Top

जालौन में 11 साल बाद बनकर तैयार हुआ पुल, लोगों के चेहरे पर दिखी खुशी

जालौन में 11 सालों से निर्माणाधीन पुल सदर विधायक के प्रयास से और जिलाधिकारी की मौजूदगी में आवागमन के लिए शुरू हो गया है।

Afsar Haq

Afsar HaqReporter Afsar HaqShreyaPublished By Shreya

Published on 11 May 2021 3:38 PM GMT

जालौन में 11 साल बाद बनकर तैयार हुआ पुल, लोगों के चेहरे पर दिखी खुशी
X

मौके पर जुटे लोग (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जालौन: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जिले जालौन में 11 सालों से निर्माणाधीन पुल आखिरकार सदर विधायक के प्रयास से और जिला अधिकारी की मौजूदगी में आवागमन के लिए चालू कर दिया गया है। 2007 में बीएसपी सरकार (BSP Government) में इस पुल का शिलान्यास किया गया था। 11 से लगातार सरकारों की अपेक्षा के चलते पुल का निर्माण अधर में लटका हुआ था, जिसके चलते बेतवा किनारे बसे गांव वासियों को आगमन के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था।

बता दें कि दो झांसी और जालौन के बीच से निकली बेतवा नदी से बनने वाले पुल का शिलान्यास उत्तर प्रदेश में 2007 में बनी मायावती की सरकार (Mayawati Government) ने किया था। जब तक सरकार रही तब तक उसका निर्माण कार्य चलता रहा लेकिन उसके बाद जब सरकार बदली उसका निर्माण कार्य रुक गया और तभी से पुल का निर्माण अधर में लटका हुआ था।

(फोटो साभार- सोशल मीडिया)

बीजेपी विधायक के प्रयासों के बाद निर्माण में आई तेजी

भारतीय जनता पार्टी की सदर विधायक गौरी शंकर के आर्थिक प्रयास से दोबारा पुल निर्माण के लिए बजट दोबारा से जारी कर के निर्माण कार्य को गति गई दी गई। इसी के चलते जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन एवं सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा ने कोटरा बेतवा पुल का निरीक्षण करते हुए पुल का आवागमन चालू करा दिया है। कोटरा पुल का निर्माण पिछले ग्यारह वर्ष पूर्व 56 करोड़ की लागत से प्रारंभ किया गया था, लेकिन पुल निर्माण कार्य में शिथिल कार्यशैली के चलते पुल निर्माण पूरा होते लगभग 11 वर्ष बीत गये।

वही इन वर्षों में आवागमन के लिए ठेके द्वारा कच्चे पुल का निर्माण होता आ रहा था। पिछले कुछ माह से ठेकेदार कच्चे पुल से निकलने वाले वाहनों से जबरन बसूली कर रहे थे। इस सम्बन्ध में कस्बा के नागरिको ने सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा से शिकायत की थी।

आज सदर विधायक गौरीशंकर वर्मा एवं जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने कोटरा पुल का निरीक्षण करते हुए लोगों की समस्याएं को दृष्टी गत रखते हुए जनता के आवागमन के लिए चालू करा दिया है। वहीं समाजसेवी जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणों ने जिलाधिकारी एवं सदर विधायक का आभार प्रकट किया। इस दौरान नगर पंचायत अध्यक्ष आसाराम अग्रवाल, पूर्व चेयरमैन मूलचंद बिधौलिय गुरु प्रसाद शर्मा, नगर पंचायत अधिकारी प्रदुमन कुमार, उमा बल्लभ सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

Shreya

Shreya

Next Story