Top

मायावती के बयान पर बोले कठेरिया- BJP ने 2 बार जीता है उनका दिल

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 22 July 2016 11:39 AM GMT

मायावती के बयान पर बोले कठेरिया- BJP ने 2 बार जीता है उनका दिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: दयाशंकर मामले में पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री राम शंकर कठेरिया ने मायावती के दिल जीत लेने वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि मायावती पर बीजेपी के कई अहसान हैं। भारतीय जनता पार्टी ने तब भी उनका दिल जीता था जब अतिथि भवन में उनकी जान बचाई थी और जब उन्हें सीएम बनाने के लिए दो बार समर्थन दिया था। मायावती ने कहा था कि ''बीजेपी अगर दयाशंकर पर खुद एफआईआर करती तो शायद वो मेरा दिल जीत लेती'।

यह भी पढ़ें... माया बोलीं- दयाशंकर के परिवार को हो गलती का एहसास, इसलिए यह जरूरी था

कठेरिया ने कहा कि प्रदेश के उपाध्यक्ष दयाशंकर ने पूर्व मुख्यमंत्री जी के लिए जो बोला उसे हमारी पार्टी ने गलत माना और तत्काल उन्हें पार्टी से 6 साल के लिए निष्काषित किया। इस प्रकरण को पूरी तरह से खराब मानते हुए कार्रवाई हुई। लेकिन कल जो घटनाएं हुई हैं वो लोकतंत्र के लिए अच्छी नहीं हैं। किसी बीएसपी कार्यकर्ता द्वारा दयाशंकर की जुबान काटने पर 50 लाख का इनाम तो कोई उनकी मां-बहन और बेटी के बारे ने गलत बोलता रहा। ये गलत हुआ है मायावती को इस पर भी कार्रवाई करनी चाहिए।

सपा और बीएसपी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सपा के शासनकाल में पूरे प्रदेश में हालात बिगड़े हैं। कानून व्यवस्था ध्वस्त है।

अभी कुछ दिन पहले एटा में जहरीली शराब से 50 लोगों की मौत हो गई और 15 से 20 लोग अंधे हो गए हैं।

इस अवैध शराब का कारोबार करने वाले वही लोग हैं जिन्हें सत्ता के लोगों का सरक्षण प्राप्त है।

-उन्होंने कहा आज दलित हितों की बात करने वाली मायावती की सरकार में ही दलितों पर सर्वाधिक अत्याचार हुए हैं।

-दलितों का बसपा से मोह भंग हो चुका है इसलिए मायावती बेचैन हैं।

-भारतीय जनता पार्टी के साथ पूरे देश काे दलित हैं। आगामी विधानसभा चुनावों में बीएसपी कहीं नहीं है।

-दलितों का विकास और सुरक्षा सिर्फ बीजेपी में है।

-डॉ रामशंकर कठेरिया ने बताया कि दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित कन्नौज से सांसद रही हैं और मेरा गांव भी उसी लोकसभा का हिस्सा है।

-इस नाते शीला दीक्षित मेरी दादी के सामान हैं। कांग्रेस अब बूढ़ी हो चुकी है कांग्रेस में कुछ नहीं बचा है। दयाशंकर प्रकरण पर कोंग्रेस नौटंकी कर रही है।

Newstrack

Newstrack

Next Story