Top

अमित शाह 4 को करेंगे बूथ प्रमुख से सीधा संवाद, 265 प्‍लस होगा टारगेट

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 2 Jun 2016 1:00 PM GMT

अमित शाह 4 को करेंगे बूथ प्रमुख से सीधा संवाद, 265 प्‍लस होगा टारगेट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 जून को कानपुर से बुंदेलखंड समेत 17 जिलों के लिए चुनावी हुंकार भरेंगे। वह 17 जिलों के 14 हजार बूथ प्रमुख से सीधा संवाद करेंगे। इस बूथ अध्यक्ष सम्मलेन का टारगेट है विधानसभा चुनाव में 265 प्लस सीटो पर जीत हासिल करना। चुनावी बिगुल फूक कर कार्यकर्ताओं में जोश भरना। इस कार्यकर्ता सम्‍मेलन में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के आने की उम्मीद है।d

यह भी पढ़ें... यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी का नारा-सपा साफ, बसपा हाफ और बीजेपी टॉप

अत्याधुनिक होगा अमित शाह का मंच

-कानपुर के महाराजपुर रुमा में एक कॉलेज के मैदान से अमित शाह कार्यकर्ताओं में जोश भरेंगे और चुनावी बिगुल फूकेंगे।

-रानू शुक्ला जिलामंत्री युवा मोर्चा ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लिए 10 मीटर ऊंचा और 10 मीटर चौड़ा मंच बनाया गया है।

-गर्मी को ध्यान में रखते हुए मंच में चार एसी लगाए गए हैं।

मंच पर बैठेंगे सिर्फ 9 लोग

-सुरक्षा के मद्देनजर मंच के आगे 10 मीटर की जगह छोड़ी गई है जिसके चारों तरफ बैरीकेडिंग लगाई गई है।

-इसके साथ ही उनके साथ मंच में नौ लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है।

-जिसमे प्रदेश अध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, उपाध्यक्ष समेत अन्य गणमान्य लोग रहेंगे।

कार्यकर्ताओं के लिए लगेगा बड़ा पंडाल

-कार्यकर्ताओं के लिए भी एक बड़े पंडाल की व्यवस्था की गई। इसकी लंबाई 260 फिट और ऊचाई 25 मीटर है।

-उनके बैठने के लिए 15 हजार कुर्सियों की व्यवस्था की गई है, जिसमे 80 कूलर और तीन सौ सीलिंग फैन लगाए गए हैं।

-महाराजपुर विधानसभा पूर्व अध्यक्ष विनय मिश्रा ने बताया कि गर्मी में कार्यक्रताओं के लिए पानी के टैंकर और पीने के लिए हजारों पाउच व लंच पैकेट भी मंगाए जाएंगे।

-इसमे 17 जिलों के कार्यकर्ता और जिला अध्यक्ष मौजूद होंगे उनके साथ चुनावी रणनीति तैयार की जाएगी वह भी बूथ के हिसाब से।

-अमित शाह जी सीधे कार्यकर्ताओं से जुड़ेंगे और वह यह बताएंगे कि केंद्र के दो साल के कार्यों को कैसे पब्लिक तक पहुचाएं।

-इस विकास को किस तरह से चुनावी रणीनीति बनाए।

-घर-घर जा कर सभी से मिलना है और उनको अपने कार्यों से प्रभावित करना है।

-उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में 80 लाख का खर्चा आया है।

Newstrack

Newstrack

Next Story