सेक्स रैकेट में शामिल BJP नेता का भाई, बचाव में आए विधायक जी

प्रदेश की सत्ता में काबिज भाजपा के एक विधायक भाई का नाम सेक्स रैकेट चलाने में सामने आया है। विधायक का कहना है कि उनके भाई का इस मामले से कोई लेना देना नहीं है।

Published by Roshni Khan Published: July 29, 2020 | 6:10 pm
Modified: July 29, 2020 | 6:11 pm

लखनऊ: प्रदेश की सत्ता में काबिज भाजपा के एक विधायक भाई का नाम सेक्स रैकेट चलाने में सामने आया है। विधायक का कहना है कि उनके भाई का इस मामले से कोई लेना देना नहीं है। उनके भाई के बारातघर को किराए पर दिया गया था पर उसका यदि कोई गलत उपयोग करता है तो उसमें उसका कोई दोष नहीं है।

ये भी पढ़ें:पूर्ण लॉकडाउन: पश्चिम बंगाल में अलग-अलग दिन होगा लागू , विपक्ष के निशाने पर ममता

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने बहेड़ी क्षेत्र एक बारात घर में एक सेक्स रैकेट में जब छापा मारा तो मौके से पश्चिम बंगाल की 8 और दिल्ली की रहने वाली एक लड़की को पकड़ा। चार लड़के भी आपत्तिजनक हालत में पकड़े गए।

पुलिस ने बताया कि

पुलिस ने बताया कि पकड़े गए लोगों के पास से आपत्तिजनक सामग्री और उत्तेजक दवाएं भी मिली हैं। इन सभी के खिलाफ थाना बारादरी में देह व्यापार अधिनियम के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि बारात घर बहेड़ी से भाजपा विधायक के भाई चमन लाल गंगवार का है। पकड़ी गई सैक्स रैकेट संचालिका दिल्ली की रहने वलाी हे। इससे पहले भी वह बरेली के फन सिटी में सेक्स रैकेट चलाने के मामले में जेल जा चुकी है। उसके कोलकाता, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिम बंगाल की लड़कियों से उसके संपर्क हैं। वो ग्राहकों को लड़कियों के फोटो सोशल मीडिया के जरिए भेज कर सौदा तय करती थी।

बरेली के पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया

बरेली के पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया कि बुधवार को रुहेलखंड विश्वविद्यालय के पीछे डोरा मोड़ पर वेदा एवेन्यू बैंक्वेट हॉल पर मंगलवार शाम पुलिस टीम ने जब छापा मारा तो यह रैकेट पकड़ा गया। यह बारात घर हाल ही में बनकर तैयार हुआ है। इसमें विभिन्न मांगलिक कार्यक्रमों के आयोजन के साथ-साथ गलत काम के लिए कमरे भी बुक किए जाते हैं। इसमें देह व्यापार करने वाली लड़कियों को रहने के लिए स्थाई रूप से कमरे दिए गए थे जिनका किराया उनके ग्राहकों से वसूला जाता था। इसे लेकर पूरे क्षेत्र में चर्चा हो रही थी।

ये भी पढ़ें:Y- Factor With Yogesh Mishra | राम के काज में शुभ मुहूर्त | Episode 89

किसी की सूचना पर पुलिस ने ये छापामारी की जिसमें पूरे रैकेट का पता चला है। जबकि विधायक ने दावा किया है कि उनके भाई सीबीगंज इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य रह चुके हैं। उन्होंने बताया कि बारात घर को किराए पर दिया गया था। इस मामले से उनका और हमारा कोई लेना देना नहीं है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App