×

Firozabad News: निलंबित चल रहे सफाई कर्मचारी की बेटी ने इलाज के अभाव में तोड़ा दम

जिला पंचायत राज विभाग में कार्यरत सफाई कर्मचारी को 9 माह पूर्व किया गया था निलंबित। इलाज के आभाव में उसकी बेटी की मौत हो गई।

Vikas Bhawan
X

विकास भवन फिरोजाबाद (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Firozabad News: नौ माह से निलंबित चल रहे सफाई कर्मचारी (Safai Karmchari) की बेटी ने इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया है। बेटी के शव को लेकर लाचार पिता विकास भवन (Vikas Bhawan) के सामने बैठ गया है। इस दौरान वह जहां अधिकारियों को कोसता नजर आया। उसने बताया कि वह अभागा अपनी बीमार बेटी का इलाज भी नहीं करा पाया।

पूरा मामला थाना उत्तर क्षेत्र के दम्मामल नगर (Dammamal Nagar) का है। यहां पर रहने वाला सुजीत पंचायत राज विभाग (panchaayat raj vibhag) में सफाई कर्मचारी (Safai Karmchari) के पद पर कार्यरत है। विगत नौ माह से वह निलंबित चल रहा है। पीड़ित का कहना है कि निलंबित होने के बाद उसे भरण पोषण के रूप में मिलने वाला आधा वेतन भी नहीं दिया जा रहा है। इसके चलते उसका परिवार भुखमरी की कगार पर आ गया है। वह कई बार अधिकारियों से गुहार लगाने गया, लेकिन हर बार उसे भगा दिया गया। तीन दिन पहले उसकी 12 वर्षीय बेटी अब्बू को बुखार आ गया और वह उसका इलाज कराने के लिए पंचायत राज विभाग के बाबू के पास वेतन निकलवाने के लिए पहुंचा तो उसने वेतन देने की वजाय उसे वहां से भगा दिया।

इलाज न मिलने के कारण शुक्रवार सुबह बेटी ने दम तोड़ दिया। इलाज के अभाव में हुई बेटी की मौत के बाद वह अपने आप को कोस रहा है। सफाई कर्मचारी (Safai Karmchari) शव लेकर विकास भवन पहुंच गया। जहां उसने अधिकारियों और बाबू पर उसकी मदद न करने का आरोप लगाया। इस मामले में जिला पंचायत राज अधिकारी नीरज सिन्हा का कहना है कि अनुपस्थित रहने पर मार्च में उसको निलंबित किया गया था। अप्रैल में उसको आरोप पत्र दिया गया था। जीवन भत्ता इसको दिया गया है। मानवीय संवेदना के आधार पर उसको बहाल कर दिया गया है, जो भी इनका रुका हुआ वेतन था, उसे भी निर्गत कर दिया गया है। इसकी फिरोजाबाद ब्लाक के लडूपुर चकरपुर में तैनाती थी।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story