×

Etah News: सपा के कद्दावर नेता जुगेंद्र सिंह के परिवार के सात शस्त्र लाइसेंस निरस्त

लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई पर सपा नेता जुगेंद्र सिंह यादव ने बताया कि जनपद के कई अन्य नेताओं पर भी मुकदमें दर्ज हैं, लेकिन किसी के लाइसेंस निरस्त नहीं किए गए।

Sunil Mishra

Sunil MishraReport Sunil MishraShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 1 Aug 2021 8:46 AM GMT

Seven arms licenses of the family of SP leader Jugendra Singh revoked
X

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव: फोटो- सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Etah News: एटा जनपद में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में सपा का परचम फहरने से बौखलाया शासन प्रशासन अभी रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक के बाद एक कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने पुलिस रिपोर्ट के आधार पर शनिवार को पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेन्द सिंह यादव, जिलापंचायत अध्यक्ष रेखा यादव, पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव के पुत्र फर्रुखाबाद से सपा के जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़े सुबोध यादव व उनकी पत्नी राममूर्ति यादव के एक-एक शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिये गये हैं।

आपको बताते चलें कि एटा में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव से पूर्व भी जिला प्रशासन ने जुगेन्द सिंह यादव का एक दो मंजिला मार्केट व फार्म हाउस तोड़ दिया गया था तथा तीन मुकद्दमा दर्ज कर गिरफ्तारी का प्रयास किया गया था। किंतु कोर्ट के स्टे के कारण आगे कोई कार्यवाही नहीं हो सकी थी तथा सपा ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में 30 सदस्यों में से 26 सदस्य पाकर भाजपा के सिर्फ दो मतों के पाने के बाद सभी जीत के मंसूबो को ध्वस्त कर दिया। जबकि एटा सीट पर भाजपा ने जीत के लिए अपनी प्रतिष्ठा दाव पर लगाये हुई थी।

प्रशासन हमारे परिवार से व्यक्तिगत रंजिश मानते हुए कार्रवाई कर रहा- जुगेंद्र सिंह यादव

वहीं पूर्व में पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव के विरुद्ध उत्पीड़न की कार्यवाही पर सपा के प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने भी अपना बयान देकर उत्पीड़न बंद करने की चेतावनी दी थी। लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई पर सपा नेता जुगेंद्र सिंह यादव ने फोन पर बताया कि जनपद के कई अन्य नेताओं पर भी मुकदमे दर्ज हैं, लेकिन किसी के लाइसेंस निरस्त नहीं किए गए। प्रशासन हमारे परिवार से व्यक्तिगत रंजिश मानते हुए कार्रवाई कर रहा है। हमारे शस्त्र लाइसेंसों पर जमा न करने हेतु हाईकोर्ट से स्टे है। पूर्व में भी जिलाधिकारी ने हमारे शस्त्रों को निलम्बित किया गया था जिसके खिलाफ हम हाई कोर्ट में गये थे तो उन्होंने मुकद्दमा चलने के दौरान शस्त्र जमा करने पर रोक लगा दी जिलाधिकारी ने हमें बिना सुने ही सीधे शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिये।

हमारा पूरा परिवार राजनैतिक है-जुगेंद्र सिंह यादव

हमारा पूरा परिवार राजनैतिक है पूरा घर किसी न किसी पद पर हैं सभी को सुरक्षा चाहिए हमारे भाई रामेश्वर सिंह दो बार प्रमुख व तीन बार विधायक रह चुके हैं, मैं, तीन बार जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुका हूं, मेरी पत्नी जिला पंचायत अध्यक्ष है। मेरे परिवार के अन्य लोग ब्लाक प्रमुख जिला पंचायत सदस्य हैं पूरे परिवार पर कोई भी सरकारी सुरक्षा नहीं है और प्रशासन शस्त्र लाइसेंस कैंसिल कर शस्त्र जमा कराने पर जुटा है। क्या हमारा यही गुनाह है कि हम चुनाव क्यों जीत गये, यही गुनाह है कि जनता हमारे साथ क्यों हैं?

जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने बताया

जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने बताया कि जुगेन्द सिंह यादव के परिवार के लोगों के शस्त्र लाइसेंस आपराधिक मुकद्दमा पंजीकृत होने के कारण निरस्त किए गये हैं। इन्हें पूर्व में नोटिस जारी कर शस्त्र जमाकरने के आदेश दिये गये थे। इनके द्रारा शस्त्र जमा न करने पर न्यायालय मे शस्त्रों को निलम्बित करने का आदेश हुआ है। वहीं जिलाधिकारी के कोर्ट के पेशकार उपेन्द्र कुमार ने बताया कि जुगेन्द सिंह ने न्यायालय में हाई कोर्ट का कोई भी स्टे आदेश रिशीव नहीं कराया गया है। और न वह न्यायालय की पत्रावली में शामिल है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story