×

UP Election 2022: भाजपा की नजर महिला मतदाताओं पर, वोट हासिल करने के लिए बनाई विशेष रणनीति

UP Election 2022: देश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में भाजपा (Bhartiya Janata Party) ने महिला मतदाताओं का समर्थन हासिल करने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है। पार्टी की ओर से महिलाओं का मतदान बढ़ाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

UP Election 2022: BJPs eyes on women voters, special strategy made to get votes
X

भाजपा की नजर महिला मतदाताओं पर: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में आधी आबादी की भूमिका काफी अहम मानी जा रही है। कांग्रेस (Congress Party News) की ओर से 40 फ़ीसदी टिकट महिलाओं को देने के साथ 'लड़की हूं लड़ सकती हूं', का नारा भी दिया गया है मगर संगठनात्मक कमजोरी और प्रभावी नेतृत्व न होने के कारण पार्टी इसका फायदा उठाती नहीं दिख रही है। दूसरी और भाजपा (Bhartiya Janata Party) ने महिला मतदाताओं का समर्थन हासिल करने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है। पार्टी की ओर से महिलाओं का मतदान बढ़ाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

भाजपा की महिला नेताओं (BJP women leaders) के साथ विभिन्न राज्यों से पहुंची महिला नेताओं और कार्यकर्ताओं को महिलाओं से संवाद करने और उनकी बैठक आयोजित करने के काम में लगाया गया है। पार्टी का मानना है कि महिला मतदाताओं का समर्थन पार्टी प्रत्याशियों की जीत के लिए काफी अहम साबित होगा।

भाजपा को पहले भी मिला है सियासी फायदा

2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव (2014 -2019 Lok Sabha Elections) और 2017 के विधानसभा चुनाव (UP Election 2017) में भाजपा को मिली बड़ी जीत के पीछे महिला मतदाताओं का समर्थन भी काफी अहम माना जाता रहा है। इस बार भी पार्टी ने महिलाओं का समर्थन हासिल करने के लिए पूरा जोर लगा रखा है।

Photo - Social Media

पार्टी नेताओं का मानना है कि केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से चलाई गई विभिन्न लाभार्थी योजनाओं का सबसे ज्यादा फायदा महिलाओं को ही मिला है। इस कारण पार्टी महिला मतदाताओं का समर्थन हासिल करने की कोशिश जुटी हुई है। महिला मतदाताओं के बीच पैठ बनाने के लिए महिला विंग से जुड़ी महिलाओं के साथ ही महिला संगठनों से जुड़ी प्रतिनिधियों की मदद भी ली जा रही है। पार्टी का मानना है कि महिलाओं का समर्थन प्रत्याशियों की जीत हार में गेमचेंजर साबित होगा।

योजनाओं का सबसे ज्यादा लाभ महिलाओं को

पांच राज्यों के चुनाव में भाजपा के लिए उत्तर प्रदेश का चुनाव (Uttar Pradesh Election 2022) सबसे अहम माना जा रहा है और यही कारण है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने पूरी ताकत इसी सूबे में झोंक रखी है। पार्टी नेताओं का मानना है कि केंद्र सरकार की ओर से चलाई गई विभिन्न लाभार्थी योजनाओं का सबसे ज्यादा फायदा महिलाओं को ही मिला है। उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, शौचालय निर्माण और जनधन खातों की वजह से महिलाओं को काफी फायदा मिला है और अब पार्टी चुनावों में इसे कैश करने की कोशिश में जुटी हुई है।

यही कारण है कि पार्टी ने महिलाओं का मतदान बढ़ाने के लिए पूरी ताकत लगा रखी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के साथ ही पार्टी के अन्य नेताओं की ओर से विभिन्न जनसभाओं में केंद्र सरकार की योजनाओं का जिक्र जरूर किया जाता है। इसके पीछे पार्टी नेताओं की सोची समझी रणनीति है। इसके जरिए पार्टी महिलाओं का समर्थन हासिल करने की कोशिश में जुटी हुई है।

मतदान में महिलाओं ने दिखाया उत्साह

जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं उनमें पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में महिलाओं ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है। उत्तराखंड में तो महिलाओं का मतदान प्रतिशत पुरुषों से 4.60 फ़ीसदी ज्यादा रहा है। उत्तराखंड में 65.37 फ़ीसदी मतदान हुआ है और इसमें पुरुषों का मतदान प्रतिशत 62.60 फ़ीसदी रहा है जबकि महिला मतदाताओं ने 67.20 फ़ीसदी मतदान किया है। इससे समझा जा सकता है कि उत्तराखंड के चुनावी नतीजे में महिलाओं की भूमिका कितनी बड़ी होगी।

पंजाब के विधानसभा चुनाव (Punjab assembly elections 2022) में भी महिलाओं ने मतदान के प्रति जबर्दस्त उत्साह दिखाया है और वे इस मामले में पुरुषों से पीछे नहीं रही। दोनों ने करीब बराबर ही मतदान किया है। पुरुषों का मतदान प्रतिशत 71.99 फ़ीसदी रहा जबकि महिलाओं ने भी 71.90 फ़ीसदी मतदान किया है। उत्तराखंड (Uttarakhand) और पंजाब (Punjab) दोनों ही राज्यों में इस बार कड़े मुकाबले को देखते हुए समझा जा सकता है कि महिलाएं निर्णायक भूमिका निभाने वाली साबित होंगी। इसी तरह गोवा (Goa assembly elections 2022) में भी महिला मतदाताओं ने जबर्दस्त उत्साह दिखाया है। यही कारण है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की ओर से महिलाओं के ऊपर विशेष फोकस किया जा रहा है।

Photo - Social Media

महिला मतों के लिए पार्टी की विशेष रणनीति

उत्तर प्रदेश में 4 चरणों के मतदान का काम पूरा हो चुका है इन चार चरणों में भी महिलाओं को बूथ तक लाने के लिए पार्टी ने सक्रियता दिखाई है। अब बाकी के तीन चरणों में भी महिला मतदाताओं को लेकर विशेष रणनीति बनाई गई है। विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रभारियों की टीम में भी तीन महिला नेताओं को शामिल किया गया है। दूसरे राज्यों से भी भाजपा से जुड़ी तमाम महिलाओं को उत्तर प्रदेश बुलाया गया है और दूसरे राज्यों से आई महिलाएं भी यहां महिला मतदाताओं का समर्थन हासिल करने में बड़ी भूमिका निभाने की कोशिश में जुटी हुई हैं।

विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में महिलाओं की अलग से बैठकों का आयोजन किया जा रहा है और इन बैठकों में महिला सुरक्षा (women safety) और केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी देकर उनका समर्थन हासिल करने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी भी महिला मतदाताओं पर विशेष जोर दे रही हैं मगर पार्टी प्रत्याशियों के मजबूत स्थिति में न होने के कारण भाजपा इसे लेकर ज्यादा चिंतित नहीं है। भाजपा नेताओं का मानना है कि कांग्रेस के लड़ाई में पिछड़ जाने के कारण महिलाओं का झुकाव भाजपा की ओर ही होगा।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2022

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story