Top

बोरवेल में गिरी भैंस, बचाने गए 5 युवकों में से 2 की मौत, 3 घायल

By

Published on 14 July 2016 10:12 AM GMT

बोरवेल में गिरी भैंस, बचाने गए 5 युवकों में से 2 की मौत, 3 घायल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

[nextpage title="next" ]

kanpur इसी बोरवेल में हुआ हादसा

कानपुर: बोरवेल में एक भैंस 25 फीट गहरे गड्ढे में गिर गई। भैंस को बचाने पहुंचे पांच युवक भी गहरे गड्ढे में उतर गए। इसी दौरान बोरवेल की दीवार की मिट्टी दरकने से पांचो युवक गड्ढे में ही दब गए। ग्रामीणों ने किसी तरह से तीन युवकों को तो ज़िंदा निकाल लिया, लेकिन दो लोगो को नहीं निकाला जा सका। जिसके लिए प्रशासन की तरफ से बुधवार रातभर रेस्क्यू जारी रहा और गुरुवार सुबह दो शव निकाले जा सके। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

क्या है मामला ?

-घटना महाराजपुर थाना क्षेत्र के चांदनपुर गांव की है।

-जहां धर्मपाल यादव की भैंस बुधवार को गांव से कुछ दूरी पर बने बोरवेल में गिर गई।

-भैंस को गड्ढे से निकालने के लिए धर्मपाल का बेटा अवधेश(28) अपने भतीजे पुतान (20) के साथ रस्सी के सहारे गड्ढे में उतर गया।

-उसके दोस्त प्रताप, अभिमन्यु और सूरज भी रस्सी लेकर भैंस को खींचने के लिए गड्ढे के ऊपर खड़े हो गए।

-भैंस को निकाल पाने में पांचों युवक असफल हो गए जिसके बाद जेसीबी बुलाई गई।

यह भी पढ़ें ... जलती सिगरेट लेकर पहुंच गए पेट्रोल पंप, VIDEO में देखिए फिर क्या हुआ

मिट्टी दरकने से हुआ हादसा

-जेसीबी ने खुदाई शुरु की तो अचानक मिटटी दरक गई जिससे प्रताप, अभिमन्यु और सूरज भी गड्ढे में गिर गए।

-युवकों के गड्ढे में गिरने की खबर जब ग्रामीणों को मिली तो वह मौके पर पहुंचे।

-देर रात तक प्रताप, अभिमन्यु और सूरज को निकाल लिया गया और तत्काल हॉस्पिटल ले जाया गया ।

-तीनों गंभीर रूप से घायल थे।

-वहीं अवधेश और पुतान को नहीं निकला जा सके।

यह भी पढ़ें ... VIDEO: नशेड़ी दरोगा ने किया हंगामा, गाली-गलौच करने के बाद कीचड़ में गिरा

दो युवकों की दम घुटने से मौत

-ग्रामीणों ने इसकी सूचना महाराजपुर थाने को दी।

-मौके पर पहुंचे पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने अवधेश और पुतान को गड्ढे से निकालने के लिए फिर से खुदाई शुरू करवाई।

-काफी रात हो जाने के कारण दोनों को बाहर नहीं निकाला जा सका।

-गुरुवार सुबह फिर से जेसीबी मशीन से खुदाई करके अवधेश और पुतान को बाहर निकाला गया।

-लेकिन दम घुटने की वजह से उनकी मौत हो चुकी थी।

-कई घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन में जहां भैंस को जिंदा नहीं निकाला जा सका, वहीं भैंस को बचाने के चक्कर में अवधेश और श्याम बाबू को अपनी जान भी गंवानी पड़ी।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज ...

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur फाइल फोटो: मृतक अवधेश

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur मृतक अवधेश की पत्नी

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur फाइल फोटो: मृतक पुतान

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur मृतक पुतान का शोकाकुल परिवार

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur घायल सूरज

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur jcb

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

kanpur

[/nextpage]

Next Story