×

Ayodhya News: मिड डे मील में गड़बड़ी पर डीएम ने प्रधानाध्यापिका को किया निलंबित

Ayodhya News: जिलाधिकारी नितीश कुमार ने मिड डे मील में गड़बड़ी मामले में परिषदीय प्राथमिक विद्यालय डीहवा पांडेय की प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया है।

NathBux Singh
Updated on: 28 Sep 2022 1:18 PM GMT
X

जिलाधिकारी नितीश कुमार 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Ayodhya News: जिलाधिकारी नितीश कुमार (District Magistrate Nitish Kumar) ने परिषदीय प्राथमिक विद्यालय डीहवा पांडेय (Council Primary School Dihwa Pandey) का पुरवा में बच्चों को मध्यान्ह भोजन योजना के तहत भोजन को मानक के अनुसार नहीं दिया जाता है। प्राप्त शिकायत पर संज्ञान लेते हुए सम्बंधित परिषदीय विद्यालय की प्रधानाध्यापिका एकता यादव (Headmaster Ekta Yadav) को तत्काल प्रभाव से निलम्बित किया और सम्बन्धित शिकायत की जांच करने के निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिये है।

जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को यह भी निर्देश दिये है कि सभी प्राथमिक विद्यालयों से मध्यान्ह भोजन वितरण की रिपोर्ट प्राप्त करें तथा समय-समय पर विद्यालयों का औचक निरीक्षण भी कराया जाय। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों में स्कूली बच्चों को टाट पटिका व किताबों का वितरण सुनिश्चित किया जाय तथा यह भी देखा जाय जिन विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन का मानक के अनुसार वितरण नही किया जा रहा है उन पर तत्काल कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जाय।

छात्रों को नमक और चावल खिलाने का प्रकरण संज्ञान में तूल पकड़ा

विद्यालय के छात्रों को नमक और चावल खिलाने का प्रकरण संज्ञान में आने के बाद तूल पकड़ गया स्थानीय लोगों ने इसका वीडियो भी वायरल कर दिया था बताया जाता है कि विद्यालय गांव के बगल है जिस कारण बच्चे मध्यान भोजन को लेकर घर , चले जाने से इसका खुलासा हुआजिलाधिकारी ने प्रकरण की जांच का आदेश दे दिया है अब जांच के बाद ही सही तथ्य सामने आएगा।

अयोध्या प्राथमिक विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना को लेकर प्राय गुणवत्ता को लेकर मामले प्रकाश में आते रहते हैं नाम ना छापने के शर्त पर लोगों ने बताया की हर सामान की कास्ट बढ़ती जा रही है और सरकार द्वारा पुराना मूल्य जो निर्धारित है उसी तरीके से भुगतान दिया जाता है जिस कारण सामान खरीदने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। सरकार मध्याह्न भोजन की वस्तुओं का वर्तमान समय के अनुसार मूल्य निर्धारण किया जाना चाहिए अन्यथा की स्थिति में इस तरह की घटनाएं उजागर होती है। फिलहाल जिस तरीके से अयोध्या इस विद्यालय में चावल नमक का भोजन बच्चों को दिया जाना भी गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है, जिसका वीडियो आज वायरल होने के बाद दिन भर चर्चा का विषय बना रहा।

अनेकों जगहों पर प्रधानाध्यापक व प्रधान के बीच मध्यान्ह भोजन योजना को लेकर भी रस्साकशी चलती रहती है, जिसके परिणाम स्वरूप अनेकों स्थानों पर मध्यान्ह भोजन योजना की गुणवत्ता पर सवाल खड़े होते हैं जिस तरह कैसे वीडियो वायरल हुआ है, उससे साफ जाहिर है चावल और नमक बच्चों को दिया गया था इस तरीके की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इस पर शक्ति लगाए जाने की आवश्यकता है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story