×

Firozabad News: बारिश के कारण पैदा होने वाली बीमारी भगाने के लिए एक अनोखी पूजा, वर्षों पुरानी है ये परंपरा

फ़िरोज़ाबाद जिले के शिकोहाबाद थाना क्षेत्र में ग्रामीण अजूबी पूजा करते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश के कारण पैदा होने वाले विषाणुओं, कीटाणुओं को खत्म करने के लिए ग्रामीण विशेष आयोजन करते हैं।

Brajesh Rathore

Brajesh RathoreReport Brajesh RathoreShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 29 Aug 2021 12:10 PM GMT

A unique puja to cure diseases caused by rain
X

फ़िरोज़ाबाद: बारिश के कारण पैदा होने वाली बीमारी भगाने के लिए एक अनोखी पूजा

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Firozabad News: उत्तर प्रदेश के जनपद फिरोजाबाद के गांवों में बीमारी भगाने का एक अनूठा प्रचलन है। फ़िरोज़ाबाद जिले के शिकोहाबाद थाना क्षेत्र में ग्रामीण अजूबी पूजा करते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश के कारण पैदा होने वाले विषाणुओं, कीटाणुओं को खत्म करने के लिए ग्रामीण विशेष आयोजन करते हैं। इस आयोजन में काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित होकर हवन करते हुए मंत्रों का उच्चारण करते हैं। देशी आयुर्वेदिक गंधक, सरसों का तेल, रार गुग्गुल, का आग में प्रयोग कर घर-घर में विशेष कार्यक्रम शुरू होता है। फिर देव स्थान से शुरू होकर गांव की गलियों में युवाओं का जोश दिखाई देता है।

गांव डंडियामयी में आज बारिश के कारण फैली बीमारी को भगाने का देशी नुस्खा देखने में आया। बता दें कि मंदिर से शुरू होने वाला पूजन कार्यक्रम वर्षों पुरानी परंपरा है। ग्रामीण इस पूजा को आदि काल से करते आ रहे हैं।

ग्रामीणों की मानें तो बारिश के मौसम में गांव के गली मोहल्लों में पानी से पशुओं में घुर रक, खुर पका, मुंह पका जैसे रोग पैदा हो जाते हैं जो इस पूजा से नष्ट हो जाते हैं। इस पूजा में गांव का एक बलशाली व्यक्ति पहले नए घड़े के खपरे ले जाया जाता था, लेकिन अब इशे बड़े-बड़े झाबे पर दो व्यक्ति उठाते हैं। इसमें एक पहलवान हनुमानजी जी के खप्पर को उठाता है तो दूसरा माता काली का उठाता है।

खप्परों को लेकर पूरे गांव में घुमाया जाता है

इन दोनों खप्परों को लेकर पूरे गांव में घुमाया जाता है, घरों में घुसकर मनुष्यों के निवास से पशुओं के निवास तक ले जाया जाता है ताकि बीमारी जनित कीड़े किसी गली मोहल्ले घर में न रह जाएं आस्था और विश्वास के साथ ग्रामीण पूरी शिद्दत से बीमारी भगा रहे हैं।

डेंगू , वायरल बुखार का प्रकोप पूरे जिले में भयंकर कहर ढा रहा है, आये दिन हो रही मौतों से परेशान ग्रामीण पुराने नुस्खे को आजमाने को मजबूर हैं। अभी तक कोरोना से भयभीत जनमानस को अब डेंगू , मलेरिया बुखार का डर सता रहा है। जहां एक तरफ सरकार टीका ईजाद कर रही है तो नई-नई बीमारी भी कई घरों के चिराग बुझा चुकी है।

तमाम नौनिहालों ने दम तोड़ दिया है। घर-घर वायरल से बीमारों की चारपाई बिछी है ऐसे ग्रामीण हॉस्पिटल पर तो पूरा विश्वास पर पुराने नुस्खों से बीमारी भगाने का उपाय ढूंढ रहे हैं। इसे आस्था कहें या अंधविश्वास एक विशेष तांत्रिक पूजा की जाती है बीमारी भगाने के लिए।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story