Top

अफसरों ने मातहतों के कसे होते पेंच तो नहीं होता टीचर से गैंगरेप

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 2 Aug 2016 7:32 PM GMT

अफसरों ने मातहतों के कसे होते पेंच तो नहीं होता टीचर से गैंगरेप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेलीः टीचर से गैंगरेप की घटना के बाद जिस तरह पुलिस सक्रिय हुई, अगर वह हाइवे पर पेट्रोलिंग में इतनी सक्रियता बरतती तो वारदात को रोका जा सकता था। बुलंदशहर में हुई भयावह रेप की घटना के बाद हालांकि जानकारी मिलते ही अफसर हरकत में आए, पुलिसवाले भी बड़ी तादाद में दिखने लगे, लेकिन ये सब कवायद किसी काम की नहीं दिखी। बेहतर यही होता कि अफसर अपने मातहतों पर सख्ती बरतते होते, तो हाइवे पर बदमाश बेखौफ होकर गैंगरेप की ये वारदात नहीं कर पाते।

bareilly-gangrape1 घटनास्थल पर जांच करते अफसर और मातहत

और लगने लगा थाने पर अफसरों का जमावड़ा

एक तो सुबह की वारदात। ऊपर से पीड़िता और उसके घरवालों ने दोपहर करीब 3 बजे थाने में शिकायत दी। वारदात की जानकारी तुरंत फ्लैश हुई और हड़बड़ाए अफसरों का जमावड़ा सीबीगंज थाने में लगने लगा। करीब साढ़े 4 बजे सीओ थाने पहुंचीं। पौने 5 बजे एसपी सिटी समीर सौरभ भी थाने पहुंच गए। उनके बाद एसएसपी आरके भारद्वाज साढ़े 5 बजे थाने में गए और वारदात के बारे में जानकारी ली।

bareilly-gangrape2 घटनास्थल पर सबूतों की तलाश

घटनास्थल पहुंचने में देरी

शाम करीब 6 बजे अफसरों ने घटनास्थल का रुख किया। एक तो 8 घंटे बाद वारदात की जानकारी पुलिस को मिली, उस पर तीन घंटे मौका-ए-वारदात पर जाने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। 6 बजे एसएसपी घटनास्थल पर पहुंचे। उनके बाद करीब 7 बजे डीआईजी आशुतोष कुमार और 7 बजकर 20 मिनट के आसपास आईजी विजय सिंह मीणा मौके पर गए।

bareilly-gangrape5 वारदात के बारे में चर्चा करते अफसर

घटनास्थल को खंगाला

पुलिस अफसरों के साथ मातहतों और कॉन्सटेबलों की टीम भी घटनास्थल पर सबूत खंगालती रही। वहां से टीचर के पास रहे कुछ कागजात बरामद किए गए। बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस के अफसर सभी कदम उठाने की बात कह रहे हैं। रात को ही सीबीगंज एसओ को सस्पेंड भी कर दिया गया, लेकिन सवाल ये उठ रहा है कि जब बुलंदशहर में गैंगरेप की वारदात हुई और वहां बदमाशों ने हाइवे पर ही ऐसा किया तो फिर बरेली की पुलिस हाइवे पेट्रोलिंग करने में क्यों चूक गई।

bareilly-gangrape6 घटना के वक्त लापता पुलिस बाद में बड़ी तादाद में नजर आई

bareilly-gangrape9 अफसरों ने हर झाड़ी में जाकर बदमाशों से जुड़े सबूत तलाशे

bareilly-gangrape4 मौके पर पुलिस के हर आला अफसर की गाड़ियां दिखने लगीं

bareilly-gangrape8 अफसरों ने मातहतों से बदमाशों को पकड़ने की रणनीति पर भी चर्चा की

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story