बलिया हत्याकांड: FIR न दर्ज होने पर आरोपी की भाभी ने दी ये बड़ी चेतावनी

मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह की भाभी आशा प्रताप सिंह ने प्रशासन को दो टूक कहा है कि अगर शुक्रवार शाम 05 बजे तक उनके पक्ष की एफआईआर नहीं दर्ज की गई तो उनके घर की 07 महिलायें घर में ही आत्मदाह कर लेंगी।

Published by Roshni Khan Published: October 23, 2020 | 11:41 am
Modified: October 23, 2020 | 4:40 pm
ballia-case

बलिया हत्याकांड: FIR न दर्ज होने पर आरोपी की भाभी ने दी ये बड़ी चेतावनी (Photo by social media)

लखनऊ: यूपी के बलिया में अधिकारियों के सामने हुए हत्याकांड में मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद शुक्रवार को मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह की भाभी ने इस मामलें में उनकी एफआईआर न दर्ज करने के मामलें में जिला प्रशासन को आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। इस चेतावनी के बाद जिला प्रशासन ने सतर्कता बढ़ा दी है।

ये भी पढ़ें:हाथरस कांड की आड़ में दंगे की साजिश: STF ने जांच की तेज, PFI के आरोपियों पर शिकंजा

मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह की भाभी आशा प्रताप सिंह ने प्रशासन को दो टूक कहा है

मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह की भाभी आशा प्रताप सिंह ने प्रशासन को दो टूक कहा है कि अगर शुक्रवार शाम 05 बजे तक उनके पक्ष की एफआईआर नहीं दर्ज की गई तो उनके घर की 07 महिलायें घर में ही आत्मदाह कर लेंगी। इसके बाद पुलिस प्रशासन ने उनसे ऐसा नहीं करने की अपील की लेकिन महिलाये किसी की बात नहीं मान रही है।

बलिया पुलिस ने हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह की एक हफ्ते की रिमांड के लिए

इससे पहले बीते सोमवार को बलिया के जिला न्यायालय के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट द्वारा 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने के बाद बीते बुधवार को बलिया पुलिस ने हत्याकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह की एक हफ्ते की रिमांड के लिए जिला न्यायालय में अर्जी दी थी। जिस पर जिला न्यायालय ने 03 दिन की रिमांड दी थी।

ये भी पढ़ें:गुजरात को बड़ा तोहफा देंगे PM मोदी, इस दिन तीन परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन

बता दे कि बलिया कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह को राजधानी लखनऊ के पालीटेक्निक चैराहे के पास से बीते रविवार को गिरफ्तार करने के बाद एसटीएफ उसे लेकर सड़क मार्ग से भारी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच बलिया कोतवाली पहुंची थी। एसटीएफ ने धीरेंद्र सिंह को बलिया कोतवाली में मौजूद डीआईजी सुभाष चंद दुबे व एसपी देवेंद्र नाथ के सुपर्द किया, जहां उसका मेडिकल कराया गया, जिसके बाद उसे हवालात में बंद कर दिया गया। इस दौरान धीरेंद्र सिंह की निगरानी के लिए भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई, जिसमे 11 इंस्पेक्टर, 60 दीवान, दो सौ सिपाही व 40 महिला कांस्टेबलों की ड्यूटी लगाई गई थी।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App