×

Eatah News: मजार पर चादर चढाने आये पांच नदी में डूबे, पिता पुत्र की मौत, एक लापता

Eatah News :एटा के थाना मिरहची के एक मजार पर पांच लोग चादर चढाने आये थे जिसमें पिता-पुत्र की डूबने से मौत हो गई और भतीजा लापता है।

Sunil Mishra

Sunil MishraReport Sunil MishraShraddhaPublished By Shraddha

Published on 14 Oct 2021 11:19 AM GMT

मजार पर चादर चढाने आये
X

मजार पर चादर चढाने आये(कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Eatah News : एटा जनपद (Etah District) के थाना मिरहची (Thana Mirahachi) क्षेत्र के ऐतिहासिक गांव अतरंजी खेडा स्थित एक मजार पर चादर चढाने आये पांच लोग नदीं में एक दूसरे को बचाने के प्रयास में जिनमें दो महिलाओं को आसपास के लोगों ने डूबने से बचा लिया जबकि पिता-पुत्र की डूबने से मौत हो गई और भतीजा लापता है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर के अनुसार आज थाना मिरहची क्षेत्र के ग्राम अतरंजी खेडा के पास स्थित एक मजार पर आज आगरा के थाना एत्माददौला क्षेत्र निवासी 35 वर्षीय युवक अपने परिवार के साथ किसी मन्नत के पूरी होने के बाद चादर चढाने आया था, जिसमें 9 वर्षीय पुत्र फैजान व 18 वर्षीय अमन भतीजा पास ही स्थित काली नदी में हाथ पैर धोने गये जैसे ही वह नदी में घुसे गहराई अधिक होने के कारण डूब गये। उन्हें डूबता देख उन्हें बचाने फैजान का 35 वर्षीय पिता भी नदी में कूद पड़ा। वह भी डूब गया क्योंकि फैजान तैरना नहीं जानता था जिस कारण पानी अधिक होने के कारण वह भी डूब गया। बच्चों को डूबता देख शेष दो अन्य महिलायें भी नदी में कूद पड़ी वह भी डूबने लगीं जिन्हें वहां मौजूद अन्य लोगों ने डूबने से बचा लिया।


पिता पुत्र की मौत, एक लापता(कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)

घटना की सूचना पर क्षेत्राधिकारी सदर सहित भारी पुलिस बल व गोताखोरों की टीम भी मौके पर जा पहुंची और टीम ने डूबे पिता पुत्र के शवों को नदी से ढूंढकर बाहर निकाल लिया। समाचार लिखे जाने तक 18 वर्षीय अमन जो कि इनका भतीजा था उसके शव की तलाश की जा रही थी। पूरे परिवार में जश्न की खुशी मातम में बदल गई थी। महिलाओं का करुण रोना बिलखना जारी था। पुलिस ने पिता व पुत्र के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। लोगों का कहना है कि काली नदी का बहाव बहुत तेज है और गहराई भी ज्यादा है इसलिए अक्सर यहां हादसे हो जाते हैं।

Shraddha

Shraddha

Next Story