×

Mathura News: मथुरा की नौहझील में किसान नेता राकेश टिकैत, सरकार को जमकर ललकारा

Rakesh Tikait Ka Kendra Sarkar Par Nishana: राकेश टिकैत ने एक किसान सभा को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि लखीमपुर खीरी प्रकरण में जब तक मंत्री की गिरफ्तारी नहीं होती आंदोलन जारी रहेगा।

Nitin Gautam

Nitin GautamReport Nitin GautamShreyaPublished By Shreya

Published on 14 Oct 2021 3:18 AM GMT

Mathura News: मथुरा की नौहझील में किसान नेता राकेश टिकैत, सरकार को जमकर ललकारा
X

किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Rakesh Tikait Ka Kendra Sarkar Par Nishana: किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) से लौटते हुए मथुरा के गांव मिटठौली में काफी देर भारतीय किसान यूनियन (Bharatiya Kisan Union) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रचार मंत्री चौधरी करूआ सिंह (Chaudhary Karua Singh) के निवास पर रुके। इस दौरान उन्होंने गांव में एक किसान सभा (Kisan Sabha) को संबोधित किया। राकेश टिकैत ने अपने भाषण (Rakesh Tikait Ka Bhashan) में केंद्र सरकार (Modi Government) के खिलाफ जमकर मोर्चा खोला और किसानों को बताया कि आंदोलन (Kisan Andolan) तेज रफ्तार व धार से चल रहा है।

राकेश टिकैत ने किसानों से मुलाकात कर उनमें जोश भरते हुए कहा कि देश के हालत खराब हैं। लखीमपुर खीरी प्रकरण (Lakhimpuri Kheri Hinsa) में जब तक मंत्री की गिरफ्तारी नहीं होती आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि देश का गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी (Ajay Kumar Mishra) 120 b का मुलजिम है। किसानों से उन्होंने कहा ट्रैक्टर में धान लेकर आओ, दिल्ली बेचेंगे या पार्लियामेंट में, अच्छे रेट में बिकेगा धान।

राकेश टिकैत (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

कोयले की कमी पर कही ये बात

इस दौरान टिकैत ने कोयले की कमी (Koyle Ki Kami) पर भी सरकार को घेरा और कहा कि कोयले की कमी बता कर अब बिजली प्राइवेट (Electricity Privatization) हाथों में देने की तैयारी है। पुलिस के 13 विभागों का काम प्राइवेट हाथों में सौंप दिया गया है। थाने के बाद, महिला थाना, फिर बिजली थाना, अब सरकार बीज थाना खोलेगी। इन थानों में निजी कंपनी से माल न खरीदने और उनके बीज न बोने पर किसानों के खिलाफ मुकदमा (Kisano Par Mukadma) दर्ज होगा। राकेश टिकैत का ये दौरा (Rakesh Tikait Ka Daura) राजनीतिक माना जा रहा है। गौरतलब है कि 18 अक्टूबर को इसी स्थान पर रालोद नेता जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) की जनसभा होनी है।

राकेश टिकैत ने कहा कि आपका आंदोलन चल रहा है नहीं तो बिजली थाने की तरह एक थाना बीज थाना और खुल जाता, जिसमें आपके खिलाफ मामले दर्ज होते। इसके साथ ही राकेश टिकैत ने वर्तमान में चल रहे कोयले की कमी पर भी सरकार को घेरा ओर कहा कि सरकार अब कोयले की कमी बिजली किल्लत दिखाते हुए उसको भी प्राइवेट हाथों में बेच देगी। पूरे देश को बेचने का काम चल रहा है। अगर लड़ाई निर्णायक अंजाम तक नही पहुँची तो देश बर्बाद हो जाएगा।

नहीं खत्म होगा आंदोलन

उन्होंने कहा कि जब तक सरकार तीनो काले कानूनों (New Farm Laws) को समाप्त नहीं करेगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। MSP पर कहा सिर्फ निजी कंपनी का माल बिकेगा, किसान का नहीं। राकेश टिकैत ने किसानों से आह्वान किया कि 50, 100 ट्रेक्टर धान से भरे हुए ले आओ, वहीं पार्लियामेंट में बेचेंगे, सुना है वहाँ अच्छा रेट मिलता है।

उधर लखीमपुर खीरी मामले पर राकेश टिकेट ने एक बार फिर हुंकार भरी और कहा कि देश का ग्रह मंत्री 120 b का मुलजिम हर ओर जब तक मंत्री गिरफ्तार होकर आगरा जेल में नहीं आएगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

युवाओं से राकेश टिकैत की अपील (Rakesh Tikait Ki Appeal)

किसान नेता राकेश टिकैत ने युवाओं से टैंक, ट्रैक्टर और ट्विटर चलाने की अपील की और कहा कि पूरी दुनिया में ट्रैक्टर से ही हो रहे किसान आंदोलन। किसान आंदोलन का सिंबल बनेगा ट्रैक्टर। No farmers No food का स्लोगन पूरी दुनिया मे लिखा जा रहा है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story