×

Raebareli News: रायबरेली पुलिस को बड़ी कामयाबी, फर्जी कंपनियों के जरिये 50 करोड़ से ज्यादा इन्वेस्ट कराने वाला कंपनी डायरेक्टर गिरफ्तार

Raebareli News Today: रायबरेली पुलिस ने ग्रीन इंडिया बायोटेक फारेस्ट लिमिटेड के निदेशक शिव बहादुर मौर्य को गिरफ्तार कर लिया है। शिव बहादर मौर्य पर 50 करोड़ से ज्यादा की ठगी करने का आरोप है।

Narendra Singh

Narendra SinghReport Narendra SinghDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 25 Nov 2021 7:22 AM GMT

Delhi News EOW arrested assistant account manager of Eldeco Group of Companies for fraud of more than 13 crores Delhi Police
X

Raebareli: रायबरेली पुलिस ने फर्जी कंपनियों के जरिये 50 करोड़ से ज्यादा इन्वेस्ट कराने वाला कंपनी डायरेक्टर गिरफ्तार।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Raebareli News: रायबरेली पुलिस ने ग्रीन इंडिया बायोटेक फारेस्ट लिमिटेड (Green India Biotech Forest Limited) के निदेशक शिव बहादुर मौर्य (Director Shiv Bahadur Maurya) को गिरफ्तार कर लिया है। ग्रीन इंडिया बायोटेक फारेस्ट लिमिटेड (Green India Biotech Forest Limited) समेत छह फर्जी कंपनियां बनाकर शिव बहादर मौर्य (Director Shiv Bahadur Maurya) अब तक 50 करोड़ से ज्यादा की ठगी कर चुका है।

पुलिस की अब तक हुई छानबीन में शिव बहादुर मौर्य (Director Shiv Bahadur Maurya) ने रायबरेली, प्रयागराज, वाराणसी ,कानपुर और उन्नाव में अपनी ठगी का जाल फैला रखा है। फर्जी कंपनियों का कथित डायरेक्टर शिवबहादुर मौर्य (Director Shiv Bahadur Maurya) कंपनी के पास बड़े बड़े फार्म हाउस होने का झांसा देता था। इन्ही फार्म हाउस में टीक सागौन व अन्य कीमती लकड़ियों वाले पेड़ लगाने के नाम पर इन्वेस्ट कराता था। इसने के शहरों में सस्ते प्लाट के नाम पर इन्वेस्ट कराया है।

म्यूचुअल फंड इन्वेस्टमेंट (mutual fund investment) के नाम पर यह बैंक से कई गुना ज्यादा ब्याज का वायदा कर भोले भाले लोगों को फंसाता था। इस तरह इसने अपनी सभी छह कंपनियों में सैकड़ों लोगों का 50 करोड़ से ज़्यादा इन्वेस्ट कराया था। मामला तब खुला जब इन्वेस्टर्स तय सीमा पर अपना पैसा मय ब्याज के लेने पहुंचे। इन्वेस्टर्स के पैरों नीचे की ज़मीन तब सरक गई जब उन्हें जानकारी हुई कि वह ठगी का शिकार हो चुके हैं। क्योंकि सभी कंपनियों का हेड आफिस रायबरेली के मिल एरिया थाना इलाके में जवाहर विहार कालोनी (Jawahar Vihar Colony) का था इसलिए यहां कई मामले दर्ज हो गए। शिव बहादुर मौर्य (Director Shiv Bahadur Maurya) खुद बखुद ही तब पुलिस के हत्थे चढ़ गया जब वाहन चेकिंग के लिए उसे रोका गया। पुलिस का मानना है कि विस्तृत जांच के बाद मामला ठगी का यह मामला और बड़ा हो सकता है।

इस मामले में कंपनी सीओ सदर वंदना सिंह (Sadar CO Vandana Singh) ने बताया कि वाराणसी (Varanasi) और प्रयागराज (Prayagraj) में कार्यालय खोलकर अपना जाल फैलाया हुआ है। सूत्रों का कहना है कि पूर्वांचल और बिहार तक इस कंपनी ने लोगों को ठगी का शिकार बनाया है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story