×

AMU में भाजयुमो को चाहिए मंदिर, जमीन के लिए दिया 15 दिन का समय

बीजेपी की युवा शाखा भाजयुमो ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कुलपति को चिट्ठी लिखा 'मंदिर' निर्माण के लिए जमीन देने की मांग की है। इस चिट्ठी में धमकी देते हुए कहा गया है कि 15 दिन में वीसी ने जमीन चिन्हित कर नहीं दी ती ऐसे में स्वयं जमीन चिन्हित कर जनता के सहयोग से मंदिर निर्माण किया जाएगा।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 Feb 2019 4:45 AM GMT

AMU में भाजयुमो को चाहिए मंदिर, जमीन के लिए दिया 15 दिन का समय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अलीगढ़ : बीजेपी की युवा शाखा भाजयुमो ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कुलपति को चिट्ठी लिखा 'मंदिर' निर्माण के लिए जमीन देने की मांग की है। इस चिट्ठी में धमकी देते हुए कहा गया है कि 15 दिन में वीसी ने जमीन चिन्हित कर नहीं दी ती ऐसे में स्वयं जमीन चिन्हित कर जनता के सहयोग से मंदिर निर्माण किया जाएगा।

नया नहीं है मुद्दा

भाजयुमो की इस मांग से पहले अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम भी यूनिवर्सिटी में मंदिर की बात कह चुके हैं। मोर्चा के जिला अध्यक्ष मुकेश सिंह लोधी ने कहा कि, उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को पत्र लिखा है और मंदिर के लिए 15 दिन के अंदर जमीन मुहैया कराने की मांग की है।

ये भी देखें : पुर्वाचंल में कमल खिलाने पहुंचेंगे आज अमित शाह, जौनपुर-महाराजगंज में करेंगे जनसभा को संबोधित

सिंह ने कहा, यूनिवर्सिटी प्रशासन उस जगह को चिन्हित करे जहां मंदिर बनाया जाएगा। अगर यह मांग पूरी नहीं होती तो हज़ारों छात्र 24 तारीख को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए कूच करेंगे। खुद मंदिर का निर्माण कराएंगे। युवा मोर्चा चंदे से इस मंदिर का निर्माण करेगा।

शहर में हर तरफ इस बात की चर्चा है। लेकिन, प्रशासन की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

ये भी देखें : प्रियंका को लोकसभा नहीं विधानसभा इलेक्शन के लिए हथियार बनाया है राहुल ने

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story