×

मथुरा में हाई अलर्ट: कड़ी सुरक्षा में शाही ईदगाह मस्जिद, जानें किस रूट पर पुलिस की पैनी नजर

Mathura Mein High Alert: छह दिसंबर को हिंदूवादी संगठनों द्वारा मथुरा की शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक करने के एलान के बाद पुलिस ने मस्जिद की तरफ जाने वाली एंट्री प्वाइंट की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है।

Nitin Gautam

Report Nitin GautamPublished By Shreya

Published on 5 Dec 2021 6:17 AM GMT

Mathura Mein High Alert: कृष्ण जन्मभूमि गूंजी श्रीराम के नारों से, सुरक्षा में लगी बड़ी सेंध
X

शाही ईदगाह मस्जिद (फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Mathura Mein High Alert: छह दिसंबर को हिंदूवादी संगठनों द्वारा मथुरा की शाही ईदगाह मस्जिद (Shahi Mosque Eidgah) में जलाभिषेक करने के एलान के बाद पुलिस ने मस्जिद की तरफ जाने वाली एंट्री प्वाइंट की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। ताकि किसी भी तरह की अनहोनी होने से रोका जा सके। मथुरा में 6 दिसंबर को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है और किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए पुलिसबलों ने अभ्यास भी किया।

बता दें कि छह दिसंबर को कुछ हिंदूवादी संगठनों के नेताओं की ओर से मथुरा कूच के एलान को देखते हुए प्रशासन तंत्र हाई अलर्ट (High Alert In Mathura) पर है और इसी एलान के मद्देनजर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। हालांकि विभिन्न आयोजनों को जिले में धारा 144 लगने के कारण वापस भले ही ले लिया गया हो। लेकिन प्रशासन कोई भी कोताही बरतना नहीं चाह रहा है। इसी को लेकर मथुरा की पुलिस लाइन (Mathura Police Line) में एंटी बलवा ड्रिल (Anti Rebellion Drill) का आयोजन किया गया।

पुलिस ने किया अभ्यास (फोटो- न्यूजट्रैक)

जिसमें जिला अधिकारी नवनीत चहल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर (Dr. Gaurav Grover) के निर्देशन में पुलिसबलों ने हर आपात स्थिति से निपटने का अभ्यास किया। पुलिस लाइन में दंगा नियंत्रण के लिए टिप्स दिए गए हैं। पुलिस कर्मियों के हथियार चलवाकर उनकी हालात पर नियंत्रण करने की तैयारी परखी गयी है। कुछ संगठनों द्वारा शाही ईदगाह पर जलाभिषेक के एलान को देखते हुए प्रशासन सतर्क है।

मथुरा में बढ़ा तनाव, लागू हुई धारा 144

जाहिर है कि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) के अब मथुरा की बारी है, नारे के बाद हिन्दू वादी संगठनों के एलान को देखते हुए मथुरा में तनाव है। महत्वपूर्ण स्थानों पर पुलिस बल की तैनाती बढ़ा दी गई है। हर संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ की जा रही है। प्रशासन कहीं भी भीड़ नहीं जुटने दे रहा है। शाही ईदगाह -जन्मभूमि पर प्रशासन पैनी नजर बनाये हुए है। डीएम और एसएसपी लगातार पुलिस बलों के साथ गश्त कर रहे हैं। जिला प्रसाशन ने एहतियातन धारा 144 लगा रखी है। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर भी पैनी नजर है।

गौरतलब है कि कृष्ण जन्मभूमि (Krishna Janam Bhumi) मामले में मुख्य याचिकाकर्ता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता ने करुणेश शुक्ला ने पिछले दिनों कहा था कि 6 दिसंबर को देश के अलग-अलग हिस्सों से हजारों की संख्या में साधु-संत मथुरा पहुंचेंगे और लड्डू गोपाल का जलाभिषेक करेंगे। उनका कहना था कि इस्लामिक आक्रमणकारियों ने सदियों पहले कृष्ण मंदिर को क्षति पहुंचाई थी और कृष्ण जी के जन्मस्थान पर मस्जिद का निर्माण करा दिया था।

हिंदू समाज को जागृत करेंगे साधु संत

कारसेवा (Karseva) के जरिये साधु-संत हिंदू समाज को जागृत करेंगे और कृष्ण जन्मभूमि आंदोलन के लिए हिंदू समाज को एकत्र करने का काम करेंगे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्र योगी आदित्यनाथ भी कह चुके हैं कि अगली कारसेवा जब भी होगी तो गोली वर्षा नहीं होगी कारसेवकों पर पुष्पवर्षा होगी।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story