Top

बहनजी देखिए, कैसे सिर फुटौव्वल कर रहे हैं आपके अनुशासित कार्यकर्ता

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 Jun 2016 10:18 PM GMT

बहनजी देखिए, कैसे सिर फुटौव्वल कर रहे हैं आपके अनुशासित कार्यकर्ता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

[nextpage title="next" ]

kau-1 फेंकी जा रही कुर्सियों से बचता एक कार्यकर्ता

कौशांबीः अगले साल होने वाले यूपी विधानसभा चुनावों में जीतकर यूपी की सत्ता पर फिर काबिज होने का ख्वाब संजो रहीं बीएसपी सुप्रीमो मायावती को शायद ये नजारा बिल्कुल अच्छा न लगे। ये नजारा दिखा सिराथू के सैनी कृषि मैदान पर। यहां बीएसपी ने सईदुल रब को पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया है। उनका बीएसपी के ही कई कार्यकर्ता विरोध करने लगे। फिर क्या था, सईदुल के साथियों और उनके विपक्षियों में जमकर कुर्सियां चलीं। कुर्सियां चलीं तो कई के सिर भी फूटे।

आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, क्या है पूरा मामला...

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kau कुर्सी लगने से बीएसपी के इस कार्यकर्ता का सिर फट गया

क्या है मामला?

-यूपी की सिराथू विधानसभा सीट से सईदुल रब को बीएसपी उम्मीदवार घोषित किया गया है।

-सिराथू के सैनी कृषि मैदान में बीएसपी का कार्यकर्ता सम्मेलन था।

-यहां पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मंत्री इंद्रजीत सरोज और एमपी मुनकाद अली भी थे।

-सईदुल हाल ही में बीएसपी में आए हैं, कार्यकर्ता सम्मेलन में वो बोलने आए तो हंगामा खड़ा हो गया।

-कुछ कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया, फिर दोनों पक्षों में आधे घंटे तक कुर्सियां चलती रहीं। इसमें कई लोग चोटिल हुए।

बीएसपी ने सपा पर मढ़ा आरोप

-इंद्रजीत सरोज ने सपा पर सारे हंगामे का आरोप मढ़ दिया।

-उन्होंने कहा कि सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष माजिद अली ने हंगामा करवाया है।

-सईदुल का विरोध करने वाले पार्टी के पुराने किसी नेता को प्रत्याशी बनाने की मांग कर रहे थे।

आगे की स्लाइड्स में देखिए, सिर फुटौव्वल का VIDEO...

[/nextpage]

[nextpage title="NEXT" ]

[/nextpage]

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story