×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

Brij Bhushan Singh: बृजभूषण ने बुलडोजर एक्शन के खिलाफ, योगी का विरोध कर क्या कहीं और रास्ता देख रहे BJP सांसद

Brij Bhushan Singh: बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि देवरिया की घटना कोई छोटी-मोटी घटना नहीं है। इस पूरी वारदात में सिर्फ और सिर्फ प्रशासन की लापरवाही है।

Jugul Kishor
Published on: 12 Oct 2023 5:29 AM GMT (Updated on: 12 Oct 2023 9:06 AM GMT)
Brij Bhushan Singh
X

बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह (सोशल मीडिया)

Brij Bhushan Singh: देवरिया जनपद में जमीन विवाद को लेकर 6 लोगों की हुई हत्या पर राजनीतिक माहौल गर्म है। देवरिया कांड पर सत्ता पक्ष और विपक्ष की ओर से बयानबाजी जारी। सत्ता पक्ष आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और विपक्ष पूरे मामले की सीबीआई जांच करने की मांग कर रहा है। इस बीच वारदात में मारे गए एक पक्ष के प्रेम चंद यादव के मकान की पैमाइश और उसे अवैध बताने के बाद बुलडोजर चलने की चर्चा पर कैसरगंज से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने बड़ा बयान दिया है।

मैं हमेशा से बुलडोजर राजनीति का विरोधी हूं : बृजभूषण सिंह

बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने कहा, घर बड़ी मुश्किल से बनता है। मैं हमेशा से बुलडोजर वाली राजनीति का विरोधी रहा हूं। सिंह ने हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग को भी गैरजरूरी बताते हुए कहा मामला बिल्कुल साफ है। पूरी घटना प्रशासन की लापरवाही का नतीजा है। बृजभूषण के इस बयान को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरोध के तौर पर देखा जा रहा है। महिला पहलवानों के यौन शोषण के आरोपों में घिरे बृजभूषण शरण सिंह फिलहाल में अलग-थलग पड़े हैं। ऐसी भी संभावना जताई जा रही है कि 2024 के लोकसभा चुनाव में बृजभूषण शरण सिंह अपना नया रास्ता तलाश सकते हैं। उल्लेखनीय है कि सपा पार्टी से सांसद भी रह चुके हैं। सपा नेताओं से उनके अच्छे संबंध रहे हैं। बुलडोजर का उनका विरोध भी तब सामने आया जब देवरिया में प्रेमचंद यादव के मकान को गिराने की बात चल रही है। प्रेमचंद यादव का सपा कनेक्शन सामने आ चुका है।


देवरिया कांड प्रशासन की लापरवाही का नतीजा

दरअसल, बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह बुधवार को बस्ती दौरे पर पहुंचे थे। यहां उन्होने मीडिया से बात करते कहा, देवरिया कांड पूर्वांचल की सबसे बड़ी घटना है। इतनी जघन्य घटना कहीं न कहीं प्रशासन की लापरवाही का नतीजा है। सिंह ने कहा, दाखिल खारिज को लेकर जो लेटतलीफी का प्रकरण चल रहा है, उसके कारण विवाद बढ़ रहे हैं। दाखिल कराने के लिए भी दो से चार साल का समय लग जा रहा है।

'सीबीआई जांच का मतलब केस लटकाना'

वहीं, समाजवादी पार्टी की ओर पूरी मामले की सीबीआई जांच की मांग पर बृजभूषण सिंह ने कहा इस पर सरकार विचार करेगी। लेकिन, मुझे नहीं लगता कि इसमें किसी जांच की जरुरत है। यह केस पूरा खुला हुआ है। पहली हत्या प्रेमचंद्र यादव की हुई है। उसके बाद पांच हत्या सत्यप्रकाश दुबे के परिवार की हुई है। सीबीआई जांच का मतलब केस को लटकाना होता है। सीबीआई जांच ऐसे मामलों में होती हैं जहां संदेह होता है। लेकिन, यहां तो पूरा केस खुला हुआ है। इस केस के लिए पुलिस की जांच काफी है।

Jugul Kishor

Jugul Kishor

Content Writer

मीडिया में पांच साल से ज्यादा काम करने का अनुभव। डाइनामाइट न्यूज पोर्टल से शुरुवात, पंजाब केसरी ग्रुप (नवोदय टाइम्स) अखबार में उप संपादक की ज़िम्मेदारी निभाने के बाद, लखनऊ में Newstrack.Com में कंटेंट राइटर के पद पर कार्यरत हूं। भारतीय विद्या भवन दिल्ली से मास कम्युनिकेशन (हिंदी) डिप्लोमा और एमजेएमसी किया है। B.A, Mass communication (Hindi), MJMC.

Next Story