×

यूपी शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़ा, कौन हैं लंदन वाली प्रियंका, जिनके नाम पर दूसरी महिला सालों से उठा रही लाखों की सैलरी

Big fraud of UP education department: लंदन वाली प्रियंका के नाम और अभिलेखों के आधार पर फर्जी नौकरी करने वाली प्रियंका (London waali priyanka) को नौकरी से किया गया बर्खास्त कर दिया है।

London waali priyanka
X

लंदन वाली प्रियंका (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Big fraud of UP education department: लंदन वाली प्रियंका के नाम और अभिलेखों के आधार पर फर्जी नौकरी करने वाली प्रियंका (London waali priyanka) को नौकरी से किया गया बर्खास्त कर दिया है। साल 2015-16 में उर्दू की सहायक अध्यापिका के पद मिर्जापुर जिले में फर्जीवाड़े के तहत पाई थी नौकरी। मामले का पता चलने पर लंदन वाली प्रियंका के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज की, जिसके आधार पर हुई जांच में सरकारी शिक्षक भर्ती का फर्जीवाड़ा सामने आया है, जिसके आधार पर जिला विद्यालय निरीक्षक ने जिला कोतवाली में मामला दर्ज करवाया है।

आपने फर्जीवाड़े के अनेकों मामले सुने और देखें होंगे लेकिन उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जनपद के यह मामला सबसे अलग है। इस मामले के तहत एक महिला ने उसी के नाम की दूसरी महिला के अभिलेखों और नाम का फर्जी इस्तेमाल कर 6 साल तक शिक्षिका के रूप में सरकारी नौकरी का सुख भोगा। इतना ही नहीं उसने इस दौरान फर्जीवाड़े के तहत पाई गई नौकरी में ₹35 लाख से अधिक की तनख्वाह भी सरकार से उठाई।

जानें पूरा मामला-

लंदन में रहने वाली प्रियंका के अभिलेख पर उन्हीं की हमनाम का मिर्जापुर में शिक्षक की नौकरी करने के प्रकरण का राजफाश बीते 24 फरवरी को होने के बाद शिक्षा विभाग में एक बार फिर हड़कंप मच गया है।

आपको बता दें कि प्रियंका प्रजापति लंदन में अपना परिवार संभाल रही थी और यहां मिर्जापुर में उनके कागजात का इस्तेमाल कर एक दूसरी महिला बीते छह वर्षाें से नौकरी कर रही थी। दरअसल, यह प्रकरण और फर्जीवाड़े का मामला विध्याचल मंडल में अभिलेखों के सत्यापन के दौरान पकड़ में आया है।

लंदन वाली प्रियंका के पिता ने पुलिस अधीक्षक कन्नौज से शिकायत करके आरोपितों पर कार्रवाई की मांग की थी। शिक्षा निदेशक माध्यमिक विनय कुमार पांडेय के निर्देश पर संयुक्त शिक्षा निदेशक कामताराम पाल के नेतृत्व में मंडलीय उप शिक्षा निदेशक व डीआइओएस मीरजापुर सत्येंद्र कुमार सिंह की तीन सदस्यीय समिति प्रियंका प्रकरण की जांच की थी।

लंदन वाली प्रियंका के पिता ने दर्ज की शिकायत

विध्यांचल मंडल में वर्ष 2015-16 में आयोजित भर्ती में शिक्षिका प्रियंका की उर्दू विषय में सहायक अध्यापक पद पर भर्ती हुई थी। इस दौरान हाल ही में कन्नौज जिले के बालाजी नगर तिर्वा रोड नसरापुर निवासी मनोज कुमार प्रजापति ने पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर शिकायत करते हुए कि कहा कि उनकी बेटी प्रियंका के शैक्षणिक कागजात पर एक महिला प्रियंका राजकीय बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भरपुरा पहाड़ी मिर्जापुर में नौकरी कर रही है। संयुक्त शिक्षा निदेशक द्वारा शैक्षणिक कागजातों के सत्यापन के दौरान प्रकरण की जानकारी हुई।

मनोज कुमार प्रजापति के मुताबिक उनकी बेटी प्रियंका प्रजापति की शादी 14 फरवरी 2014 को अश्वनी कुमार निवासी- पंचवटी, विनायकपुर, कानपुर के साथ हुई है तथा वह मार्च 2019 से लंदन में रह रही हैं। उनके शैक्षणिक अभिलेख उनके पास हैं।

पिता की तहरीर पर की गई जांच में शिकायत सही मिली। जांच के आधार पर डीआईओएस ने स्थानीय कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है, जिसके आधार पर पुलिस की एक टीम जांच कर रही है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story