब इंजेक्शन देने का काम किया जा रहा है।' मुकेश वर्मा ने कहा, कि 'बीजेपी वाले तो हमें आज भी बुला रहे हैं। वापस आ जाने की गुहार लगा रहे हैं।' उन्होंने दावा किया कि आज दो दर्जन से ज्यादा लोग सपा में शामिल होंगे।

aman

aman

Next Story