×

मायावती- यह पहला गणतंत्र दिवस जब देश के सामने हिंसा व अव्यवस्था छाई

aman

amanBy aman

Published on 25 Jan 2018 12:24 PM GMT

मायावती- यह पहला गणतंत्र दिवस जब देश के सामने हिंसा व अव्यवस्था छाई
X
मायावती बोलीं- यह पहला गणतंत्र दिवस जब देश के सामने हिंसा व अव्यवस्था छाई
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं। इस मौके पर वो मोदी सरकार की आलोचना करने से भी नहीं चुकीं। उन्होंने कहा, कि 'यह शायद पहला मौका है, जब गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश के सामने इतनी ज़्यादा हिंसा, उग्रता व अव्यवस्था छाई है। यह सभी देशवासियों को चिंतित किए हुए है। इसके लिए कोई और नहीं बल्कि खुद बीजेपी सरकार जिम्मेदार है।'

ये भी कहा बसपा सुप्रीमो ने:

-संविधान आज ही के दिन से देश में लागू हुआ था।

-इसे बचाए रखने की चुनौती सवा सौ करोड़ जनता के सामने।

-यह आंकलन करना जरूरी है कि संविधान के अनुरूप लक्ष्यों को हासिल करने में कितनी सफलता मिली।

-सामाजिक न्याय व आर्थिक समानता के क्षेत्र में देश ने कितना संतोषजनक काम किया है?

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story