×

Aligarh Crime News: राजनीतिक रंजिश में दर्ज कराया केस, पीड़ित ने कहा, गांव छोड़ने पर मजबूर कर रहे लोग

राजनीतिक रंजिश कि वजह से गांव के दबंग लोगों ने राजनीतिक शत्रुता निकालने के लिए एक ही व्यक्ति पर दो एफआईआर दर्ज कराई है।

Garima Singh

Garima SinghReport Garima SinghDeepak RajPublished By Deepak Raj

Published on 31 July 2021 3:57 PM GMT

Give application to SP regarding false allegation over him
X

एसपी से मिलकर स्थिती से अवगत कराया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Aligarh News: अलीगढ़ पुलिस का ऐसा कारनामा सामने आया है जो सुर्खियों में है। थाना विजयगढ़ के गांव गोकुलपुर में ऐसा मुकदमा दर्ज किए गया है कि एक दिन में दो मुकदमें दर्ज किये गये। जिसका एक ही समय में अपराधी ने दो जगह अपराध कर दिया। लेकिन घटनास्थल और घटनाक्रम अलग अलग है। ऐसे में पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा सवाल खड़ा होता है। आखिर यह कैसे संभव हुआ होगा ? अपराधी एक समय में दोनों घटनाओं में कैसे शामिल हो सकता है।


पीड़ित के द्वारा एसपी को दिए गए प्रार्थना पत्र


इस मुकदमें को लेकर पीड़ित पक्ष पुलिस अधिकारियों के समक्ष अपनी दलील रख रहा हैं। लेकिन थाना पुलिस कोई सुनवाई करने को तैयार नहीं है। वहीं पीड़ित एसएसपी से मिलकर झूठा मुकदमा खत्म किये जाने की मांग की है। पीड़ित जितेंद्र सिंह थाना विजयगढ़ के गोकुलपुर गांव का रहने वाला है। खेती-बाड़ी करके अपना परिवार का भरण पोषण करता है। वही गांव के ही नत्थी सिंह, अनिल कुमार सिंह राजनीतिक से जुड़े हुए लोग हैं और पंचायत चुनाव में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विजय देवी को वोट नहीं देने के कारण परिवार से रंजिश मानते हैं।

21 जुलाई को पहला मुक़दमा दर्ज किया गया था

इस प्रकरण में 21 जुलाई को पहला मुक़दमा क्राइम नंबर 80/21 में धारा 147,148,323,356,427 के तहत अनिल कुमार की तरफ से विजय सिंह, जितेंद्र, प्रदीप, विकास व अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। आरोप लगाया कि 21 जुलाई की रात 9 बजे उनका भतीजा उमेश गांव के बाहर स्थित फार्म हाउस पर सोया था। तभी नामजदों ने उन पर हमला बोल दिया। मारपीट की और रुपए छीन लिये।

दूसरा मुकदमा भी इसी गांव के नत्थी सिंह ने मुकदमा क्राइम नंबर 81/21 पर धारा 307 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कराया। जिसमें विजय सिंह और जितेंद्र सिंह के साथ अज्ञात को आरोपी बनाया है। इस मुकदमे में भी घटना 21 जुलाई की रात 9 बजे दिखाया गया। जिसमें कहा गया कि घर के सामने लगे सरकारी हैंडपंप में समरसेबल लगाने से विजय को मना किया था। इसी विवाद में उसने रास्ते में घेर कर हमला किया। तमंचे से फायर किया। जिसमें नत्थी सिंह बाल-बाल बच गये।

गांव छोड़ने पर मजबूर कर रहे लोग-पीड़ित

जितेन्द्र सिंह ने बताया कि उसके परिवार के सामने ऐसी स्थिति पैदा कर दी गई है कि वह गांव छोड़ने के लिए मजबूर है। राजनीतिक और दबंग प्रवृत्ति के व्यक्ति उसके परिवार के साथ कोई भी घटना कर सकते हैं। जितेंद्र ने एसएसपी से गुहार लगाई है कि झूठे मुकदमों की सही जांच कर उचित कार्रवाई करें। इस प्रकरण में सवाल खड़ा होता है कि एक ही समय में आरोपी अलग-अलग स्थान पर कैसे वारदात को अंजाम दे सकता है।

आरोपी पक्ष के लोग दलील दे रहे हैं कि उनका जमीनी विवाद अनिल कुमार सिंह से चल रहा है और अनिल दबंग प्रवृत्ति का व्यक्ति है जो कि राजनीतिक प्रभाव भी रखता है। इस मामले में क्षेत्राधिकारी बरला सुमन कनौजिया ने बताया कि एक समय और एक दिन में दो अलग-अलग घटनाक्रमों पर आरोपियों का मौजूद होना संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि कंट्रोल रूम को विवाद की सूचना मिली थी और पुलिस भी गई थी। इनमें से एक घटना गलत लिखवाई गई होगी। इस विषय में विवेचना कर रहे पुलिस कर्मी से बातचीत कर सच्चाई का पता लगाया जाएगा।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story