×

आयुष्मान भारत के तहत पांच लाख रूपए तक का हो सकता है इलाज: सिद्धार्थ नाथ सिंह

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने प्रयागराज के कुम्भ मेले से लाभार्थियों को  प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड तथा गंगा जल वितरित करते हुए कहा कि इस योजना के तहत प्रदेश के 1.18 लाख परिवारो के लगभग 6.47 करोड़ लोगो का स्वास्थ्य बीमा के तहत कवर करते हुए लाभान्वित किया जा रहा है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 17 Feb 2019 2:29 PM GMT

आयुष्मान भारत के तहत पांच लाख रूपए तक का हो सकता है इलाज: सिद्धार्थ नाथ सिंह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कुम्भ नगर: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना को विस्तार रूप देते हुये चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्वार्थ नाथ सिंह ने रविवार को कुम्भ मेला क्षेत्र के इंटीग्रेटेड कन्ट्रोल एण्ड कमांड सेंटर के हॉल में लाभार्थी संतोष कुमार भारती, राकेश भारती, बनवारी लाल, बसन्त लाल मौर्या, शिव बहादुर, गुड्डी देवी तथा कृष्ण केशरी सहित कुल 30 लाभार्थियों को आयुष्मान भारत के अन्तर्गत स्वास्थ्य बीमा कवर हेतु प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड वितरण कर शुभारम्भ किया।

ये भी देखें : पीएम के दौरे पर एसपीजी का कड़ा पहरा, चप्पे-चप्पे पर निगहबानी

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने प्रयागराज के कुम्भ मेले से लाभार्थियों को प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड तथा गंगा जल वितरित करते हुए कहा कि इस योजना के तहत प्रदेश के 1.18 लाख परिवारो के लगभग 6.47 करोड़ लोगो का स्वास्थ्य बीमा के तहत कवर करते हुए लाभान्वित किया जा रहा है। इस योजना के अन्तर्गत अब समस्त लाभार्थियों को प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड का वितरण किया जायेगा। जिसके माध्यम से लाभार्थी पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा योजना के अन्तर्गत अपना इलाज कराते हुए लाभ ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुम्भ से लाभार्थियों को आयुष्मान भारत के अन्तर्गत टिकाऊ प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड का वितरण शुरु हो गया है।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि देश में 23 सितम्बर 2018 से प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना का आरम्भ किया गया। जिससे अब तक प्रदेश में लगभग 37 हजार से अधिक लोगो ने उपचार कराते हुए स्वास्थ्य लाभ लिया है। उन्होंने बताया कि इस योजना के द्वारा गरीब एवं आर्थिक रुप से कमजोर, समाज के एक बड़े अंतिम पायदान पर खड़े वर्ग को लाभ मिला है। जो सबका साथ सबका विकास का प्रतीक है। उन्होने बताया कि प्रदेश में 18.36 लाख तथा जनपद प्रयागराज में 63 हजार 410 लोगों को गोल्डेन कार्ड दिया गया है। उन्होने बताया कि इस योजना के तहत लाभार्थियों को सर्जरी, सिंकाई, कीमोथेरेपी तथा हृदय के बाईपास सर्जरी जैसी अनेको बीमारियों का इलाज कार्ड के माध्यम से सूचीबद्ध उ.प्र. के 1634 अस्पतालों में किया जायेगा।

ये भी देखें :पुलवामा अटैक के बाद अलगाववादी नेता पर बड़ी कार्रवाई, हटाई गई सुरक्षा

उन्होंने कहा, जनपद प्रयागराज में 138 प्राईवेट तथा 15 सरकारी सूचीबद्ध अस्पतालों में कार्ड के माध्यम से कार्ड धारक इलाज करा सकते हैं। देश के किसी भी सूचीबद्ध अस्पताल में भी इलाज कराया जा सकता है। उन्होने कहा कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र लाभार्थी सूचीबद्व अस्पताल तथा कामन सर्विस सेन्टर से स्मार्ट कार्ड बनवा सकते है। गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए लाभार्थी को व्यक्तिगत पहचान पत्र हेतु आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स, पासबुक तथा सरकार द्वारा जारी अन्य पहचान पत्र, इसके अलावा परिवार पहचान पत्र हेतु राशन कार्ड, परिवार रजिस्टर्ड की नकल तथा प्रधानमंत्री के पत्र के आधार पर प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड बनाये जायेंगे। लाभार्थी सुगमता के लिए आयुष्मान भारत के अन्तर्गत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड बनवाकर लाभ उठा सकते हैं।

कार्यक्रम के अवसर पर मुख्य कार्यपालक अधिकारी संगीता सिंह ने कहा कि पूरे देश में 23 सितम्बर 2018 को इस योजना का शुभारम्भ किया गया है। इस योजना के माध्यम से मरीज देश के किसी भी सूचीबद्व अस्पताल में चिकित्सा लाभ प्राप्त कर सकते है। इस प्रकार यह सेवा पोर्टेबल है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री आरोग्य जन योजना के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए निःशुल्क हेल्पलाइन नं0 180018004444 पर सम्पर्क कर सकते है। यह नं. सातो दिन 24 घंटे उपलब्ध रहेगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story