Top

शिवरात्रि पर 44 घंटे तक खुलेगा बाबा विश्वनाथ का दरबार,खास होंगे इंतजाम

Admin

AdminBy Admin

Published on 5 March 2016 12:38 PM GMT

शिवरात्रि पर 44 घंटे तक खुलेगा बाबा विश्वनाथ का दरबार,खास होंगे इंतजाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसीः शिवरात्रि पर भक्तों को दर्शन-सानिध्य देने के लिए बाबा काशी विश्वनाथ खुद अपने दरबार के नियम कानून की देहरी लांघेंगे। पूरे 44 घंटे लगातार बाबा दर्शन देंगे क्योंकि इस बार पड़ने वाली महाशिवरात्री सोमवार को पड़ रही है जो बेहद खास है। शिवरात्रि पर्व पर बाबा का विशेष श्रृंगार होगा।

मंदिर के मुख्य पंडित श्रीकांत मिश्रा बताते हैं

-इस बार महाशिवरात्री सोमवार के दिन पड़ रही है और शिवरात्री पर बाबा रात भर दर्शन देते हैं।

-इस लिहाज से रविवार भोर में पट खुलने के बाद मंगलवार की रात 11 बजे ही बाबा का पट बंद होगा।

-इस तरह 44 घंटे उनके दर्शन होंगे। सोमवार की भोर 2.30 बजे महापर्व की मंगला आरती होगी।

-3.30 बजे मंदिर के पट भक्तों के लिए खुल जाएंगे।

-सोमवार भोर से मंगलवार की रात 11 बजे तक लगभग साढ़े 44 घंटे सिर्फ और सिर्फ भक्तों के नाम होगा।

-दिन में दोपहर 11 से 12.15 तक भोग आरती के बाद फिर रात में ही चार प्रहर की आरती के लिए थोड़ी-थोड़ी देर तक दर्शन विश्राम होगा।

-शिवरात्रि की रात 11 से 12.30 तक प्रथम प्रहर की आरती, रात 1.30 से 2.25 तक दूसरे प्रहर, 3 से 4.25 तक।

-तीसरे प्रहर और मंगलवार की सुबह पांच से 6.15 बजे तक चतुर्थ प्रहर की आरती होगी।

-इसके बाद नित्य की भांति भोग-अनुष्ठान पूर्ववत हो जाएंगे। बाबा मंगलवार की रात 11 बजे ही शयन पर जाएंगे।

-भक्त बेल पत्र और जल जढ़ाएंगे। मनोकामना पूर्ति के लिए दूध-धतूरा भी चढ़ाएंगे।

ड्रोन कैमरे से होगी निगरानी

-लाखों भक्त दर्शन के लिए आएंगे। आतंकी हमलों के कारण शहर हमेशा से संवेदनशील रहा है ।

-प्रशासन ने सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए हैं। मंदिर परिसर से गुजरने वाली सभी सड़कों पर बेरिकेडिंग होगी ।

-सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया जाएगा।

एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया

-ड्रोन कैमरे से भी अराजक तत्वों पर निगरानी रखी जाएगी।

-सभी चेक प्वॉइंट के सीसीटीवी को ठीक किया जा रहा है।

-हलांकि कई सीसीटीवी कैमरे अभी खराब पड़े हुए हैं।

-रविवार को रूट डाइवर्जन का मैप तैयार कर लिया जाएगा।

-गोदौलिया से मैदागिन ‘नो वैकिल जोन’ बनाया जाएगा। वीआईपी गाड़िया भी शाम को 5 से 7 बजे तक ही जा सकेंगी।

-भक्त किन रास्तों से मंदिर में करेंगे प्रवेश

-मंदिर के चारों द्वार से भक्तों की इंट्री व्यवस्था की जा रही है ताकि भीड़ को नियंत्रित किया जा सके।

-मंदिर के रेड जोन में बिना परिचय-पत्र कोई भी नहीं जा सकेगा।

-परिसर के आसपास छतों पर भी सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे।

[su_slider source="media: 12866,12867,12868,12869,12865" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Admin

Admin

Next Story