Top

मेरठः भाजपा नेता पर फायरिंग, दोषी पुलिसवालों पर कार्रवाई की मांग

उत्तर प्रदेश के शामली जनपद में स्थानीय भाजपा नेता अश्वनी पंवार पर हुए पुलिस के कथित हमले का मामला तूल पकड़ने लगा है।

Meerut Sushil Kumar

Meerut Sushil KumarReport By Meerut Sushil Kumar

Published on 8 April 2021 10:11 AM GMT

मेरठः भाजपा नेता पर फायरिंग, दोषी पुलिसवालों पर कार्रवाई की मांग
X

photos (social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ। उत्तर प्रदेश के शामली जनपद में स्थानीय भाजपा नेता अश्वनी पंवार पर हुए पुलिस के कथित हमले का मामला तूल पकड़ने लगा है। भाजपा के जिलाध्यक्ष सतेन्द्र तोमर ने घटना की गहरी निन्दा करते हुए कहा कि कल हम संगठन कार्य से बाहर थे। आज इस मामले में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद एसपी शामली से मिलकर घटना में शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि घटना की अभी तक जो वीडियों फुटेज सामने आई है उनमें शामली एसओजी सीधे-सीधे भाजपा नेता अश्वनी पंवार पर जानलेवा फायरिंग करते दिख रहे हैं। उन्होंने बताया कि अश्वनी पंवार जिला भाजपा कमेटी के विशेष आमन्त्रित सदस्य हैं। नगर पंचायत के दो बार प्रत्याशी रह चुके हैं।

अश्वनी पंवार ने एसओजी पर हमला करने व मारपीट के गंभीर आरोप लगाए

उधर एसपी शामली सुकीर्ति माधव ने बातचीत में कहा कि एलम निवासी अश्वनी पंवार ने जो कि कभी चेयरमैन का चुनाव लड़े हैं। लेकिन बीजेपी के एक्टिव नेता नहीं हैं। अश्वनी पंवार ने एसओजी पर हमला करने व मारपीट के गंभीर आरोप लगाए हैं। पूरे मामले की जांच एएसपी को सौंपी गई है। सीसीटीवी फुटेज और अन्य साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। रिपोर्ट आने पर जो भी सत्य होगा उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। एसपी शांमली ने बताया कि प्रारंभिक जांच के आधार पर इतना ही बताया जा सकता है कि पेट्रोल पंप के पास इनकी गांड़ी खड़ी थी। गाड़ी का नम्बर हरियाणा का है। इनको रोका गया है। जिसके बाद इनके द्वारा बहुत तेज गाड़ी भगाई गई।

अधीक्षक सुकीर्ति माधव

बता दें कि कांधला थाना क्षेत्र के कस्बा एलम निवासी अश्वनी पंवार पुत्र स्व. राजवीर सिंह ने अपने परिवारजनों व अन्य के साथ बुधवार को शामली में पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव से मुलाकात कर प्रार्थना सौंपा है। पत्र में अश्वनी पंवार ने बताया कि उसके पिता राजबीर सिंह व माता राजबीरी देवी नगर पंचायत एलम से चेयरमैन रह चुके हैं जबकि वह भी भाजपा के सिंबल पर एलम में चेयरमैन पद का चुनाव लड़ चुका है।

photos (social media)

भाजपा नेता अश्वनी पंवार ने बताया कि मंगलवार की रात को करीब आठ बजे वह अपने परिवारजनों के साथ गाड़ी एटयोस में सवार होकर रिश्तेदार से मिलने व खाना खाने कांधला गया था। कांधला में हाइवे पर उन्होंने गाड़ी में पेट्रोल लिया और कार्ड से पेमेंट की। जब वह थोड़ा आगे एक ठेली पर फल खरीद रहे थे तो ठेली वाले ने बताया कि गाड़ी पर स्वैप मशीन रखी है। इसके बाद अश्वनी यू टर्न लेकर डिवाइडर के दूसरी तरफ जाकर रुका और पेट्रोल पंप के सेल्समैन को आवाज लगाकर स्वैप मशीन दे दी।

अश्वनी का आरोप है कि इसी दौरान सामने कुछ लोग जो एसओजी व पुलिसकर्मी हो सकते हैं, पहुंचे तथा उन्हें घेर लिया तथा गाली गलौज करते हुए फायरिंग कर दी। फायर होते ही अश्वनी व अन्य गाड़ी लेकर सामने की तरफ भागने लगे और उक्त लोग भी उनके पीछे थे। रास्ते में हमने देखा कि एक युवक सचिन के हाथ में गोली लगी और वह गंभीर रूप से घायल है।

घायल सचिन को मुजफ्फरनगर रैफर कर दिया

परिजनों ने घायल सचिन को पहले कांधला और वहां से मुजफ्फरनगर रैफर कर दिया। अश्वनी का कहना है कि तभी पीछे से कांधला थाने के दरोगा आए और अश्वनी को गाड़ी में बैठाकर अपने साथ ले गए। अश्वनी का आरोप है कि वहां पर उसे यातनाएं दी गई। अगले दिन सुबह उसे गांव में छोड़ा गया। अश्वनी का आरोप है कि उसे झूठे अभियोग में फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। अश्वनी पंवार ने पूरे मामले से भाजपा के आला नेताओं को भी अवगत कराया है।

बदमाश विनय उर्फभटकू

भाजपा नेता अश्वनी पंवार के पिता राजवीर सिंह की साल 2005 में हत्या कर दी गई थी। इस हत्या समेत अन्य मामलों में इकलौता होने के चलते अश्वनी पंवार ही पैरोकार है। अश्वनी के पिता राजबीर सिंह व मां राजबीरी देवी नगर पंचायत एलम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। वर्ष 2017 में भाजपा के सिंबल पर चुनाव लड़े अश्वनी पंवार भी 100-150 मतों के अंतर से हार गए थे। अश्वनी के पिता की हत्या में पूर्व विधायक के संरक्षण में जनपद के नामी बदमाश विनय उर्फभटकू द्वारा अंजाम देने के आरोप लगे थे। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shraddha

Shraddha

Next Story