×

बीजेपी के विधायक ने डॉक्टर को सरेआम धमकाया, इस्तीफे के बाद बढ़ा बवाल

यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी विधायक की दबगंई का मामला सामने आया है। जहां एक कैंप के दौरान विधायक पर जबरन सर्टिफिकेट बनवाने का आरोप लगा है। जब डाक्टर ने विधायक की मांग मानने से इंकार कर दिया तो विधायक पर डाक्टर को धमकाने का आरोप लगा है। इसी बात से नाराज डाक्टर ने इस्तीफा दे दिया है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 29 Jan 2019 4:17 PM GMT

बीजेपी के विधायक ने डॉक्टर को सरेआम धमकाया, इस्तीफे के बाद बढ़ा बवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर : यूपी के शाहजहांपुर में बीजेपी विधायक की दबगंई का मामला सामने आया है। जहां एक कैंप के दौरान विधायक पर जबरन सर्टिफिकेट बनवाने का आरोप लगा है। जब डाक्टर ने विधायक की मांग मानने से इंकार कर दिया तो विधायक पर डाक्टर को धमकाने का आरोप लगा है। इसी बात से नाराज डाक्टर ने इस्तीफा दे दिया है। डाक्टर के इस्तीफा देते ही कैंप मे हङकंप मच गया और मान मनौवल का दौर शुरू हो गया। फिलहाल अभी इस मामले मे मीटिंग का दौर शुरू हो गया है।

ये भी देखें :बोले अमित शाह- कांग्रेस ने केवल ‘ओनली राहुल, ओनली प्रियंका’ दिया

दरअसल आज निगोही ब्लाक मे मेडिकल कैंप चल रहा था। जिसमे आई स्पेशलिस्ट डाक्टर आदित्य आर्या भी पहुचे थे। कैंप मे काफी भीड़ थी। तभी तिलहर विधानसभा के बीजेपी विधायक रोशनलाल वर्मा ने दो लोगो को कैंप मे भेजा। जहां उनकी आंखो की जांच करने के लिए बोला था। डाक्टर आदित्य आर्या ने एक महिला और एक पुरूष आंखो की जांच की तो उसमे डाक्टर ने तीस पर्सेंट की जांच रिपोर्ट बनाई। आरोप है कि विधायक 50 पर्सेंट की जांच रिपोर्ट बनाने का दबाव बनाने लगे। लेकिन डाक्टर ने मना कर दिया। उसके बाद विधायक खुद कैंप कार्यालय पहुच गए और कैंप मे सार्वजनिक तौर पर डाक्टर को धमकाने लगे। इसी बात से नाराज डाक्टर ने सीएमओ को इस्तिफा सौप दिया। जब डाक्टर की इस्तिफा की खबर स्वास्थ विभाग मे फैली तो हङकंप मच गया। लेकिन अब डाक्टर दोबारा कार्य करने की बात से इंकार कर रहे हैं। वही विधायक इस मामले पर कुछ भी बोलने से इंकार कर रहे हैं। हालांकि मामला बीजेपी विधायक से जुङा होने के कारण अब मान मनौवल का दौर शुरू हो गया है।

ये भी देखें :यहां लगे ‘एक शेर सौ गठबंधन, फिर आएगी मोदी सरकार’ के पोस्टर

सीएमओ आरपी रावत का कहना है कि डाक्टर ने इस्तिफा दिया था। लेकिन अभी इसी मामले मे मीटिंग की जा रही है। मीटिंग के बाद क्या सामने निकल कर आता है। मीटिंग के बाद बताएंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story