Top

JNU मामला: राहुल के बयान को भाजयुमो ने बताया देश विरोधी, फूंका पुतला

आशुतोष ने कहा कि पूर्व पीएम नेहरू ने चीन के मामले में ढुलमुल रवैया अपनाया था। राहुल गांधी ने देशद्रोहियों को समर्थन देकर उसे प्रूफ कर दिया है। उनके इसी कृत्य को लेकर सोमवार को भाजयुमों ने राहुल गांधी का पुतला फूंका।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 Feb 2016 1:15 PM GMT

JNU मामला: राहुल के बयान को भाजयुमो ने बताया देश विरोधी, फूंका पुतला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी मामले में कूदे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बयान से भड़के भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राजधानी में राहुल का पुतला फूंका।

भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष राय का कहना है कि जिस तरह राहुल गांधी ने देशद्रोहियों को जेएनयू जाकर समर्थन दिया है। वह उनके तीन पीढ़ियों के इतिहास को बताता है। चाहे वो इंदिरा गांधी का मामला हो या सोनिया गांधी और अब राहुल गांधी का।

राहुल गांधी के घर पर भी करेंगे प्रदर्शन

-आशुतोष ने कहा कि पूर्व पीएम नेहरू ने चीन के मामले में ढुलमुल रवैया अपनाया था।

-राहुल गांधी ने देशद्रोहियों को समर्थन देकर उसे प्रूफ कर दिया है।

-उनके इसी कृत्य को लेकर सोमवार को भाजयुमों ने राहुल गांधी का पुतला फूंका।

-यदि जरूरत पड़ी तो राहुल गांधी के घर पर प्रदर्शन किया जाएगा।

क्या है मामला

-लेफ्ट स्टूडेंट ग्रुप्स ने नौ फरवरी को संसद अटैक के दोषी अफजल गुरु और जेकेएलएफ के को-फाउंडर मकबूल भट की याद में एक प्रोग्राम ऑर्गनाइज किया था।

-आरोप है कि इसमें देश विरोधी नारे लगाए गए। कुछ स्टूडेंट्स ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ और ‘भारत की बर्बादी तक जंग रहेगी जारी’ जैसे नारे लगाए।

-बता दें कि अफजल को 9 फरवरी, 2013 और मकबूल भट को 11 फरवरी, 1984 को फांसी दी गई थी।

[su_slider source="media: 9539,9538,9536,9535,9534" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Newstrack

Newstrack

Next Story