×

Azadi ka Amrit Mahotsav: 8 से 15 अगस्त तक 'हरिशंकरी सप्ताह', लगाए जाएंगे 5 करोड़ पौधे

Azadi ka Amrit Mahotsav: वन मंत्री ने निर्देश दिए कि अमृत वन के स्थापना के लिए स्वतंत्रता संग्राम की घटनाओं, सेनानियों से संबंधित स्थलों और अमृत सरोवर के आस-पास पौधरोपण को विशेष प्रमुखता दी जाये।

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 5 Aug 2022 2:42 PM GMT
azadi ka Amrit Mahotsav
X

azadi ka Amrit Mahotsav (Image: Newstrack)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Azadi ka Amrit Mahotsav: 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यूपी वन विभाग हरिशंकरी सप्ताह मनाएगा। शुक्रवार को प्रदेश के वन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अरूण कुमार सक्सेना ने विभागीय अफसरों के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने कहा कि 8 अगस्त से 15 अगस्त तक हरिशंकरी सप्ताह मनाया जायेगा। साथ ही 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 5 करोड़ पौधों लगाकर अमृत वन की स्थापना की जायेगी। अमृत वन की स्थापना के लिए 43003 स्थल चयनित किये जा चुके हैं। इन स्थलों पर 34 लाख 23 हजार 911 वृक्षा रोपण किया जाना है।

वन मंत्री ने निर्देश दिए कि पौधरोपण के साथ ही पौधों की सुरक्षा को विशेष प्राथमिकता दी जाये। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त को झण्डारोहण और राष्ट्रगान के बाद सभी ग्राम पंचायतों में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत चयनित स्थलों पर वृक्षारोपण किया जाये। सभी ग्राम सभा और शहरी निकाय में अमृत वन की स्थापना कराई जाएगी। अमृत वन में 75 स्थानीय प्रजातियों के पौधों का रोपण किया जायेगा, जिसमें पीपल, पाकड़, नीम, बेल, आंवला, आम, कटहल एवं सहजन के पौधों के रोपण को वरीयता दी जाये।

वन मंत्री ने निर्देश दिए कि अमृत वन के स्थापना के लिए स्वतंत्रता संग्राम की घटनाओं, सेनानियों से संबंधित स्थलों और अमृत सरोवर के आस-पास पौधरोपण को विशेष प्रमुखता दी जाये। प्रत्येक विधानसभा में भव्य कार्यक्रम का आयोजन कराया जाये। इसमें स्थानीय जनप्रतिनिधि स्कूली बच्चों एवं स्काउट गाइड के विद्यार्थियों को खासतौर से आमंत्रित किया जाये।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के समस्त चिड़ियाघरों में स्वतंत्रता सप्ताह के दौरान पेंटिंग, निबंधलेखन, स्लोगन लेखन, प्रभात फेरियों तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाये। साथ ही साथ प्रदेश में स्थित वन विभाग के समस्त कार्यालयों में आकर्षक लाइटिंग की व्यवस्था की जाये। वन मंत्री ने कहा कि 8 से 15 अगस्त के मध्य प्रत्येक मण्डल मुख्यालय पर हरिशंकरी के पौधों का रोपण किया जाना है। इस कार्यक्रम में सरकारी, गैरसरकारी संस्थायें, लोकभारती, रोटरी क्लब आदि की सहभागिता प्रमुखता से सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने निर्देश दिए कि हरिशंकरी रोपण सप्ताह की सुगम आयोजन हेतु वन विभाग द्वारा समस्त मण्डल मुख्यालयों पर स्थानीय सामाजिक संगठनों के साथ बैठक कर समय से आवश्यक तैयारियां पूर्ण करा ली जाये।

Rakesh Mishra

Rakesh Mishra

Next Story