×

दूल्हा नहीं सुना पाया 2 का पहाड़ा, दुल्हन ने शादी से किया इनकार, बेरंग ही लौटी बारात

यूपी के महोबा में एक शादी में जयमाल के दौरान दुल्हन ने दूल्हे की हरकतों को देखकर दो का पहाड़ा पूछ लिया। हैरानी तो तब हुई जब दूल्हा दो का पहाड़ा नहीं सुना सका। इसके बाद क्या हुआ पढ़िए पूरी खबर।

Nitendra Verma

Nitendra VermaWritten By Nitendra VermaDurgesh BahadurPublished By Durgesh Bahadur

Published on 30 July 2021 10:34 AM GMT

Mahoba Marriage News
X

यूपी के महोबा में एक शादी में दूल्हा नहीं सुना पाया 2 का पहाड़ा तो दुल्हन ने शादी से किया इनकार (फोटो साभारः सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

भैया पहाड़ा भले 2 का हो लेकिन हल्के में लेने की गलती बिलकुल न करियेगा। औ खासतौर से वो प्राणी जो शादी के लिए ज्यादा ही भकभका रहे हैं वो तो एकदम्मे तन, मन लगा के देखें ।

पहिले के जमाने में मास्साब खूब पहाड़े रटवाते थे। जो रट लिए उनका भोकाल टाइट और जो रह गए उनके पिछवाड़े टाइट । मास्साब बिना तेल लगाए अपनी जादुई छड़ी से एकदम फ्री मसाज किया करते थे। आज पता चल रहा है कि मास्साब पहाड़े को लेके इतना सीरियस काहे रहा करते थे । भैया ये कम्बख्त पहाड़ा बनी बनायी शादियाँ तोड़ने पे आमादा है।

देखिये ना, यूपी के महोबा में एक दुल्हन ने बारात सिर्फ इसलिए लौटा दी कि दूल्हा दो का पहाड़ा नहीं सुना पाया। बेचारे दूल्हे राजा के मन में तो लड्डू फ़ूट रहे थे कि बेचारी डरी सहमी सी, लजाई सी, चेहरे को घूँघट से छिपाये सजनी स्टेज पे आएगी।

काँपते हाथों से जयमाल आगे बढ़ाएगी। सजनी तो आयी लेकिन आगे जो हुआ उसने दूल्हे राजा के होश उड़ा दिए। एकदम सहम गये, घबरा गए। पसीना गालों के रास्ते थुट्ठी से होते हुए सीधे जूतियां गीली कर गया।

शायद दुल्हन ने दूल्हे के हाव-भाव देख के ही उसके स्टैंडर्ड का तापमान नाप लिया। बस बोल पड़ी कि जयमाल बाद में पहिले दो का पहाड़ा सुनाओ। दूल्हे राजा पहले समझे कि कउनो फिरकी ले रहा है। लेकिन जब दुल्हन अड़ गई तो बेचारे रुआंसे हो गए। आँखों-आँखों में इज्जत बख्शने की गुहार भी लगाई। लेकिन दुल्हन ने पूरी निर्ममता से भरे स्टेज इज्जत नीलाम कर दी। मतलब दूल्हे ने खुद की नाक तो कटवाई ही पूरे दूल्हे बिरादरी को कहीं मुँह दिखाने लायक न छोड़ा।

अईसा नहीं है कि दूल्हे मियाँ को दो का पहाड़ा नहीं आता होगा, लेकिन शायद ये उनके स्टैंडर्ड से मैच न करता हो। अरे 3 का सुन लेती, चार का सुन लेती तब भी तक ठीक था। लेकिन दो का पहाड़ा सुन के हमाये दूल्हे मियाँ की इज्जत मिटटी में मिला दी। बस्स इसीलिए मियाँ गुस्से में आ गए औ नहीं सुनाये।

ये और बात है कि गुस्से में ये आये और शादी से इंकार दुल्हन ने कर दिया। बहुत मान मनौव्वल हुई लेकिन दुल्हन की सुई दो के पहाड़े पे अटकी रही। बेचारी बारात बेरंग ही लौट गई।

Durgesh Bahadur

Durgesh Bahadur

Next Story