Top

अखिलेश ने कहा- गर्व से कहो हम समाजवादी हैं, नारा लगा भारत माता की जय

Admin

AdminBy Admin

Published on 11 April 2016 10:14 AM GMT

अखिलेश ने कहा- गर्व से कहो हम समाजवादी हैं, नारा लगा भारत माता की जय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सीएम अखिलेश यादव के सामने सोमवार को एक कार्यक्रम में भारत माता की जय गूंज उठा। सीएम ने भाषण देते समय लोगों से कहा था- गर्व से कहो हम समाजवादी हैं, लेकिन राष्ट्रगान के बाद भारत माता की जय से हॉल गूंज उठा।

केजीएमयू के स्टूडेंट्स को संबोधित करने के बाद कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ हुआ। इसके बाद श्रोताओं में से किसी ने भारत माता की जय का नारा उछाला। इसके बाद पूरा हाल भारत माता की जय के नारे से गूंज उठा। सीएम अखिलेश यादव पहले हतप्रभ हुए और फिर मुस्कुरा दिए।

सीएम राजधानी के कन्वेंशन सेंटर में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के कार्डियोलॉजी विभाग के भवन के विस्तार का शिलान्यास कर रहे थे। सीएम ने सरकार के कामों का जिक्र करते हुए कहा कि हमें जनता के बीच जाना है। श्रोताओं से उन्होंने कहा कि आपको भी कहना पड़ेगा कि समाजवादी लोग और साइकिल चिन्ह वाले लोग यहां काम करते हैं।

केजीएमयू का नाम बदला तो मेरे ही पास आएंगे लोग : सीएम

-सीएम अखिलेश यादव ने अपने भाषण में बसपा का नाम लिए बिना कहा कि कहीं कोई और सरकार आ गई और कॉलेज का नाम बदलकर कुछ और कर दिया तो फिर आप लोग मेरे ही पास आएंगे।

-मायावती ने अपने कार्यकाल में इसका नाम बदल कर छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविधालय कर दिया था। उन्होंने सरकार के कामों का हवाला देते हुए कहा कि इसलिए गर्व से कहो कि हम समाजवादी हैं।

'गलती आप लोगों की है कि बजट के बाद बुलाया'

-सीएम अखिलेश यादव ने केजीएमयू के स्टाफ का वेतन पीजीआई के बराबर किए जाने की मांग का जिक्र करते हुए कहा कि गलती आप लोगों की है कि मुझे बजट के बाद बुलाया।

-अगर पहले बुलाया होता तो बजट में इसकी व्यवस्था करते। सीएम ने उनकी इस मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया।

'दो सरकारें चली गईं पर नहीं पूरा हुआ काम, उद्घाटन मैंने किया'

-सीएम ने भवन का शिलान्यास करने के बाद कहा कि उन्होंने भवन के निर्माण में बेड, इलेक्ट्रिक आईटम और अन्य सामान के लिए अलग से टेंडर न करने की सलाह दी थी क्योंकि जब नेताजी (मुलायम सिंह यादव) सीएम थे तो उन्होंने मेडिकल कालेज को एक बड़ा काम दिया था। पर उसके बनते-बनते दो सरकारें चली गईं और उसका उद्घाटन हमने किया। काम ऐसा हो कि कम से कम दिखाई दे।

'पद्मश्री मिलें पर एक ही यश भारती मिला'

-सीएम ने कहा- यहां के पढे़ लोग न केवल देश में बल्कि दुनिया में हैं, उनसे मिला हूं और वो कहते हैं कि आज मैं जो हूं वह केजीएमयू की वजह से हूं।

-केजीएमयू के वीसी डॉ. रविकांत का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस कॉलेज के लोगों को पद्म विभूषण ​मिला पर यशभारती सिर्फ एक ही मिला।

गांव में डॉक्टर नहीं : सीएम

सीएम अखिलेश यादव ने गांवों में डाक्टरों की कमी पर चिंता जाहिर करते हुए कहा ​कि गांवों में डॉक्टरों की कमी है। जब हम विपक्ष में थे तब भी सरकार से पूछते थे कि गांवों में डाक्टर कहां हैं और आजादी के बाद से यह चल रहा है। पर जब यह गांव में नहीं जाएंगे तो डॉक्टर बनेंगे कहां से।

ट्रैक पर लोग साइकिल चलाएं या न चलाएं पर बुजुर्ग दुआएं देंगे

सीएम ने साइकिल ट्रैक का जिक्र करते हुए कहा कि जिस इलाके में यह बनाया गया। वहां लोग साइकिल चलाएं या न चलाएं टहलने का काम करते हैं और सबसे ज्यादा दुआएं बुजुर्ग देंगे क्योंकि उन्हें टहलने का एक सुरक्षित रास्ता मिला है।

सीएम ने यह भी कहा

-मरीजों के साथ करें अच्छा व्यवहार। ताकि जब मरीज आएं तो उन्हें लगे कि उनकी बीमारी ठीक हो जाएगी।

-साइकिल ट्रैक बनाने वाले इंजीनियर ने ट्रैक बनाने में की थी गड़बड़ी।

-उससे साइकिल चलवाई तब इंजीनियर को समझ में आया कि कहां गड़बड़ी है।

-नेताजी ने शुरुआत की थी और हमने इसे आगे बढ़ाया है। समाजवादी सरकारों ने मेडिकल कालेज बढ़ाए हैं।

-लेकिन अभी हमें गरीबों तक पहुंचना है। कुछ ऐसे भी है जो समाज और राजनीति के माध्यम से समस्या पैदा कर रहे हैं।

Admin

Admin

Next Story