Top

बुलंदशहर गैंगरेप के मुख्य आरोपी समेत 3 गिरफ्तार, IG ने तोड़ा SC का आदेश

पुलिस के अनुसार पकड़े गए तीनों अपराधियों ने लूट और गैंग रेप में शामिल होना स्वीकार कर लिया है। इनके पास से लूटी गई वस्तुओं के अलावा लूट में प्रयुक्त ऐक्सेल, रिंच और बंदूक बरामद की गई है।

zafar

zafarBy zafar

Published on 9 Aug 2016 7:11 AM GMT

बुलंदशहर गैंगरेप के मुख्य आरोपी समेत 3 गिरफ्तार, IG ने तोड़ा SC का आदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: मेरठ पुलिस ने बुलंदशहर गैंगरेप के मुख्य आरोपी सलीम बावरिया समेत तीन आरोपियों को पकड़ लिया है। आईजी मेरठ रेंज सुजीत पांडे ने ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 8 अगस्त को जब ये अपराधी मवाना से बिजनौर भागने की फिराक में थे तो पुलिस ने इन्हें मेरठ के किठौर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार पकड़े गए तीनों अपराधियों ने लूट और गैंगरेप में शामिल होना स्वीकार कर लिया है। इनके पास से लूटी गई वस्तुओं के अलावा लूट में प्रयुक्त ऐक्सेल, रिंच और बंदूक बरामद की गई है।

आईजी ने उजागर की पीड़ित मां-बेटी की पहचान

-आईजी ने प्रेस काॅन्‍फ्रेंस के दौरान पीड़ित मां-बेटी की पहचान उजागर कर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवहेलना कर दी।

-आईजी ने पीड़ित मां-बेटी के पति और पिता का नाम संवाददाताओं के सामने उजागर कर दिया।

-संवाददाताओं की ओर से जब उनका ध्यान सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश की ओर दिलाया गया कि किसी भी तरह से पीड़िता की पहचान उजागर -नहीं की जाए तो सुजीत पांडे ने कहा कि यह आदेश सिर्फ पीड़िता की पहचान छुपाने का है उनके परिवार का नहीं। लेकिन सवाल ये है कि क्या -पिता का नाम बता देने से पीड़िता की पहचान नहीं होगी।

bulandshahr gang rape-accuse arrest

नियोजित अपराध

-आईजी सुजीत पांडे ने बताया कि इस अपराध में सात लोग शामिल थे। तीनों आरोपियों के नाम सलीम, परवेज और जुबेर हैं। पकड़े गए तीनों आरोपी कन्नौज के हैं।

-इस अपराध की योजना मेरठ में मवाना तहसील के किठोर में बनी थी।

-पूछताछ में अपराधियों ने पुलिस को बताया कि 9 से 22 जुलाई तक इस अपराध की रेकी की गई थी और ये लोग कई बार घटनास्थल का जायजा ले चुके थे।

-आरोपी 27 जुलाई को फिर बुलंदशहरआए थे, इसके बाद इन्होंने अपने फोन बंद कर दिए थे।

भागते फिर रहे थे अपराधी

-29 जुलाई को घटना अंजाम देने के बाद अपराधी अलग अलग दिशाओं में बंट कर फरार हो गए।

-पुलिस के अनुसार इनमें से कुछ लोग बिहार और झारखंड में छिपे हुए थे, जहां से ये फिर 6 अगस्त को किठोर वापस आए।

-8 अगस्त को मुख्य आरोपी सलीम बावरिया और उसके 2 साथी मवाना से बिजनौर भागने की फिराक में थे, तभी पुलिस ने छापा मार कर इन्हें गिरफ्तार कर लिया।

-एसटीएफ को सूचना मिली कि आरोपी सलीम बावरिया पहले किठौर उसके बाद परिक्षितगढ़ और बाद में मवाना में एक साथी के घर रुका हुआ था। वहां से उसकी गिरफ्तरी की गई।

-इनके पास से लूट में प्रयुक्त होने वाले एक्सेल, रिंच, 2 तमंचे, 4 कारतूस, नकदी और लूट के कुछ गहने बरामद किए गए हैं।

bulandshahr gang rape-accuse arrest

2 आरोपियों की रिमांड

-इससे पहले डीजीपी जावीद अहमद ने सोमवार देर रात इन आरोपियों के पकड़े जाने की सूचना ट्वीट करके दी थी।

-इससे पहले पुलिस तीन अन्य आरोपियों को घटना के दो दिन बाद ही गिरफ्तार कर चुकी है।

-इनमें से 2 आरोपियों शाहवेज और जबर सिंह को पुलिस ने सोमवार को फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने इन्हें तीन दिन की पुलिस रिमांड पर दे दिया है।

-पीड़िता के पिता ने कहा कि उन्हें पीड़ा और गुस्सा है, लेकिन अराधियों को कानून मार देगा। कानून पर विश्वास है और उन्हें सख्त सजा मिलनी चाहिए।

-आईजी ने कहा कि एनच-24, 94 और 91 की पैट्रोलिंग को बढ़ाया जाएगा। यहां पुलिस की गश्त भी बढ़ाई जाएगी। ताकि भविष्य में ऐसी घटना न हो।

zafar

zafar

Next Story