Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

दलित युवक की 1 साल पहले हुई थी मौत, अब शव का होगा फिर से पोस्मार्टम, जानें क्यों

अनुसूचित जाति जनजाति आयोग अध्यक्ष के आदेश पर रि-पोस्टमार्टम कराने शव को निकालने के लिए शुरु हुई खुदाई जिले के हैदरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कोरोराघवपुर निवासी दलित करिया उर्फ कृष्ण कुमार पासी की साल भर पहले हुई संदिग्ध मौत के रहस्य से पर्दा हटाने को दफनाये गये शव को खुदवाकर दुबारा रिपोस्टमार्टम कराने को शव की शनिवार को प्रशासन ने चिकित्सको की मौजूदगी शव की खुदाई मजदूरों से शुरू करा दी है। यह प्रक्रिया अनुसूचित जाति जनजाति आयोग अध्यक्ष के आदेश पर यहां के जिला प्रशासन ने शुरू कराई हैं।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 7 March 2021 3:41 PM GMT

दलित युवक की 1 साल पहले हुई थी मौत, अब शव का होगा फिर से पोस्मार्टम, जानें क्यों
X
अयोध्या : दलित युवक की सालभर पहले हुई मौत, रहस्य से पर्दा उठाने के लिए शव का होगा रिपोस्मार्टम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या: अनुसूचित जाति जनजाति आयोग अध्यक्ष के आदेश पर रि-पोस्टमार्टम कराने शव को निकालने के लिए शुरु हुई खुदाई जिले के हैदरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कोरोराघवपुर निवासी दलित करिया उर्फ कृष्ण कुमार पासी की साल भर पहले हुई संदिग्ध मौत के रहस्य से पर्दा हटाने को दफनाये गये शव को खुदवाकर दुबारा रिपोस्टमार्टम कराने को शव की शनिवार को प्रशासन ने चिकित्सको की मौजूदगी शव की खुदाई मजदूरों से शुरू करा दी है। यह प्रक्रिया अनुसूचित जाति जनजाति आयोग अध्यक्ष के आदेश पर यहां के जिला प्रशासन ने शुरू कराई हैं।

दुबारा पोस्टमार्टम

आयोग के सहायक निदेशक तरुण खन्ना ने इस बावत एक पत्र भी जारी किया था। मामले में दुबारा पोस्टमार्टम कराने के आदेश के बाद गांव की सियासत पुनः गरमा गई है। मृतक के भाई विश्राम सरोज की शिकायत और मांग पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग द्वारा एसएसपी अयोध्या को मृतक के शव को नियमानुसार चिकित्सकों के पैनल से दुबारा पोस्टमार्टम कराने के साथ प्रकरण की विवेचना पुलिस क्षेत्राधिकारी स्तर के अधिकारी से कराने और पीड़ित परिवार को समाज कल्याण विभाग से आर्थिक सहायता दिलाने का प्रस्ताव कराने का पूर्व में आदेश दिया है।

भाई का बयान

मृतक के भाई का आरोप है कि बीते 14 फरवरी 2020 को उनके भाई करिया उर्फ कृष्ण कुमार पासी गांव में आयोजित एक भंडारे में शामिल होने गया था। आरोप है कि वहां गांव के एक व्यक्ति द्वारा शराब के लिए पैसा ना देने पर पेट में लात घूसो से मारा पीटा गया था। जिससे तीसरे दिन 16 फरवरी को उनके भाई की मौत हो गई। पीड़ित द्वारा पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर संदेह जताया गया है। मामले में हैदरगंज पुलिस द्वारा धारा 504, 304 तथा दलित एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया है।

प्रक्रिया अब पुनः हुई तेज

पीड़ित ने पुलिस महानिरीक्षक को मांग पत्र भेज कर आदेश का अनुपालन कराये जाने की मांग पूर्व में की थी। उधर प्रकरण में आरोपित सहित उनके परिवारीजनों ने मारपीट के आरोप को नकारते हुये करिया की मौत को स्वाभाविक मौत करार दिया था। लेकिन प्रकरण में करिया की मौत से पर्दा हटाने को अनुसूचित जाति जनजाति आयोग ने दफनाये गये शव को खुदवाकर डाक्टरो के पैनल से दुबारा पोस्टमार्टम कराने के साथ विवेचना पुलिस क्षेत्राधिकारी से कराने का आदेश दिया था लेकिन यह प्रक्रिया अब पुनः तेज हो गई है। हैदरगंज पुलिस दफनाये गये शव स्थल का कुछ दिन पहले स्थलीय चिन्हांकन भी कर चुकी थी। अब गांव की सियासत पुनः गरमा गई है।

शव को खुदवाने की सूचना

उधर गांव निवासी मोतीलाल पासवान ने बताया कि शनिवार को दफनाये गये शव को खुदवाने की सूचना इलाक़ाई पुलिस द्वारा उन्हें दी गई थी। नायब तहसीलदार बीकापुर गरिमा वर्मा ने बताया कि साल भर पहले हुई करिया की मौत मामले में उपजिलाधिकारी के आदेश पर लाश के उत्खनन की कार्यवाही कराई जा रही है।इस दौरान मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण व हैदरगंज थानाध्यक्ष रतन कुमार शर्मा मय दलबल मौके पर मौजूद रहे।

रिपोर्ट- नाथ बख्श सिंह

Monika

Monika

Next Story