Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

छेड़खानी का विरोध करने पर बहन और भाई को कुएं में फेंका, मौत के बाद FIR लिखने में लगे कई घंटे

sujeetkumar

sujeetkumarBy sujeetkumar

Published on 30 March 2017 1:43 PM GMT

छेड़खानी का विरोध करने पर बहन और भाई को कुएं में फेंका, मौत के बाद FIR लिखने में लगे कई घंटे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबाद: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार में महिलाओं की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉयड का गठन किया गया है, लेकिन उनकी इस मुहीम के बावजूद भी शोहदों के हौसले बुलंद है। इलाहाबाद में गुरुवार (30 मार्च) को छेड़खानी का विरोध करने पर शोहदों ने एक स्कूली छात्रा और उसके भाई को कुएं में फेंक दिया। जिससे दोनों की मौत हो गई। मृतक के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने दो युवकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है, लेकिन दोनों शोहदे अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

क्या है मामला?

इलाहबाद के उतराव थाना क्षेत्र के सीतापुर गांव में रहने वाली निशा और उसके भाई राजेश को कुछ मनचलों ने परेशान किया था।

परिजनों के मुताबिक निशा को स्कूल से घर लौटते वक्त दो मनचलों ने छेड़ा था। जिसका विरोध कर वह चिल्लाई थी, बहन की आवाज सुनकर पिछे से उसका भाई राजेश भी आ गया।

बहन को बचने के लिए वह मनचलों से भिड़ गया, लेकिन दोनों की ताकत ने हार मान ली, और मनचलों ने दोनों को पास के कुएं में फेंक दिया, इससे दोनों की मौत हो गई।

वारदात के बाद परिजनों और गांव के लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी।

पुलिस ने पहले तो मृतक के परिजनों की तहरीर लिखने से इनकार कर दिया था, इससे गुस्साए परिजनों ने दोनों की लाश लेने से मना कर दिया।

क्या कहा एसपी क्राइम ने

-एसपी क्राइम प्रकाश स्वरूप पांडे ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर आलोक और राजू के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

-वारदात के बाद से दोनों मनचले मौके से फरार हैं, जिनकी तलाश जारी है।

-पुलिस ने दोनों लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

sujeetkumar

sujeetkumar

Next Story