×

अलीगढ़ 10 लाख फिरौती मामलाः पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, तीन आरोपी गिरफ्तार, AMU की महिला प्रोफेसर से की गई थी डिमांड

Aligarh : यूपी के अलीगढ़ में एएमयू की महिला प्रोफेसर के घर पर धमकी भरे खत के साथ कारतूस भेजने और दस लाख रूपये की फ़िरौती मांगने वाले गैंग के तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Garima Singh
Report Garima SinghPublished By Vidushi Mishra
Updated on: 10 Nov 2021 2:50 PM GMT
Son-in-law shot at mother-in-law, hospitalized in critical condition
X

मुरादाबाद: दामाद ने सास को मारी गोली

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Aligarh : अलीगढ़ में एएमयू की महिला प्रोफेसर के घर पर धमकी भरे खत के साथ कारतूस भेजने और दस लाख रूपये की फ़िरौती मांगने वाले गैंग के तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना थाना क्वार्सी के सागर हाउसिंग काम्प्लेक्स अनूप शहर रोड की है। मामले में शामिल दो आरोपी फरार है।

नौ नवम्बर को अनूपशहर रोड निवासी नवेद मुख्तार ने अज्ञात अभियुक्तगण द्वारा घर के बाहर खडी कार के बोनट पर 10 लाख रूपये की फिरौती माँगने और न देने पर पूरे परिवार की हत्या कर देने के सम्बन्ध में धमकी भरा पत्र मिलने की शिकायत थाना क्वार्सी पुलिस में की थी। खत के साथ तीन खोखा कारतूस 315 बोर के थे। जिन पर परिवार के सभी सदस्यों के अलग- अलग नाम लिखकर रखा गया था।

10 लाख रूपये की फिरौती

वादी नवेद की पत्नी डॉ. शगुफ्ता मुईन जो कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के पद पर नियुक्त हैं, जिनको लगातार फोन करके 10 लाख रूपये की फिरौती मांगने व न देने पर पूरे परिवार की हत्या कर देने की धमकी दी जा रही थी। थाना क्वार्सी पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत किया था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कला निधि नैथानी ने घटना को बेहद गम्भीरता से लेते हुये तत्काल 03 टीमें - थाना क्वार्सी, सर्विलांस व स्वाट टीम का गठन कर अभियुक्तगण की गिरफ्तारी करने के निर्देश दिये गये थे। गठित टीमों द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर के कुशल पर्यवेक्षण में घटना का अनावरण करते हुये बरौली मोड़ पर चेकिंग में तीन संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया।


तीनों से पूछताछ में मह्ला प्रोफेसर से फिरौती मांगने की घटना सामने आई। पुलिस ने आरोपियों के पास से मोटर साइकिल, मोबाइल फोन व एक तमन्चा देशी 315 बोर बरामद किया है। पूछताछ में बताया गया कि आरोपी दानिश महिला प्रोफेसर की रिश्तेदारी में मौसी है।

घटना को अंजाम देने की योजना

दानिश द्वारा इनसे कई बार उधार रूपये मांगे गये व कुछ माह पूर्व दानिश का पुत्र बीमार होने के कारण पुनः महिला प्रोफेसर से एक लाख रूपये उधार मांगे थे, लेकिन महिला प्रोफेसर द्वारा हर बार रूपये देने से मना कर दिया गया, इसी कारण आरोपी दानिश ने क्षुब्ध होकर अपने दोस्तों अन्जेब, दीपक, नवेद, अदनान के साथ मिलकर घटना को अंजाम देने की योजना बनायी गयी।

जिसमें अभियुक्त दीपक द्वारा घटना के लिये एक फर्जी आईडी जो कि एक अन्य सुनील कुमार गुप्ता का सिम नं0-7618372659 रंगदारी मागने हेतु दानिश को उपलब्ध कराया गया। फरार आरोपी अदनान द्वारा आवाज बदलकर लगातार महिला प्रोफेसर को फोन कर 10 लाख रूपये की रंगदारी मांगी थी। घटना में गिरफ्तार आरोपी का नाम दानिश, अन्जेब, दीपक है। वहीं घटना में शामिल नवेद और अदनान पुलिस की पकड़ से फरार है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story