×

बदायूं कोर्ट में हड़कंप: पेशी के लिए गए युवक पर हमला, जाने पूरा मामला

पीड़ित युवक पक्ष का कहना है कि उसके खिलाफ बदायूं कोर्ट में झूठे दहेज-मारपीट के केस चल रहे हैं। सोमवार को वह अपने मम्मी-पापा के साथ पेशी के लिए गया था।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 2 March 2021 7:55 AM GMT

बदायूं कोर्ट में हड़कंप: पेशी के लिए गए युवक पर हमला, जाने पूरा मामला
X
बदायूं कोर्ट में हड़कंप: पेशी के लिए गए युवक पर हमला, जाने पूरा मामला (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बदायूं: उत्तर प्रदेश में आम लोगों की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल उठ रहा है। आम आदमी सड़क पर ही नहीं, बल्कि न्यायालय परिसर में भी सुरक्षित नहीं है। सोमवार को यूपी के बरेली जिले से बदायूं न्यायालय में पेशी के लिए गए युवक और उसके परिजनों पर ससुरालियों ने जानलेवा हमला कर दिया। युवक की वकील पत्नी रितिका, उसके माता-पिता और दूसरे वकील साथियों ने जमकर मारपीट की।

ये भी पढ़ें:लखनऊ: बढ़ती महंगाई को लेकर सपाइयों ने ज़िला कार्यालय पर किया प्रदर्शन

पीड़ित युवक पक्ष का कहना है कि उसके खिलाफ बदायूं कोर्ट में झूठे दहेज-मारपीट के केस चल रहे हैं। सोमवार को वह अपने मम्मी-पापा के साथ पेशी के लिए गया था। सुनवाई के बाद जैसे ही ये लोग अदालत की इमारत से नीचे उतरे, काला कोट पहनी लड़की ने अपने साथियों के साथ बेवजह मारपीट शुरू कर दी।

क्या है पूरा मामला

युवक ने कहा, 'अदालत में सुनवाई के दौरान लड़की के वकील रविन्द्र माथुर ने मारने की धमकी दी। क्योंकि उन्होंने सारे झूठे मामले दर्ज कराए हैं और अब आरोप साबित कर नहीं पा रहे हैं। वह लोग पूरी तरह से बौखला गए थे। धमकी देने की लिखित शिकायत जज को भी दी थी। इसके बाद जब कोर्ट से बाहर आए तो उन लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। लात घूसों से हम तीनों लोगों को बहुत बुरी तरह मारा। मैंने अपने मोबाइल का कैमरा ऑन कर रखा था, तो मोबाइल छीन कर लूटपाट करने की कोशिश की। मेरी माँ के पर्स से भी मोबाइल निकालने और पैसे लूटने की कोशिश की। हम जान बचाकर जैसे तैसे वापस कोर्ट में जज साहब के पास चले गए।"

युवक ने आगे बताया, "112 नम्बर पर कई बार कॉल किया, लेकिन एक बार भी नहीं लगा। फिर जज साहब ने पुलिस बुलवाई और घटना की पूरी जानकारी दी। उधर लड़की पक्ष वाले सीधे बदायूं सिविल लाइन्स थाना चले गए और हमारे खिलाफ मारपीट की झूठी FIR दर्ज करने के लिए थाना इंचार्ज पर हावी होने लगे। हम भी थोड़ी देर में थाना पहुंचे, वहां इंस्पेक्टर साहब को मारपीट का वीडियो दिखाया, तो उन लड़की पक्ष के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया। लेकिन यूपी सरकार के किसी मंत्री के दबाव में हमारे खिलाफ भी मामला दर्ज कर लिया गया।"

ये भी पढ़ें:शहद से हो रहा किसानों को फायदा, बेरोजगारों को मिल रहा रोजगार

मांगी जा रही है 20 लाख रुपये की फिरोती

बरेली के पीड़ित युवक ने बताया कि उसकी पत्नी शादी के ढाई महीने बाद ही अपने पिता के साथ मायके चली गई थी। फिर एक हफ्ते बाद मारपीट के आरोप लगाने लगे थे। उझानी के रहने वाले इन लोगों ने 20 लाख रुपये की डिमांड की। पैसे नहीं दिए तो जान से मारने और झूठे केस में जेल भेजने की धमकी देने लगे थे। अब ये लड़की वाले हर तरीके से हार गए तो गुंडागर्दी और मारपीट पर उतर आये। इससे पहले भी लड़की के पिता आलोक अग्रवाल पीड़ित युवक के परिवार को जान से मारने की धमकी दे चुके हैं।

रिपोर्ट- देश दीपक गैंगवार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story