×

Lucknow: KGMU में डॉक्टरों की होगी बायोमेट्रिक अटेंडेंस, कर्मचारी परिषद के 12 पदों के लिए नामांकन

Lucknow News: राजधानी के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्विद्यालय (KGMU) में अब डॉक्टरों की उपस्थिति बायोमैट्रिक सिस्टम से होगी। हालांकि, डॉक्टरों में इस बात को लेकर नाराज़गी भी है।

Shashwat Mishra
Updated on: 19 May 2022 4:19 PM GMT
Nomination of 34 candidates for 12 posts of Biometric Attendance Staff Council of doctors in KGMU
X

KGMU में डॉक्टरों की होगी बायोमेट्रिक अटेंडेंस: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: राजधानी के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्विद्यालय (KGMU) में अब डॉक्टरों की उपस्थिति बायोमैट्रिक सिस्टम (biometric system) से होगी। हालांकि, डॉक्टरों में इस बात को लेकर नाराज़गी भी है। लेकिन, अब मशीनों को अलग-अलग विभागों में लगाना शुरू कर दिया है। वहीं, कर्मचारी परिषद (workers Council) के 28 मई को होने वाले चुनावों को लेकर मंगलवार को नामांकन व चुनाव चिन्ह बांटा गया।

12 पदों के लिए 34 प्रत्याशियों का नामांकन

कर्मचारी परिषद के चुनावों के लिए नामांकन हो चुका है। 12 पदों पर 28 मई को होने वाले चुनावों के लिए 34 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया है। मंगलवार को नामांकन एवं चुनाव चिन्ह आवंटन की प्रक्रिया सुबह 11:00 बजे से कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के चुनाव कार्यालय में चीफ प्रॉक्टर डॉ. क्षितिज श्रीवास्तव, मुख्य चुनाव अधिकारी एसए अब्बास एवं सह-चुनाव अधिकारी राकेश कुमार की उपस्थिति में सम्पन्न हुई।


केजीएमयू में हैं 450 से अधिक डॉक्टर

गौरतलब है कि केजीएमयू में 450 से अधिक डॉक्टर व 3000 नियमित कर्मचारी हैं। जिनकी शिकायतें व मनमाने रवैया से चिकित्सा विश्विद्यालय प्रशासन बहुत त्रस्त है। जिसके मद्देनजर, राज्यपाल को प्रस्ताव भेजकर केजीएमयू में बॉयोमैट्रिक तकनीक से उपस्थिति दर्ज कराने के लिए, अनुमोदन लिया गया।


डॉक्टरों में है रोष

एक डॉक्टर ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि इस फैसले को लेकर सभी डॉक्टरों में नाराजगी है। डॉक्टरों का मानना है कि वह सुबह से ही मरीजों के हित में कार्य करते हैं। और ड्यूटी से ज्यादा समय अस्पताल में देते हैं। साथ ही, कई ऐसे कार्य हैं जो वह अपनी जॉब प्रोफाइल (job profile) के इतर भी करते हैं। ऐसे में बायोमेट्रिक अटेंडेंस डॉक्टरों के लिए चिंता का सबब बन सकता है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story