आजम खान की हालत खराब! टॉयलेट के लिए भी नहीं मिली मोहलत

आजम खान फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट मामले में बुरा फंस गये हैं। जेल जाने के बाद आजम अलग-थलग हो गये हैं। वहीं आरोप है कि पुलिस उनके साथ दुर्व्यवहार कर रही है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले से सांसद आजम खान फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट मामले में बुरा फंस गये हैं। हालात ये है कि जेल जाने के बाद आजम खान अलग-थलग हो गये हैं। भले ही पत्नी और बेटे के साथ उनकी गिरफ्तारी की गयी थीं, लेकिन अब बरेली जेल में वह परिवार से अलग रहेंगे। वहीं आजम खान का आरोप है कि पेशी के लिए ले जाने के दौरान पुलिस ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया। उन्हें पेशाब तक जाने नहीं दिया।

दो दिन के लिए बरेली जेल किये जायेंगे शिफ्ट:

दरअसल, समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर से सांसद आजम खान को पुलिस ने फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट मामले में पत्नी और बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ गिरफ्तार किया था। जिसके बाद तीनों को प्रशासन ने सीतापुर जेल शिफ्ट कर दिया था, लेकिन अब आजम को बरेली जेल में शिफ्ट किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: अब कभी नहीं करेंगे दंगा! योगी सरकार के इस एक्शन से मचा हाहाकार

रामपुर पेशी के लिए लाने-लेजाने के मद्देनजर लिया गया फैसला:

इस बारे में बरेली जेल के सुपरिंटेंडेंट ने आजम के जेल आने की पुष्टि की। जानकारी के मुताबिक रामपुर कोर्ट में छह और सात मार्च को आजम खान की पेशी होनी है। जिसके चलते लगातार सीतापुर जेल से उनके आने जाने की दिक्कत को देखते हुए उनको बरेली जेल में दो दिन के लिए रखने का आदेश दिया गया है। इस बारे में जेल डीआईजी की तरफ से निर्देश जारी किये गये।

आजम खान का आरोप:

वहीं सांसद आजम खान ने आरोप लगाया है कि पुलिस उनके साथ दुर्व्यवहार कर रही है। उनका आरोप है कि सीतापुर जेल से रामपुर लाए जाने के दौरान छह घंटे के सफर में पुलिस ने उन्हें न टॉयलेट करने की इजाजत दी और न ही इन बीच उन्हें लंच करने दिया गया।

ये भी पढ़ें: एक और बैंक पर गिरी गाज: खाताधारकों को लगा झटका, नहीं निकाल सकेंगे इतने रूपये

दरअसल, पेशी के बाद आजम खां ने कुछ कहने का कोर्ट से अनुरोध किया। कोर्ट की इजाजत से उन्होंने कहा कि मैं नौ बार का विधायक, चार बार का मंत्री, एक बार का राज्यसभा सदस्य और वर्तमान में लोकसभा का सदस्य रहा हूं। मैंने अपने लिए कुछ नहीं किया है, कमजोर लोगों की मदद करने की कोशिश की है।

क्या है मामला:

गौरतलब है कि सांसद आजम खान, उनकी विधायक पत्नी डॉक्टर तंजीन फातिमा और पूर्व विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम ने दो फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट बनवाने के केस में 26 फरवरी को रामपुर कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। आजम के खिलाफ 85 से ज्यादा मुकदमे विचाराधीन हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।