×

OMG! सीतापुर में पेड़ से निकल रहा खून, देखकर लोग रह गए दंग, जानें पूरा मामला

Sitapur News: पेड़ काटते वक्त एक ऐसा हादसा हुआ जिससे सभी लोग अचंभित हो गए और पेड़ काटने वाले लोग डर के मारे अपने सामान को छोड़कर मौके से भाग निकले।

Sami Ahmed
Written By Sami AhmedPublished By Pallavi Srivastava
Updated on: 16 Aug 2021 5:29 AM GMT
blood on cutting trees
X

पेड़ काटने पर निकला खून pic(social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sitapur News: उत्तर प्रदेश के सीतापुर में उस वक्त हड़कंप मच गया जब पेड़ से खून निकलने लगा। जी हां ये वाक्या सीतापुर जिले का है जहां पेड़ कांटने के दौरान उसमे से खून निकलने लगा। ये सब देख लोग डर गए और फौरन सब छोड़कर वहां से भाग गये। चलिए जानते हैं पूरी खबर-

सीतापुर में एक अजीबो अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जिसमें पेड़ काटते वक्त एक ऐसा हादसा हुआ जिससे सभी लोग अचंभित हो गए और पेड़ काटने वाले लोग डर के मारे अपने सामान को छोड़कर मौके से भाग निकले। दरअसल एक गांव में लकड़ी ठेकेदार ने पेड़ खरीदा था जिसको काटने के लिए वह कई मजदूरों के साथ गया हुआ था। लेकिन जैसे ही पेड़ को उसने काटना शुरू किया, वैसे ही पेड़ से खून की धार निकलने शुरू हो गई। ठेकेदार के मुताबिक खून की धार इतनी तेज थी कि सभी के कपड़े खून से सराबोर हो गए और उसमें से रोने चिल्लाने की तेज आवाजें निकलने लगी। जिसके बाद ठेकेदार आरी सहित सारा सामान छोड़कर मौके से भाग निकला, और पेड़ के कटान को रुकवा दिया।

खून देखकर नौ दो ग्यारह हुए लोग pic(social media)

बताते चलें कि थानगांव थाना क्षेत्र के थानगाँव निवासी दारा सिंह भार्गव पुत्र भगौती प्रसाद ने अपने खेत मे लगे सेमल के पेड़ों को लकड़ी ठेकेदारों कोे बेच दिया था। जिसके बाद लकड़ी ठेकेदार अपने कई मजदूरों के साथ सेमल के पेड़ को काटने पहुंचा था। जैसे ही मजदूरों ने पेड़ पर आरी चलाई वैसे ही पेड़ से तेज धार में खून निकलने लगा। जैसे-जैसे मजदूर पेड़ को काटते रहे वैसे वैसे खून की धार और तेज होती गई। जिसके बाद वहां खड़े ठेकेदार व मजदूर काफी डर गए। ठेकेदार व मजदूरों का कहना है कि जब हम लोग पेड़ काट रहे थे तब उसमें से खून की तेज धार निकली और रोने चिल्लाने की आवाज भी सुनाई दी। जिसके बाद हम लोग दहशत में आ गए और हम लोग अपना सारा सामान छोड़कर वहां से भाग निकले।

जैसे ही ठेकेदार और मजदूर गांव के अंदर पहुंचे तो गांव वालों को पूरी कहानी बताइए। जिसके बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया। सैकड़ों की तादात में ग्रामीण उस पेड़ को देखने के लिए मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने देखा कि पेड़ थोड़ा कटा हुआ था और तमाम सारा खून वहीं पर बिखरा पड़ा हुआ था। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि जब हम लोग पेड़ को देखने गए तो उस पेड़ से धीरे धीरे रोने की आवाज आ रही थी। जिससेे ग्रामीण काफी डर गए और उन्होंने ठेकेदार से आग्रह किया कि इस पेड़ को ना काटंे। जिसके बाद ठेकेदार व मजदूर बिना पेड़ काटे ही वापस चले गए। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि इस तरह का हादसा कभी हम लोगों ने अपने जीवन में नहीं देखा कि किसी पेड़ को काटते वक्त खून की धार और रोने चिल्लाने की आवाजें निकलने लगी हो। फिलहाल सेमल के पेड़ के कटान को रोक दिया गया और इलाके में इस पेड़ को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया।

अब यह कोई अंधवियवास है या कुछ और ये तो अभी तक गांव वाले जान नहीं पाए हैं। लेकिन आपकों बता दें कि धरती पर एक ऐसे पेड़ की प्रजाति है जिसे कांटने पर उसमे से खून निकलता है। दक्षिण अफ्रिका में पाए जाने वाला ये पेड़ किआट मुकवा, मुनिंगा और ब्लडवुड ट्री के नाम से जाना जाता है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story