Top

फंसे सनकी SDM: शुरू हुए इनके बुरे दिन, लठियों से पीटा था मस्का लगाए हुए लोगों को

वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव की आड़ में एक ट्रेनी इंजीनियर व उसके भाई की बर्बर पिटाई करने वाले उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी की मुश्किलें बढ़ गई है ।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 Aug 2020 7:19 AM GMT

फंसे सनकी SDM: शुरू हुए इनके बुरे दिन, लठियों से पीटा था मस्का लगाए हुए लोगों को
X
फंसे सनकी SDM: शुरू हुए इनके बुरे दिन, लठियों से पीटा था मस्का लगाए हुए लोगों को
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया: वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव की आड़ में एक ट्रेनी इंजीनियर व उसके भाई की बर्बर पिटाई करने वाले उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी की मुश्किलें बढ़ गई है । इंजीनियर की शिकायत पर उप जिलाधिकारी के विरुद्ध मारपीट करने व अपशब्द देने के मामले में नामजद मुकदमा दर्ज हो गया है ।

बिल्थरारोड तहसील के बदमिजाज उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी के बुरे दिन अब शुरू हो गए हैं । उभांव थाना में कल रात उप जिलाधिकारी चौधरी के विरुद्ध भारतीय दंड विधान की धारा 323 व 504 में नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया ।



ये भी पढ़ें:फिर हुआ इस नेता के कारण सदन स्थगित, अब शनिवार को चलेगी विधानसभा

मामले की विवेचना उप निरीक्षक विनोद यादव को सौंपी गई है

मामले की विवेचना उप निरीक्षक विनोद यादव को सौंपी गई है । मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस अब सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के जरिये मारपीट की घटना में शामिल होमगार्ड की शिनाख्त करने में जुटी है । इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिस तरह से सख्त कार्रवाई करते हुए उप जिलाधिकारी चौधरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर राजस्व परिषद से सम्बद्ध कर दिया , उसके बाद हरकत में आयी पुलिस की तैयारी अब आरोपी उप जिलाधिकारी की गिरफ्तारी के लिए राज्य सरकार से अभियोजन स्वीकृति लेने पर है ।

फंसे सनकी SDM: शुरू हुए इनके बुरे दिन, लठियों से पीटा था मस्का लगाए हुए लोगों को

बिल्थरारोड तहसील के उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी ने सारी सीमाएं तोड़ डाली

उल्लेखनीय है कि बिल्थरारोड तहसील के उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी ने कल बर्बरता की सारी सीमाएं तोड़ डाली । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मास्क के प्रयोग को लेकर कानून के प्राविधान के तहत कार्रवाई की लगातार हिदायत दे रहे हैं , लेकिन कार्रवाई की आड़ में उप जिलाधिकारी ने मास्क धारण करने के बावजूद दो युवकों की सरेआम जमकर पिटाई की । बदमिजाज उप जिलाधिकारी तहसील स्थित कार्यालय से कल दोपहर निकले तथा उन्होंने तहसील परिसर से ही उत्पात मचाना शुरू कर दिया । परिसर में मास्क पहने लोगों पर उन्होंने लाठियां बरसाई । तहसील गेट पर उप जिलाधिकारी की नजर महिला के साथ जा रहे एक बाइक सवार पर पड़ गई तो उन्होंने बाइक सवार पर भी डंडा बरसा दिया ।

होमगार्ड ने कहा रुमाल के स्थान पर मास्क लगाये

इसके बाद वह तहसील से सटे चौकियां मोड़ चौराहे पर पहुँचे । चौकियां मोड़ के रजत चौरसिया विशाल गुड़गांव ( हरियाणा ) में एक कम्पनी आई सी ए टी में ट्रेनी इंजीनियर हैं । वह अपरान्ह 1 बजे अपने भाई आँशु के साथ दुकान पर बैठे थे । वह मास्क पहने थे तथा उनका भाई मुंह पर रुमाल बांधे थे । इसी बीच उनके दुकान पर एक होमगार्ड आया तथा बोला कि रुमाल के स्थान पर मास्क लगाये । रजत ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा निर्देश का हवाला दिया । इसके बाद होमगार्ड चला गया ।

उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी सुरक्षा कर्मियों सहित उसके दुकान पर पहुँच गये

थोड़ी देर बाद उप जिलाधिकारी अशोक चौधरी सुरक्षा कर्मियों सहित उसके दुकान पर पहुँच गये । दुकान पर पहुँचने के साथ ही बदमिजाज एस डी एम ने भद्दी भाषा का प्रयोग शुरू कर दिया तथा लाठी लेकर स्वयं पिटाई करने लगे । युवक ने अपनी शिक्षा व नौकरी का हवाला दिया , लेकर इसका कोई असर नही पड़ा । इस घटना में रजत की दोनों अंगुली फट गई है । नाखून उखड़ गया है । हाथ में भी चोट लग गई है । उसके भाई आशु के दोनों हाथ भी जख्मी है । इसके बाद भी जब उप जिलाधिकारी का गुस्सा ठंडा नही हुआ तो उन्होंने रजत व उसके भाई आशु को अपने सरकारी वाहन से उभांव थाने पहुँचा दिया ।

उप जिलाधिकारी जिला मुख्यालय पर एक सरकारी बैठक हुई

इस घटना की दो वीडियो जब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगा तो उप जिलाधिकारी ने अपने सरकारी रुआब का प्रयोग कर रजत व उसके परिजनों से उभांव थाना में एक माफीनामा लिखवाया । घटना के बाद उप जिलाधिकारी जिला मुख्यालय पर एक सरकारी बैठक में पहुंचे । बैठक के दौरान बदमिजाज एस डी एम को जानकारी हुई कि उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने की कवायद चल रही है । इसके बाद एस डी एम ने पूरे मामले को दूसरा मोड़ देने की कोशिश शुरू कर दिया । एस डी एम ने इसके बाद बयान दिया कि युवकों ने उनके सुरक्षा में तैनात होमगार्ड कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया है , लेकिन एस डी एम अपने मकसद में कामयाब नही हो सके तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गाज तब तक उनपर गिर गई ।

फंसे सनकी SDM: शुरू हुए इनके बुरे दिन, लठियों से पीटा था मस्का लगाए हुए लोगों को

ये भी पढ़ें:खालिस्तान समर्थक ग्रुप के मेंबर मलकित सिंह की सुप्रीम कोर्ट से बेल याचिका खारिज

उप जिलाधिकारी चौधरी अपने बैरिया कार्यकाल से ही विवादों के घेरे में रहे हैं । बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह इनके विरुद्ध भ्रष्टाचार का गम्भीर आरोप लगाते रहे हैं । बैरिया क्षेत्र में कार्यरत पुलिस अधिकारियों ने एस डी एम के गलत कारगुजारी को लेकर हमेशा वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की । जिला प्रशासन ने अंततोगत्वा बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह के दबाव में उप जिलाधिकारी चौधरी का तबादला बैरिया से बिल्थरारोड किया । बिल्थरारोड में कामकाज संभालने के साथ ही एस डी एम चौधरी ने बहोरवां ग्राम की एक गड़ही पर कब्जे को लेकर जमकर तांडव किया । जमीन पर कब्जे के कई मामले को लेकर इन्होंने जमकर खेल किया । योगी सरकार के दिशा निर्देश से पूरी तरह से बेपरवाह एस डी एम चौधरी ने स्वयं को अपने सरकारी आवास तक ही सीमित रखा । किसी फरियादी के प्रार्थना पत्र को लेने तक से परहेज किया ।

अनूप कुमार हेमकर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story