×

Bundelkhand Expressway Route: आपके शहर से कनेक्ट बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, यूपी से दिल्ली जाना हुआ आसान

Bundelkhand Expressway Route: बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे कई मायनों में प्रदेश के अन्य एक्सप्रेस – वे के मुकाबले काफी अहमियत रखता है। क्योंकि यह देश के सबसे पिछड़े इलाकों में से एक माने जाने वाले बुंदेलखंड से गुजर रहा है।

Krishna Chaudhary
Updated on: 2022-07-08T00:57:03+05:30
Bundelkhand Expressway Route
X

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

Bundelkhand Expressway Route: उत्तर प्रदेश भले अभी गरीबी और औद्योगीकरण जैसे तमाम अन्य विकास के सूचकांकों में देश के विकसित राज्यों से काफी पीछे है, लेकिन एक मामले में इस प्रदेश ने उन सभी प्रदेशों को पीछे छोड़ दिया है। उत्तर प्रदेश जल्द देश का ऐसा पहला राज्य होगा जहां एक नहीं दो नहीं बल्कि पांच एक्सप्रेस वे होंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के रूप में प्रदेश को चौथे एक्सप्रेस वे की सौगात 12 जुलाई को मिलने वाली है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका आधिकारिक उद्घाटन करेंगे। जबकि गंगा एक्सप्रेस – वे, जो कि प्रदेश का पांचवा एक्सप्रेस – वे होगा, उसपर युद्धस्तर पर काम चल रहा है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे कई मायनों में प्रदेश के अन्य एक्सप्रेस – वे के मुकाबले काफी अहमियत रखता है। क्योंकि यह देश के सबसे पिछड़े इलाकों में से एक माने जाने वाले बुंदेलखंड से गुजर रहा है। इसके बनने के बाद बुंदेलखंड और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की दूरी काफी कम हो जाएगी। मात्र 6 घंटे में चित्रकूट से दिल्ली तक का सफर तय किया जा सकेगा। ऐसे में दिल्ली समेत प्रदेश के अन्य बड़े शहरों से बेहतर कनेक्टिविटी स्थापित होने के बाद इस पिछड़े इलाके में विकास के नए द्वार खुलेंगे। तो आइए एक नजर योगी सरकार के इस महत्वाकांक्षी इंफ्रास्ट्रकचर प्रोजेक्ट (बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे) पर डालते हैं।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की खबर (Bundelkhand Expressway News)

14849 करोड़ की लागत से बने बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 फरवरी 2020 को चित्रकूट जिले के भरतकूप में किया था। करीब 27 माह बाद बनकर यह तैयार है। पीएम मोदी 12 जुलाई को जालौन जिले के कैठारी गांव में इसका उद्घाटन करेंगे। यह एक ग्रीनफिल्ड एक्सप्रेस वे है जो चित्रकूट जिले में भरतकूप से शुरू होकर इटावा जिले के कुदरैल गांव के पास आगरा – लखनऊ एक्सप्रेस वे के साथ मिल जाता है। इसमें चार रेलवे ओवर ब्रिज, 14 बड़े पुल, 266 छोटे पुल, 18 फ्लाईओवर, छह टोल प्लाजा और 7 रैंप प्लाजा हैं।

इन जिलों से होकर गुजरेगा बुंदेलखंड एक्सप्रसे वे

बुंदेलखंड एक्सप्रसे वे यूपी के सात जिलों से गुजरेगा। यह चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, ओरैया और इटावा से गुजरेगा। यह एक्सप्रसे वे अभी चार लेन का है, भविष्य में इसे छह लेन तक विस्तारित करने की योजना है। इस एक्सप्रसे वे पर छह जगहों पर पेट्रोल पंप होंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रसे वे बागेन, केन, श्यामा, चन्दावल, बिरमा, यमुना, बेतवां और सेंगर नदियों के ऊपर से गुजरेगा।

भविष्य में सभी एक्सप्रसे वे आपस में जुड़ेंगे

बुंदेलखंड एक्सप्रसे वे का जुड़ाव यमुना एक्सप्रेस वे और पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से होगा। भविष्य में गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे, प्रयागराज एक्सप्रेस वे के पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से जुड़ने पर पूरे प्रदेश में एक्सप्रेस-वे से सफर आसान हो जाएगा और यूपी का एक बड़ा हिस्सा एक्सप्रेस वे से जुड़ जाएगा।

Admin 2

Admin 2

Next Story