Top

पंचायत चुनाव: 7 सीटों पर भाजपा को मिली हार, 1 सीट पर सांसद के करीबी ने बाजी मारी

बीकापुर विधानसभा की जिला पंचायत की 7 सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों की हार, एक सीट पर सांसद के करीबी की जीत।

NathBux Singh

NathBux SinghReporter NathBux SinghMonikaPublished By Monika

Published on 4 May 2021 2:30 PM GMT

BJP lost 7 seats, in one seat close to MP won
X

पंचायत चुनाव (फोटो: सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या: बीकापुर विधानसभा की जिला पंचायत की 7 सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों की हार (BJP lost 7 seats), एक सीट पर सांसद के करीबी की जीत के होने के बाद बीकापुर विधानसभा की विधायक श्रीमती शोभा सिंह चौहान एवं उनके प्रतिनिधि उनके पुत्र अमित सिंह चौहान के भविष्य को लेकर अटकलें लगाना शुरू हो गई है।

बीकापुर विधानसभा क्षेत्र की विधायिका श्रीमती शोभा सिंह चौहान (Smt. Shobha Singh Chauhan) त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (up panchayat election) को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के घोषित जिला पंचायत सदस्यों के प्रत्याशियों को जिताने के लिए क्षेत्र में भागदौड़ तो काफी किया जिसके चलते सफलता उनके हाथ में है। यह उनकी साडे 4 वर्ष की लोकप्रियता का पैमाना माना जा रहा है कि साढे 4 वर्ष के कार्यकाल में श्रीमती शोभा सिंह चौहान का राजनीतिक पारा कितना ऊपर-नीचे आया है यह स्वयं चुनाव परिणाम ही साबित कर रहा है।

विधायक श्रीमती शोभा सिंह चौहान (फोटो: सोशल मीडिया )

बताया जाता है टिकट वितरण में विधायक श्रीमती शोभा सिंह चौहान की सहमति पर ही उनके विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशियों का चयन किया गया था। लेकिन उसमें से जीत हासिल करने वालों में कोई खरा नहीं उतर सका । एक सीट पर पार्टी प्रत्याशी का जीतना भी सांसद की मनपसंद बताया जा रहा है, क्योंकि उनके गृह क्षेत्र और उनके शुभचिंतक को टिकट प्रदान किया गया था।

विधानसभा का सेमीफाइनल चुनाव

चुनाव के दौरान ही यह सवाल उठने लगे थे कि यह विधायक की प्रतिष्ठा का सवाल है, इसमें वह कितना सफल होंगी यह तो चुनाव परिणाम ही बताएगा। चुनाव परिणाम आने के बाद विधायक का श्रीमती शोभा सिंह की प्रतिष्ठा बच ना सकी इस चुनाव को फिलहाल राजनीतिक पार्टियों ने विधानसभा का सेमीफाइनल चुनाव मानकर चुनाव लड़ा था। जिसमें भारतीय जनता पार्टी को पूरे जिले में करारी हार का सामना करना पड़ा है। यही नहीं बीकापुर विधानसभा में तो भारतीय जनता पार्टी की साख को करारा झटका लगा है जिस पर पार्टी के नेतृत्व को विधानसभा के चुनाव मैं प्रत्याशी चयन को लेकर काफी कसम कसा करना पड़ सकता है ।

बीकापुर विधानसभा क्षेत्र में पार्टी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा, भी पार्टी प्रत्याशियों का हार का कारण बना है। यही नहीं विधायिका श्रीमती शोभा सिंह चौहान के स्वयं के ग्रह ग्राम सभा में पार्टी के पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रधान पद का चुनाव लड़ रही थी उनके खिलाफ विद्रोही प्रत्याशी मैदान में उतारकर उन्हें हराने का श्रेय भी क्षेत्र के लोग विधायक प्रतिनिधि डॉ अमित सिंह चौहान के ऊपर दे रहे हैं के क्रियाकलाप से पार्टी के कार्यकर्ताओं में काफी असंतोष था जो चुनाव परिणाम में स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ा।

Monika

Monika

Next Story