Top

आजम ने किया साध्वी से प्यार का इजहार, कहा-कहीं हो ना जाए लव-जिहाद

Admin

AdminBy Admin

Published on 12 March 2016 7:26 AM GMT

आजम ने किया साध्वी से प्यार का इजहार, कहा-कहीं हो ना जाए लव-जिहाद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: यूपी के कद्दावर नेता और नगर विकास मंत्री आजम खान ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। आगरा में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आजम खान ने साध्वी प्राची को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा- मैं तो साध्वी से प्यार करता हूं। ना जाने क्यों वो मुझसे नफरत करती हैं। अब कोई किसी से प्यार भी नहीं कर सकता क्या। डरता हूं कहीं इसे भी लव जिहाद करार न दें।

पीएम बनेंगे डिप्टी सीएम नहीं

आजम पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा- जब मोदी चाय बेचकर पीएम बन सकते हैं। तो मैं भी चाय बेचकर पीएम ही बनूंगा, डिप्टी सीएम नहीं।

पढ़ाया अनुशासन का पाठ

-इस दौरान आजम कार्यकर्ताओं पर खूब बरसे और अनुशासन का पाठ पढ़ाया।

-कहां माहौल को बिगाड़ने में लगे हैं कुछ सपाई।

-तुम्हारी फोटो के चक्कर में अपनी जान दे दूं। पड़ोसी से तुम्हारी बनती नहीं, मोहल्ले में तुम्हें कोई पूछता नहीं।

-जेएनयू प्रकरण पर कहा- कन्हैया पकड़ा गया है अब कंस को पकड़ना है। तभी समस्या का समाधान होगा।

पहले दिेए कई विवादित बयान

-आजम अपने काम से ज्यादा विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहते हैं।

-दादरी हत्याकांड पर कहा था-हिम्मत है तो बीफ बेचने वाले होटलों को बाबरी मस्जिद की तरह तोड़ दो। गोभक्त आज के बाद किसी भी होटल के मेन्यू में बीफ की कीमत न लिखने दें।

-2013 में आजम ने कारगिल युद्ध पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि कारगिल की पहाड़ियों पर फतह करने वाली सेना के जवान हिंदू नहीं मुस्लिम थे। आजम के इस बयान को लेकर काफी विवाद हुआ था।

-2014 के लोकसभा चुनाव में आजम ने भड़काऊ बयाने देते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा था कि 302 का अपराधी गुंडा नंबर वन शाह यूपी में दशहत फैलाने आया है। बाद में जब इस बयान खूब हंगामा बरता तो आजम ने कहा कि क्या ऐसे अपराधी को भारत रत्न दिलवा दूं।

-बदांयू के एक कार्यक्रम में उन्होंने महिलाओं के बारे में कई आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने कहा है कि गरीब घरों की महिलाएं यार के साथ नहीं जा सकती, लिहाजा ज्यादा बच्चे पैदा करती हैं।

-आजम को तीखे बयानों की वजह से 2014 में चुनाव आयोग ने नोटिस भी थमा दिया था। खास बात ये है कि अपने विवादित बयानों की वजह बवाल मचाने वाले आजम पर मुलायम सरकार कोई भी कर्रवाई करने हमेशा बचती रही है। आज भी आजम समाजवादी पार्टी के सबसे बड़े मुस्लिम चेहरा माने जाते हैं।

Admin

Admin

Next Story