×

Firozabad Viral Fever: दो दिन में तीन मौतों से हिला जहांगीरपुर गैलरई, हर घर में बुखार के मरीज

Firozabad Viral Fever: इस गांव में एक एक परिवार के चार से पांच लोग हॉस्पिटल में भर्ती हैं उन परिवारों में इस समय चूले नहीं जल रहे। हाल पूछने वाले, पानी देने वाले नहीं हैं।

Brajesh Rathore

Brajesh RathoreReport Brajesh RathoreMonikaPublished By Monika

Published on 19 Sep 2021 5:20 AM GMT

virus fever
X

जिले में फैला रहस्यमयी वायरस बुखार  

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Firozabad News: फिरोजाबाद जिले में फैले रहस्यमयी वायरस बुखार (Fever) शहर से गांव तक फैल चुका है, शहर और हॉस्पिटल (hospital) की सरकार गिनती कुछ भी दे हो, लेकिन गांवों की हालत ज्यादा खराब है। एक-एक घर में चार से पांच बीमार हैं, घरों में बीमारी से चारपाई पर लोग या मौत का मातम दिखाई दे रहा है।

फिरोजाबाद (Firozabad) जिले के थाना मक्खनपुर के जहांगीरपुर गैलरई में आज कल वायरल बुखार (viral fever) ने जबरदस्त दस्तक़ दी है। यहां दो दिन में तीन मौतों से पूरा गांव भयंकर परेशान है। प्रत्येक घर में चार से पांच बीमार की चारपाई ही चारपाई दिखाई दे रही हैं या मृतक के परिजनों का करुण क्रंदन दिल दहलाने लगा है। करीब दो दर्जन ग्रामीण बिभिन्न हॉस्पिटल में भर्ती है।

जिस घर में एक बीमार हो जाये तो खर्चे से परेशान हो जाता है। इस गांव में एक एक परिवार के चार से पांच लोग हॉस्पिटल में भर्ती उन परिवारों में इस समय चूले नहीं जल रहे। हाल पूछने वाले, पानी देने वाले नहीं हैं। जिन घरों में एक दो लोग ठीक भी है वो भी परिजनों की बीमारी से विचलित है। परिवार का क्या होगा ? कैसे ठीक होंगे? इतना इलाज का खर्चा कहां से आएगा ? ये प्रत्येक व्यक्ति के दिमाग मे गूंज रही है।

तीन हजार लोगों की आबादी वाला गांव

देखने से तो यह एक गांव है, लेकिन है ये दो गांव जहां तीन हजार लोगों की आबादी है । आसपास इन्हें छोटी बड़ी गैलरई के नाम से जाना जाता है। जिसमें छोटी गैलरई में एक ही यादव जाति के लोग रहते है, वहीं बड़ी गैलरई दलित पिछड़े वर्ग के लोग रहते है।

इस गांव के प्रधान रवी यादव के परिवार में सात लोग बीमार है जो विभिन्न हॉस्पिटल में भर्ती है। कल परिवार के प्रेमचंद पुत्र रामेश्वर दयाल के बेटे के इलाज के दौरान मौत हो गयी । वही पूरा गांव इस बीमारी से परेशान है।

गंदगी का अंबार बने तालाब

गांव के अधिकतर लोग सब्जियां पैदा करते है तथा पशु पालते है । इस समय मनुष्यों को खाना पशुओ को चारे की व्यवस्था पूरी तरह परेशान कर रही है। गांव में देखने से ऐसा महसूस होता है इस गांव को किसकी नजर लग गयी। गांव में दो तालाब है जिनका पानी कभी नहीं सूखता, लेकिन गंदगी का अंबार है। सड़क के दोनों तरफ ग्रामीणों ने कब्जा कर रखा है जिससे सारा नाली का पानी सड़क पर जाता है। जिससे गंदगी कभी नहीं हटती, जल जमाव रहता है। राहगीरों को रस्ते से निकलने में परेशानी होती है। आज कल यह गांव पूरी तरह बीमारी के चपेट में है। इस समय यहां सौ से अधिक बीमार हैं, कई ग्रामीणों की मौत हो चुकी है, कई मौत से जूझ रहे है विभिन्न हॉस्पिटल में भर्ती है।

Monika

Monika

Next Story