×

Firozabad News: अगवा व मौत की खबर से सहमा फिरोजाबाद जिला

जिले में दो आपराधिक घटना से इलाके में हड़कम्प मच गया। एक ओर कानूनगो की अगवा करने का मामला आया तो दूसरी ओर एक व्यक्ति को पीटने के कारण मौत हो गई..

Brajesh Rathore

Brajesh RathoreReport Brajesh RathoreDeepak RajPublished By Deepak Raj

Published on 19 Aug 2021 6:30 PM GMT

Police station
X
पुलिस थाना
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Firozabad News: फिरोजाबाद थाना दक्षिण क्षेत्र नई बस्ती किशन पान वाली गली से गंभीर हालत में एक 45 वर्षीय व्यक्ति को जिला अस्पताल के सरकारी ट्रामा सेंटर लाया गया, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिये शव विच्छेदन गृह में रखवाया गया है, मृतक के भाई ने गली के ही कुछ लोगों द्वारा पिटाई करने का आरोप लगाया है। बताते चलें कि थाना दक्षिण क्षेत्र नई बस्ती किशन पान वाली गली निवासी 45 वर्षीय बशीम पुत्र अब्दुल को गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल उसके भाई सलीम द्वारा लाया गया, जहां चिकित्सक सिद्धार्थ यादव ने चेक करने के बाद मृत घोषित कर दिया।


फिरोजाबाद थाना


बताया कि बशीम नामक व्यक्ति परिजन लेकर आये, जो कि हमारे पास मृत अवस्था में आया है, आवश्यक कार्यवाही को परिजनों को अवगत कराया है। वहीं मृतक को लाने वाले उसके भाई सलीम ने बताया कि चूड़ी के तोडों का ठेला लेकर आया था किसी अफजाल भाई के यहां से, रेहडी पर पर चूनी का सामान जा रहा था ठेला हटाने को लेकर विवाद हुआ, तो इस पर चार पांच लडकों ने मारपीट शुरू कर दी, जब पता चला वहां पहुंचकर तुरंत यहां लाये, चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम गृह में रखवाया गया है।


कानूनगो को मकान मालिक ने किया अगवा

फ़िरोज़ाबाद जिले के थाना शिकोहाबाद भर्थना में चकबंदी कार्यालय में तैनात चकबंदी कानूनगो को बृहस्पतिवार को पूर्व में रहे मकान स्वामी ने ओवर ब्रिज से अगवा कर घर ले जाकर एक कमरे में बंद कर दिया। उसने कानून गो के फोन से लड़के को फोन कराया और उससे दस लाख रुपये की मांग की। कानूनगो के लड़का ने टूंडला से आकर थाने में तहरीर दी। पुलिस ने चकबंदी कानूनगो को मुक्त कराया।


पुलिस थाना

टूंडला निवासी चोबसिंह पुत्र बस्तीराम भर्थना में चकबंदी कानूनगो के पद पर तैनात हैं। बृहस्पतिवार को वह अपनी बाइक से भर्थना के लिए चले थे। आरोप है कि जब उनकी बाइक शिकोहाबाद सुभाष तिराहे पर ओवर ब्रिज पर थी, तभी उन्हें पूर्व में रहे मकान मालिक मिले और उनको जबरन अपने साथ घर ले गये। कानूनगो का आरोप है कि वहां जाकर उन्होंने उसे एक कमरे में बंद कर दिया। दोपहर एक बजे के करीब उसके फोन से बेटे को फोन कराया और दस लाख रुपये की मांग की। कानूनगो के बेटा रविंद्र सिंह का कहना है कि उससे फोन पर कहा कि तेरे पिता हमारे पास हैं।

दस लाख रुपये लाओ और अपने बाप को ले जाओ। इसके बाद वह अपने दो अन्य साथियों के साथ पूर्व के मकान स्वामी हरेंद्र के यहां पहुंचा तो उसके पापा को नहीं मिलाया। काफी देर बैठने के बाद भी जब बात नहीं हुई तब उसने थाने आकर तहरीर दी। पुलिस मकान पर पहुंची और मकान स्वामी को हड़काया। आरोप है कि इसके बाद उसके पिता को छोड़ दिया। बाद में बाप-बेटा थाना पहुंचे और पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह है मामला

वर्ष 2012 से 2014 तक चोबसिंह हरेंद्र के मकान में किराये पर रहे थे। इसके बाद वह टूंडला चले गये। लेकिन उनका सामान हरेंद्र के मकान में बने कमरे में ही रखा हुआ था। इसको लेकर हरेंद्र किराये के रुपये मांगता था। लेकिन चोब सिंह का आरोप है कि हरेंद्र ने उनसे कई बार रुपये जबरन छीन लिए थे। इतना ही नहीं वर्ष 2014 में ही उसने कमरे की चाबी ले ली थी। अब वह जबरन उनसे किराया वसूल कर रहा है। इसी को लेकर बृहस्पतिवार को कमरे में बंद रखा।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story