×

BJP Mission 2024: उत्तर प्रदेश पर भाजपा का विशेष फोकस,सीआर पाटिल को राज्य का प्रभारी बनाने की तैयारी

BJP Mission 2024: माना जा रहा है कि इस महीने के आखिर तक उत्तर प्रदेश के लिए भाजपा की नई टीम का ऐलान किया जा सकता है।

Anshuman Tiwari
Written By Anshuman Tiwari
Published on: 19 Jan 2023 8:43 AM GMT
CR Patil
X

CR Patil (photo: social media )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

BJP Mission 2024: भारतीय जनता पार्टी की हाल में हुई दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक नौ राज्यों के विधानसभा चुनावों और 2024 के लोकसभा चुनावों को लेकर गंभीर मंथन किया गया है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद मिशन 2024 के लिए भाजपा का विशेष फोकस उत्तर प्रदेश पर है। माना जा रहा है कि इस महीने के आखिर तक उत्तर प्रदेश के लिए भाजपा की नई टीम का ऐलान किया जा सकता है।

जानकारों का कहना है कि सबसे बड़ा बदलाव उत्तर प्रदेश के प्रभारी को लेकर किया जा सकता है। गुजरात में हाल में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को ऐतिहासिक जीत दिलाने में प्रमुख भूमिका निभाने वाले गुजरात प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया जा सकता है। पाटिल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का करीबी माना जाता है। ऐसे में माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें सियासी नजरिए से सबसे अहम माने जाने वाले उत्तर प्रदेश के प्रभारी की जिम्मेदारी सौंप सकती है। पार्टी नेतृत्व की ओर से जल्द ही इस बाबत ऐलान किए जाने की संभावना है।

मिशन 2024 में जुटी भाजपा

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समापन भाषण से साफ हो गया कि पार्टी 2024 के लोकसभा चुनाव को कितना महत्व दे रही है। प्रधानमंत्री मोदी का पूरा भाषण मिशन 2024 पर केंद्रित रहा। इस दौरान उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को घर-घर दस्तक देने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि अब अब इस सोच से काम नहीं चलने वाला है कि मोदी आएंगे और हम जीत जाएंगे। प्रधानमंत्री के भाषण से साफ हो गया कि पार्टी नेतृत्व मिशन 2024 को कितना महत्व दे रहा है।

सियासी हलकों में माना जाता रहा है कि उत्तर प्रदेश में जीत हासिल करने वाला ही दिल्ली की सत्ता पर राज करता है। उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटें होने के कारण भाजपा नेतृत्व की ओर से मिशन 2024 में प्रदेश को सबसे ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा पूर्वांचल के गाजीपुर से कल मिशन 2024 की शुरुआत भी करने वाले हैं।

पाटिल को यूपी में अहम जिम्मेदारी के संकेत

उत्तर प्रदेश में मिशन 2024 की तैयारियों के सिलसिले में गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सीआर पाटिल को अहम जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। पार्टी उत्तर प्रदेश में बड़ी जीत हासिल करने के लिए उन्हें प्रदेश का प्रभारी बना सकती है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि उन्हें केंद्रीय संगठन में शामिल करके या केंद्र में मंत्री बनाने के बाद उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

वैसे अनुराग ठाकुर का नाम भी रेस में शामिल बताया जा रहा है मगर पाटिल को पार्टी नेतृत्व की पहली पसंद माना जा रहा है। पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का करीबी होने के कारण भी पाटिल का पलड़ा सबसे ज्यादा भारी माना जा रहा है। जानकारों का मानना है कि पार्टी नेतृत्व की ओर से जल्द ही इस दिशा में कदम उठाया जा सकता है।

गुजरात में भाजपा को दिलाई ऐतिहासिक जीत

पाटिल का नाम तय किए जाने के पीछे विशेष कारण माना जा रहा है। पाटिल की देखरेख में इस बार भाजपा ने गुजरात के विधानसभा चुनाव में 156 सीटों पर जीत की ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। 2017 के चुनाव में 99 सीटों पर जीतने वाली भाजपा को इस बार 57 सीटों का फायदा हुआ है। गुजरात में अभी तक भाजपा ने 2002 में सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। 2002 में नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और उनकी अगुवाई में पार्टी ने 127 सीटों पर जीत हासिल की थी। इस बार पार्टी इस आंकड़े से काफी आगे निकल गई है।

गुजरात में विधानसभा की 182 सीटें हैं और इनमें 156 सीटों पर जीत हासिल करना भाजपा की ऐतिहासिक उपलब्धि माना जा रहा है। भाजपा इस बार कांग्रेस का सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। कांग्रेस ने 1985 के विधानसभा चुनाव में 149 सीटें जीत का रिकॉर्ड बनाया था जिसे भाजपा ने इस बार तोड़ दिया है।

पाटिल ने किया था नया प्रयोग

महाराष्ट्र के जलगांव में जन्मे और गुजरात को कर्म भूमि बनाने वाले पाटिल ने अपने संसदीय क्षेत्र में अनूठे प्रयोगों के जरिए सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। गुजरात प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद पाटिल ने अपने संसदीय क्षेत्र में पन्ना समिति के अभिनव प्रयोग को गुजरात की सभी विधानसभा सीटों पर लागू किया। इस प्रयोग के तहत मतदाता सूची के हर पृष्ठ के लिए एक समिति बनाई गई और 4 से 5 मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने की जिम्मेदारी एक कार्यकर्ता को सौंपी गई। यह प्रयोग काफी सफल रहा है जिसके जरिए पार्टी ने गुजरात में बड़ी जीत हासिल की है।

यूपी के जरिए फिर बड़ी जीत की तैयारी

अब पाटिल के जरिए भाजपा उत्तर प्रदेश में भी बड़ी सियासी जीत हासिल करने का सपना देख रही है। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काशी से चुनाव लड़ने के समय भी पाटिल ने प्रमुख भूमिका निभाई थी। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को बड़ी जीत दिलाने में उत्तर प्रदेश की प्रमुख भूमिका रही है और अब पार्टी 2024 की सियासी जंग जीत कर लगातार तीसरी बार केंद्र की सत्ता हासिल करने की रणनीति बना रही है। इसी कड़ी में पार्टी नेतृत्व सीआर पाटिल को बड़ी जिम्मेदारी सौंपने की रणनीति बना रहा है।

Monika

Monika

Next Story