×

Jalaun News : मुर्दे के नाम पर लिखी गई FIR, फिर हुआ ये बड़ा खुलासा

Jalaun News : जालौन में एक ऐसा हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर पुलिस ने एक मुर्दे पर एफआईआर दर्ज कर दी।

Afsar Haq

Afsar HaqReport Afsar HaqVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 6 Sep 2021 11:52 AM GMT

criminals
X

युवक

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Jalaun News : ये यूपी है साहब! यहां "पुलिस के डंडे के आगे मुर्दे भी बोलते हैं" यह कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी। वहीं जालौन में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जिसमें जालौन पुलिस ने इस कहावत को दोहराया हैं। जी हां सुनने में शायद थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन जालौन के उरई कोतवाल के आगे स्वर्गलोक से उतरकर अपराधी अपने जुर्म की गवाही देते हैं।

दरअसल पूरा मामला जालौन जिले के शहर कोतवाली उरई का है। जहां पर पुलिस ने एक मुर्दे पर एफआईआर दर्ज कर दी। जबकि एफआईआर में नाम दर्ज युवक ने 24 घंटे पहले ही फांसी लगाकर अपनी जान दी थी।

मारपीट और धोखाधड़ी का मामला दर्ज

कोतवाली उरई ने मृत युवक पर मारपीट और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। मामले की सूचना उच्चाधिकारियों को लगी तो पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और पुलिस अधीक्षक ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

बता दे कि उरई कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला राजेंद्र नगर में शनिवार की रात को सागर गुप्ता नाम के एक युवक ने फांसी लगा ली। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। युवक फांसी लगाकर आत्महत्या कर चुका था।

लेकिन पुलिस अधीक्षक के मुताबिक उसकी पत्नी की तहरीर पर मारपीट व धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है। जबकि परिजनों का कहना है कि सागर का पूजा के साथ प्रेम विवाह था।


ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या जालौन पुलिस मामले की जांच किए बगैर ही मुर्दे के खिलाफ मुकदमा लिख देती है। जांच के डर से कोतवाल विनोद पांडेय और चौकी इंचार्ज रात के अंधेरे में मृतक के परिजनों के घर पहुंचे और जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। वीडियो में वो मामले को निपटाने की गुजारिश करते नजर आएं।

वहीं पुलिस अधीक्षक जालौन रवि कुमार का कहना है महिला ने एक प्रार्थना दिया था। जिसमें उसने आरोप लगाया था कि एक युवक उसे परेशान करता है और उससे रुपये की मांग करता है। मामला 4 सितंबर को एफआईआर को पंजीकृत किया गया था लेकिन एफआईआर स्पंज कर दी गई हैं। फिलहाल कोतवाली उरई के इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया है और मामले की जांच अपर पुलिस अधीक्षक कर रहे हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story