Top

Jhansi Crime News: झांसी में रेप के केस का कारोबार, खुलासे से हो जाएंगे हैरान

महिला अपने प्रेंम प्रसंग में लोगों को फंसाती है और जब व्यक्ति पैसा देने से मना कर देता है तो रेप का केस कर देती है।

B.K Kushwaha

B.K KushwahaReport B.K KushwahaDeepakPublished By Deepak

Published on 19 July 2021 2:54 PM GMT

Symbolic image
X

प्रतीकात्मक तस्वीर सोशल मीडिया से ली गई है

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Jhansi News: जिले में रेप के केस का भी धंधा होता है। शातिर लोग व फितूरी महिलाएं मिल कर इसे धंधे की स्क्रिप्ट तैयार करती हैं। तैयार कहानी काफी दिलचस्प व भयभीत करने वाली है। माया जाल में युवकों को फंसा कर महिलाएं व युवतियां अपने बस में करती हैं। चाहत में बेबस युवक या पुरुष इशारों पर नाचना शुरु कर देते हैं। बस इसी का लाभ उठा कर वह बुला लेती हैं। बुलाने के बाद होटल या कमरे में ले जाती हैं। फिर रुपयों की डिमांड शुरु कर देती हैं। दांव पर लगी आबरु को बचाने के लिए कुछ तो रुपये दे देते हैं, जो नहीं देते उनके खिलाफ थानों में रेप की तहरीर दे देती हैं। इन सात महीनों में आधा दर्जन से अधिक ऐसे केस सामने आ चुके हैं। कुछ के तो तुरंत तो कइयों के विवेचना में चेहरे बेनकाब हुए।

यहां पोल खोलते हैं आंकड़े


प्रतीकात्मक तस्वीर सोशल मीडिया से ली गई है

थानों में दर्ज मुकदमों की विवेचना की स्थिति कुछ ऐसे ही हालत बयां कर रहे हैं। इसकी हकीकत से रुबरु होने के लिए दर्ज रेप केस की फाइलों पर गौर करना होगा। इन सात महीनों में जिले के विभिन्न थानों में रेप के करीब 32 मुकदमें लिखे गए हैं। इन मुकदमों की विवेचना में जुटी पुलिस साक्ष्य व सुबूत की तलाश में भटक रही है। दर्ज तीन मुकदमें ऐसे हैं जो जांच में झूठे पाए गए। ऐसी स्थिति में इन मुकदमों को खारिज कर दिया गया। इसी तरह छह केस में लगाए गए रेप के आरोप के साक्ष्य ही नहीं मिल रहे। खुद वादी तक साक्ष्य देने में असमर्थ दिखाई दे रहा है। ऐसे केस पुलिस के लिए टाइम किलर तो हैं ही परेशानी के सबब भी हैं।

केस -1

देहात थाना क्षेत्र में एक युवती फेसबुक के जरिए लखनऊ के युवक से मोहब्बत की। ऑनलाइन बातचीत का सिलसिला कॉलिंग तक पहुंच गया। युवती के इशारे पर वह लखनऊ से भागता हुआ झाँसी के देहात आ पहुंचा। यहां एक होटल में दोनों की मुलाकात हुई। इसके बाद न जाने क्या हुआ कि युवती ने थाने में उसके खिलाफ तहरीर दे दी। माना जा रहा है कि उसने रुपयों की डिमांड पूरी नहीं की।

केस-2

सिटी सर्किल की एक थाना पुलिस ने दतिया की एक महिला को दबोचा था। वह कोतवाली थाना क्षेत्र में एक घर में दो युवकों के साथ मिली थी। उसके साथ एक महिला और थी जिसे वह रुपये कमाने का झाँसा देकर लाई थी। पकड़े जाने के बाद युवकों पर रेप का आरोप लगाने लगी। पूछताछ व छानबीन में हैरान करने वाला तथ्य सामने आया। पुलिस को मालूम चला था कि अपने जाल में फंसाकर वह हम बिस्तर होती थी। फिर रुपयों की डिमांड पूरी न होने पर रेप का केस लिखवा देती थी।

केस-3

चिरगांव थाना क्षेत्र में रहने वाली एक युवती का मामला सामने आया था। युवती की दोस्ती जेलर के साथ हुई थी। वह जेलर के साथ कईयों बार ओरछा के होटलों में देखी गई है। दोनों में जमकर प्रेम प्रसंग चलता रहा। बाद में जेलर ने पैसा देना बंद कर दिया था उसके खिलाफ एक थाने में बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवा दिया। मुकदमा दर्ज होने के बाद युवती की डिमांड पूरी हुई तो मामला रफा दफा कर दिया गया।

Deepak

Deepak

Next Story