बीजेपी विधायक का पुलिस पर निर्दोष को जेल भेजने का आरोप

दरअसल 20 सितम्बर को भर्थना से बीजेपी विधायक को एक अनजान फोन पर जान से मारने की धमकी दी गयी थी जिसकी शिकायत विधायक ने एसएसपी से की थी। विधायक की तहरीर पर थाना चकरनगर में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

इटावा। भर्थना विधानसभा से भाजपा विधायक ने पुलिस पर निर्दोष को जेल भेजने का आरोप लगाते हुए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं।

भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया ने इटावा पुलिस द्वारा निर्दोष को जेल भेजने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और डीजीपी से करने की बात कही है।

दरअसल 20 सितम्बर को भर्थना विधायक को एक अनजान फोन पर जान से मारने की धमकी दी गयी थी जिसकी शिकायत विधायक ने एसएसपी से की थी। विधायक की तहरीर पर थाना चकरनगर में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

इसके बाद पुलिस ने मध्यप्रदेश जनपद के भिंड निवासी मटरू सुंदरम को आरोपित बनाकर जेल भेज दिया और वाह वाही बटोर ली, लेकिन आज न्यायालय से जमानत मिलने के बाद जेल जाने वाले युवक मटरू ने विधायक से जाकर मुलाकात की और अपने आपको निर्दोष बताते हुए पुलिस द्वारा मारपीट करने के बाद जेल भेजने की बात बताई।

पुलिस द्वारा आरोपित बनाए गए युवक की आपबीती सुनकर बीजेपी विधायक ने अपने जनपद की पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए प्रेस वार्ता में कहा कि उन्हें धमकी देने वाला शख्स कोई और है। पुलिस ने मामले को शांत करने के लिए गरीब युवक को गिरफ्तार कर मारपीट कर जेल भेज दिया है जिसकी जानकारी उन्हें आज हुई है। अब वह इटावा पुलिस के कारनामों की शिकायत स्वयं डीजीपी और मुख्यमंत्री से मिलकर करेंगी और पीड़ित को न्याय दिलवाएंगी।

पुलिस द्वारा आरोपी बनाए गए युवक मटरू ने बताया कि आजतक बीजेपी विधायक को फोन नहीं किया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर मुँह में कपड़ा ठूंसकर मारते पीटते हुए जेल भेज दिया था जब उसकी जमानत हुई तब वह विधायक से मिलकर उन्हें सच्चाई से अवगत करवाने आया है।